सर्दियों के आगमन के साथ सब्जियों की कीमतों में आई गिरावट

कोलकाता: अक्सर मंडियों में सब्जियों की खरीदारी करते समय हम तोल-मोल करते हैं पर अब सर्दियों के आगमन के साथ ही ग्राहकों को इस तोल-मोल से कुछ हद तक राहत मिलेगी। सब्जियों की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोतरी के बाद अब गिरावट देखी जा रही है। वहीं राज्य के अलग-अलग क्षेत्रों के हिसाब से भी सब्जियों की कीमतों में कुछ अंतर है।
ट्रांसपाेर्ट एग्रीकलचरल मार्केटिंग (पश्चिम बंगाल सरकार)के सदस्य कमल दे ने सन्मार्ग को बताया कि दुर्गा पूजा के समय सब्जियों की कीमतों में उछाल दर्ज की गई थी, जिस कारण ग्राहकों की जेब पर खूब असर पड़ा है। अब बात करें कीमतों में गिरावट की तो इस वर्ष सब्जियों का बहुत अ​धिक उत्पादन हुआ है। सितरांग चक्रवात के बावजूद सब्जियों का उत्पादन बहुत अच्छा रहा। सर्दियों में जो सब्जियां नवंबर के माह में आती थीं वह एक माह पहले यानी अक्टूबर माह में ही बाजारों में आ गई हैं। परवल अक्टूबर माह तक बाजारों से खत्म हो जाता था वहीं अधिक उत्पादन के कारण अब भी बाजारों में बिक रहा है।
इन सब्जियों के घटे दाम – भिंडी, शिमला मिर्च, बीन्स, टमाटर, परवल, फूल गोभी, पत्ता गोभी, बरबटी जैसी सब्जियों की कीमतों में गिरावट दर्ज की गई है।
इसी मुद्दे पर अधिक जानकारी प्रप्त करने के लिए सन्मार्ग की टीम ने बड़ाबाजार की मछुआ सब्जी मंडी में पहुंचकर सब्जी विक्रेताओं से बातचीत की। मछुआ के सब्जी विक्रेता एस.के. इरफान खान ने कहा कि सब्जियों की कीमतों में गिरावट तो आई है, लेकिन देखा जाए तो कीमतों में उछाल व गिरावट का सिलसिला चलता ही रहता है। सब्जियों की कीमत बताते हुए विक्रेता ने कहा कि-
पहले परवल की कीमत 40 रु. थी जो अब घटकर 30 रु. हो गई है।
पहले हरी शिमला मिर्च की कीमत 120 रु. थी जो अब घटकर 100 रु. हो गई है।
पहले टमाटर की कीमत 80 रु. थी जो अब घटकर 60 रु. हो गई है।
पहले बीन्स की कीमत 100 रु. थी जो अब घटकर 60 रु. हो गई है।
पहले पत्ता गोभी की कीमत 40 रु. (प्रति पीस) थी जो अब घटकर 30 रु. (प्रति पीस) हो गई है।
पहले फूल गोभी की कीमत 40 रु. (प्रति पीस) थी जो अब घटकर 30 रु. (प्रति पीस) हो गई है।
पहले भिंडी की कीमत 40 रु. थी जो अब घटकर 35 रु. हो गई है।
जो लोग सब्जियों की खरीदारी करते हैं उन्हें पता होगा कि आलू भी अनेक प्रकार के होते है। ऐसे में पोखराज आलू बेच रहे विक्रेता धर्म नाथ ने कहा कि पहले पोखराज आलू की कीमत 24 रु. थी, वहीं आज इसकी कीमत घटकर 20 रु. हो गई है। विक्रेता किशोरी साव ने कहा कि पहले 28 रु. में बिकने वाले ज्योति आलू की कीमत घटकर 26 रु. प्रति किलो हो गई है।
क्या कहना है ग्राहकों का
मछुआ स​ब्जी मंडी में खरीदारी करने आई महिला ग्राहक रेखा सिंह ने कहा कि मछुआ मेरे घर के सामने ही पड़ता है इसलिए मैं रोजाना सब्जी की खरीदारी करती हूं। सब्जियों की कीमतों में गिरावट को देखकर मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा है। सब्जी तो हर घर की दैनिक जरूरतों में से एक है, तो महंगी हो या सस्ती हमें खरीदना ही पड़ता है। ग्राहक इन्दु सिंह ने कहा कि मुझे रोजाना सब्जियां व फल खरीदना पसंद है। बात करें कीमतों में गिरावट की तो मुझे खशी है कि सरकार ने यह कदम उठाकर आम जनता को थोड़ी सी राहत दी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर