वोडाफोन का नेटवर्क हुआ ठप, फुटबॉल मैच देखने में आयी रुकावट

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : वोडाफोन-आइडिया की इंटरनेट परिसेवा मंगलवार को कोलकाता में ठप पड़ जाने के कारण फुटबॉल मैच देखने में लोगों को रुकावटों का सामना करना पड़ा। मंगलवार को दोपहर से ही ग्राहकों कोे कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। ऐसे में लोगों ने कई बार कस्टमर केयर में शिकायत भी की। वहीं कंपनी की ओर से बताया गया कि नेट परिसेवा शाम तक ठीक कर दी गयी थी। वोडाफोन की नेटवर्क परिसेवा पिछले कुछ समय से ही काफी खराब चल रही है। इस दिन एक समय में नेटवर्क पूरी तरह गायब हो गया था और इंटरनेट भी ठप पड़ चुका था। इस कारण लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ा।
मेसी के फैंस हुए परेशान और निराश
मंगलवार को अपराह्न 3.30 बजे से अर्जेंटिना और सौदी अरब के बीच फुटबॉल मैच भी था। हालांकि नेटवर्क काफी देर तक ठप रहने के कारण मोबाइल पर मैच देखने में लोगों को काफी बाधाओं का सामना करना पड़ा। मेसी का जादू नहीं देख पाने के कारण काफी ग्राहक क्षुब्ध दिखायी दिये। वहीं मेसी की हार के कारण कोलकाता में मेसी फैंस को काफी निराशा हाथ लगी। अर्जेंटिना की हार के कारण इस दिन कोलकाता में मेसी के फैंस काफी निराश हुए।
सोमवार की रात से थी नेटवर्क में गड़बड़ी
जानकारी के अनुसार, सोमवार की रात से ही वोडाफोन-आइडिया का नेटवर्क ठीक से काम नहीं कर रहा था। कई ग्राहकों ने बताया कि उनके मोबाइल पर सिम ही दिखायी नहीं दे रहा था। इसे लेकर कई बार शिकायत करने के बावजूद कुछ नहीं हुआ। बाद में बताया गया ​कि नेटवर्क की मरम्मत का काम चल रहा है। बीच-बीच में कुछ इलाकों में परिसेवा चालू होने पर भी कोई लाभ नहीं हुआ और फिर नेटवर्क चला गया। इससे पहले गत अक्टूबर महीने में भी वोडाफोन-आइडिया नेटवर्क की समस्या कोलकाता में देखी गयी थी। लगभग चार घण्टे तक इस कारण परिसेवा बंद थी। कॉल ड्रॉप की समस्या तो जैसे आम बात हो गयी है।

Visited 54 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

वर्क आउट के दौरान नो लाउड म्यूजिक

एक्सरसाइज करते समय ज्यादातर यंगस्टर्स लाउड म्यूजिक सुनना पसंद करते हैं। पार्क हो या जिम सेंटर, दोनों जगह पर म्यूजिक के साथ वर्क आउट एंज्वॉय आगे पढ़ें »

सोमवार को विधि-विधान से करें भगवान शिव की पूजा, 4 बातों का रखे …

कोलकाता : हिंदू धर्म में भगवान शिव की पूजा का बहुत महत्व है। शास्त्रों के अनुसार, भगवान शिव जितने भोले हैं, उतने ही गुस्‍से वाले आगे पढ़ें »

ऊपर