तृणमूल ने शुरू की 21 जुलाई की तैयारी, उत्तर बंगाल पर होगा फोकस

दूसरे राज्यों के पार्टी प्रतिनिधियों की होगी उपस्थि​ति
आज से बूथ स्तर पर होगा शहीद दिवस का प्रचार
21 जुलाई को लिखी जाएगी 24 की लोकसभा की पटकथा
सोनू ओझा
कोलकाता : 21 जुलाई की शहीद रैली के लिए ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस की ओर से तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। शुक्रवार को रैली की तैयारियों को लेकर बैठक की गयी। तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बंद्योपाध्याय की अध्यक्षता में की गयी इस बैठक में निर्णय लिया गया कि इस साल राज्य के साथ ही बाकी राज्यों में प्रसार कर चुकी तृणमूल ईकाई के प्रतिनिधि शामिल होंगे। बैठक के बाद पार्थ चटर्जी ने बताया कि इस बार की महारैली ऐतिहासिक होगी जो हर बार के रिकॉर्ड को तोड़ेगी। उन्होंने बताया कि कोरोना की वजह से पिछले दो साल से शहीद रैली का आयोजन बड़े पैमाने पर नहीं हो पाया है। वर्चुअली पद्धति से ममता बनर्जी और अभिषेक ने इस रैली में भाषण दिया जिसे हर किसी ने सुना भी। इस बार कोशिश होगी कि राज्यभर से पार्टी कार्यकर्ताओं को महारैली में आने का मौका दिया जाएगा।
उत्तर बंगाल व जंगलमहल पर अधिक फोकस
पार्टी के प्रवक्ता और राज्यसभा के सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने बताया कि पार्टी का फोकस इस बार की महारैली में उत्तर बंगाल पर है। चुनाव परिणाम में देखें तो दक्षिण बंगाल का रिजल्ट हमेशा बेहतर आता रहा है लेकिन उत्तर बंगाल में चुनावी परिणाम ने तृणमूल को पीछे ही रखा है। हालांकि की पार्टी की जनप्रियता वहां बढ़ रही है। इसलिए उत्तर के तमाम जिलों के साथ जंगलमहल के पार्टी कार्यकर्ताओं को महारैली में बुलाने की पूरी व्यवस्था की जाएगी।
दूसरे राज्यों से आयेंगे प्रतिनिधि
दूसरी तरफ राष्ट्रीय स्तर पर पार्टी ने जिन राज्यों में विस्तार किया है वहां के प्रतिनिधियों को भी इस महारैली में मौजूद रहने की संभावना है। उनके अलावा शहीदों के परिवार के सदस्य भी मौजूद रहेंगे।
आज से शुरू होगा प्रचार
पार्थ चटर्जी ने बताया कि आज से राज्य भर में बूथस्तर पर महारैली को लेकर प्रचार-प्रसार शुरू किया जाएगा। पार्टी से जुड़े छोटे से छोटे कार्यकर्ता व समर्थकों को इस महौरली में शामिल करने की व्यवस्था होगी। साथ ही बड़े स्क्रीन की भी व्यवस्था होगी ताकि लोग अधिक से अधिक संख्या में ममता बनर्जी का भाषण सुन सकें।
मौका होगा 21 जुलाई का, पटकथा होगी 2024 की
जानकारों की माने तो 21 जुलाई की महारैली के मंच से तृणमूल 2024 की पटकथा शुरू करेगी। यह मौका होगा जब ममता बनर्जी राष्ट्रीय स्तर पर अपने नेताओं को संबोधित करेंगी। लाजमी है इसमें 2024 के लोकसभा में पार्टी की रणनीति के बारे में ममता बनर्जी बात करेंगी। दो साल के अंतराल में तृणमूल ने राज्य की सत्ता में तीसरी बार ऐतिहासिक जीत हासिल की है। यह पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए अब तक ऑक्सीजन का काम कर रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर