राज्य में हो रही केंद्र सरकार के कर्मी व प्रवासी श्रमिकों की खोज

  • पहली डोज लेने के बाद अन्य जगहों पर ली कईयों ने सेकेंड डोज कोलकाताः
  • बंगाल में बढ़े गैप को कम करने में जुटा स्वास्थ्य विभाग

सन्मार्ग संवाददाता

कोलकाताः राज्य का स्वास्थ्य विभाग इन दिनों केंद्रीय सरकार के कर्मी व प्रवासी श्रमिकों की खोज में जुटा हुआ है। दरअसल कोविड महामारी में वैक्सीनेशन एक बड़ा हथियार है। देखा जा रहा है कि कोविड के पहले डोज के बाद काफी लोगों ने सेकेंड डोज नहीं ली है। ऐसे में एक बड़ा अंतर नजर आ रहा है। इसे दूर करने के उद्देश्य से ही स्वास्थ्य विभाग जांच कर रहा है कि सेकेंड डोज किन्होंने नहीं ली है, या फिर किस जगह ली है, ताकि आंकड़े स्पष्ट हो सकें।
राज्य के स्वास्थ्य सेवा निदेशक (डीएचएस) डॉ. अजय चक्रवर्ती ने कहा कि हमारे विश्लेषण से पता चलता है कि यहां हमारी पहली खुराक लेने वाले केंद्रीय सेना के कई जवान अपने गृह राज्यों में लौट गए हैं। इसलिए उन्हें अब नहीं दिखाया जा सकता है। यहां से कई प्रवासी श्रमिक पहली खुराक लेकर दूसरे राज्यों में चले गए हैं। वह संख्या भी है। साथ ही इंटरमीडिएट स्टेज के कोविड संक्रमण के कारण कुछ लोगों को वैक्सीन बाद में मिलेगी। हम उन लोगों को प्रेरित करने और टीकाकरण करने की कोशिश कर रहे हैं जो अभी भी बकाया हैं।
घर-घर जा रहे स्वास्थ्यकर्मी
डीएचएस ने कहा कि इसलिए हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ता और आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर जानकारी जुटा रहे हैं और जिन्होंने सेेकेंड डोज नहीं ली है, उन्हें टीका लगवाने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। पश्चिम बंगाल में कुल जनसंख्या 10 करोड़ है। अनुमानित 7 करोड़ लोग 18 वर्ष से अधिक आयु के हैं। पहली डोज अब तक 6 करोड़ 28 लाख को लग चुकी है। इसका मतलब है कि पहले टीकाकरण के साथ 70 से 75 लाख लोग बचे हैं। हालांकि उनमें से कई राज्य में नहीं रहते हैं। कई प्रवासी श्रमिक हैं और कई बाहर रहते हैं। इसलिए हम मतदाता सूची की तुलना करके देख रहे हैं कि वैक्सीनेशन से कितने बचे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सप्तमी पर महानगर में ट्रैफिक व्यवस्था हुई प्रभावित

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महासप्तमी के अवसर पर रविवार को महानगर की सड़कों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। पूजा पंडाल घूमने के लिए लोगों की आगे पढ़ें »

पार्थ के खिलाफ दाखिल चार्जशीट का तकनीकी रोड़ा

अभी इंतजार है राज्य सरकार की अनुमति का सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : टीचर नियुक्ति घोटाले में सीबीआई की तरफ से पहली चार्जशीट अलीपुर के सीबीआई कोर्ट में आगे पढ़ें »

ऊपर