वंदे भारत : एक घटना बंगाल तो दूसरी घटना बिहार से

सन्मार्ग संवाददाता
सिलीगुड़ी : उद्घाटन के दिन के कुछ दिनों के अंदर ही लगातार दो बार वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव की घटना को लेकर ट्रेन की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है। इधर, रेलवे प्रबंधन की ओर से बताया गया कि पथराव की दो घटनाओं में से एक घटना बिहार की है। इस घटना में बिहार पुलिस के साथ मिलकर आरपीएफ ने कदम उठाया है जिसके बाद राज्य सरकार व रेल पुलिस को भी थोड़ी राहत मिली है। बताया गया कि गत 3 जनवरी को पथराव की घटना बिहार के माशुरजान व धूलाबाड़ी के बीच घटी। इस घटना को लेकर बिहार के पोर्टिया थाना की ओर से भी कदम उठाया गया है। आरपीएफ के डीआईजी ने घटनास्थल का परिदर्शन किया और घटना में शामिल रहने के आरोप में दो नाबालिगों को इस बीच चिह्नित किया गया है।
बिहार से किया गया ट्रेन पर पथराव : सीपीआरओ
हमले के बाद पूर्व रेलवे की ओर से गुरुवार को एक सीसीटीवी फुटेज जारी किया गया। इसमें देखा जा रहा है कि बिहार की ओर से लोग चलती ट्रेन में पत्थर फेंक रहे हैं। इस बारे में रेलवे के सीपीआरओ एकलव्य चक्रवर्ती ने कहा कि पत्थर बंगाल के लोगों ने नहीं बल्कि बिहार के लोगों ने फेंका है और बंगाल के लोगों को बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। इस दौरान अभियुक्तों की पहचान की गई है और उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इधर, पहली घटना मालदह के कुमारगंज में होने के कारण इस घटना की जांच की जिम्मेदारी रेल पुलिस लेना चाहती है। इसके अलावा किसी तरह का जोखिम उठाये बगैर आरपीएफ के साथ मिलकर जीआरपी भी वंदे भारत एक्सप्रेस की सुरक्षा कर रही है। ट्रेन की सुरक्षा में आरपीएफ के 9 कर्मचारियों के अलावा रेल पुलिस के भी 7 कर्मी तैनात रहेंगे। अब वंदे भारत की सुरक्षा में एक ऑफिसर समेत 7 कांस्टेबलों की भी तैनाती रहेगी। न्यू जलपाईगुड़ी रेल स्टेशन से मालदह तक ट्रेन की सुरक्षा में रेल पुलिस कर्मी तैनात रहेंगे।
जीआरपी के एसपी पहुंचे स्टेशन, किया निरीक्षण
गुरुवार को न्यू जलपाईगुड़ी रेल स्टेशन पर वंदे भारत की सुरक्षा की जांच रेल पुलिस के सुपर एस. सेल्वामुरुगन ने की। इस दौरान यात्रियों ने पथराव की घटना में शामिल अभियुक्तों के खिलाफ जांच की मांग की। पुलिस सुपर (जीआरपी) एस. सेल्वामुरुगन ने कहा, ‘कुमारगंज की घटना की हम जांच करेंगे। इस बीच, आरपीएफ से मामला स्थानांतरण करने की अपील की गयी है। दूसरी घटना बिहार की है, वह हमारे अधीन नहीं है। हालांकि हम कोई जोखिम नहीं उठाना चाहते। आरपीएफ के साथ जीआरपी भी सुरक्षा में रहेगी।’
यह कहा यात्रियों ने
कोलकाता से वंदे भारत ट्रेन में आने वाले यात्री संदीपन भट्टाचार्य ने कहा, ‘काफी निंदनीय घटना है। यह ट्रेन हमारे रुपये से ही तैयार हुई है, यह आम लोगों की संपत्ति है। इस तरह पथराव कर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाना कतई उचित नहीं है।’ एक और यात्री कृष्णा घोष ने कहा, ‘बाहर से पथराव करने पर आरपीएफ क्या कर सकती है। हालांकि सुरक्षा बढ़ाने का निर्णय सही है। इससे अधिक जरूरी है कि आम लोग जागरूक हों।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

चीन सीमा पर हालात फिलहाल स्थिर मगर कभी भी कुछ हो सकता है : पूर्वी कमान प्रमुख

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : अरुणाचल प्रदेश के तवांग में पिछले साल दिसंबर महीने में भारत-चीन के सैनिकों के बीच हुई झड़प के बाद वर्तमान स्थिति के आगे पढ़ें »

झड़ते बालों ने कर दिया है जीना दुश्वार, आजमाएं ये कारगर देसी नुस्खे

कोलकाता : बाल आपकी खूबसूरती में चार-चांद लगाते हैं लेकिन आज की लाइफस्टाइल, खान-पान और प्रदूषण के चलते बालों का झड़ना एक आम समस्या बन आगे पढ़ें »

ऊपर