कभी गढ़ था बंगाल की सत्ता का, आज ‘गंदगी’ का गवाह बना

सोनू ओझा

‘धूमिल’ हो चुके राइटर्स के बाहर लगा कचरे का अंबार
हेरिटज राइटर्स बिल्डिंग का सालों से किया जा रहा जीर्णोद्धार
कोलकाता : एक वह दौर था जब कोलकाता की पहचान राइटर्स बिल्डिंग के लाल रंग की लालिमा पूरे लालदीघी को अपनी ओर आकर्षित करती थी, एक यह दौर है जहां इसी हेरिटेज राइटर्स बिल्डिंग के आसपास गंदगी का अंबार लगा हुआ है। बंगाल की सत्ता का गढ़ की पहचान बना चुका राइटर्स आज गंदगी का गवाह बना हुआ है। 2011 में राज्य की पहली महिला मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सरकार की कमान संभालने के साथ ही इस हेरिटेज राइटर्स बिल्डिंग का कायापलट करने की कवायद शुरू की जो बंगाल के प्रशासनिक इतिहास में एक ऐतिहासिक चैप्टर माना जाता है। इसी के तहत राइटर्स बिल्डिंग का जीर्णोद्धार किया जा रहा है जो कब तक चलेगा इस पर फिलहाल संशय बरकरार है।पीडब्ल्यूडी विभाग के संबंधित अधिकारी ने बताया कि इसके जीर्णोद्धार का कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जा रहा है, यह पूरा कब तक होगा, यह बताने में वह असमर्थ रहे।
भीतर सुनसान – बाहर कचरे का अंबार
मौजूदा समय में राइटर्स बिल्डिंग का जीर्णोद्धार किया जा रहा है जिसकी वजह से उसके कई ब्लॉक बंद हैं। कानून, शहरी विकास व नगर निगम विभाग समेत कुछ विभाग का कार्यालय राइटर्स में है जहां कुछ कर्मचारी काम करते हैं। वहीं बाहर की बात करें तो राइटर्स की गैलरी जो पैदल चलने के लिए बनायी गयी थी वहां आज कचरे का अंबार लगा हुआ है। स्थिति देखकर साफ लगता है कि यहां कई दिनों से न झाड़ू लगाया गया है न कचरा उठाया गया है।
6 दशक तक राइटर्स की शान बनी सीएम की कुर्सी
बंगाल के इतिहास के पन्ने पलटें तो करीब 6 दशक तक यहां मुख्यमंत्री की कुर्सी पर काबिज अलग-अलग राजनीतिक दलों के सीएम ने बंगाल की सत्ता पर हुकूमत किया। राइटर्स की साख हमेशा से ही राज्य के लिए सम्मान की बात रही है लेकिन इन दिनों राइटर्स वीरान है, सूना है।
एक नजर में राइटर्स बिल्डिंग
राइटर्स बिल्डिंग 10 एकड़ और 150 मीटर लंबाई में फैली हुई है। साल 1777 में थॉमस लियोन द्वारा ईआईसी और समायोजित क्लर्कों के लिए इसे डिजाइन किया गया था। राइटर्स बिल्डिंग बंगाल में हुए आंदोलनों का गवाह रहा है। आजादी के बाद 1947 से यह पश्चिम बंगाल सरकार का राज्य सचिवालय रहा है। अभी राज्य सचिवालय हावड़ा के नवान्न में है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तारातल्ला में कार की टक्कर लगने से सिविक वाॅलंटियर की मौत

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : तारातल्ला थानांतर्गत तारातल्ला क्रासिंग पर एक तेज रफ्तार कार की टक्कर लगने से एक ऑन ड्यूटी सिविक वाॅलंटियर की मौत हो गई। आगे पढ़ें »

हाबरा थाने के सामने ही चाकू से हमला

बारासात : बारासात अंचल के हाबरा थाने के सामने ही बुधवार को एक चाय विक्रेता व फल विक्रेता को आपस में झगड़ते देखा गया। पहले आगे पढ़ें »

ऊपर