आय से अधिक संपत्ति मामले में तृणमूल नेताओं ने दिया स्पष्टीकरण

कहा – अधूरा सच लाया गया सामने, अधीर, सूर्यकांत सहित कईयों के नाम हैं शामिल
जानबूझकर हमें बदनाम किया जा रहा, सामाजिक जीवन हो रहा है बर्बाद
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : तृणमूल कांग्रेस के 23 नेता – मंत्रियों के आय के स्त्रोत्र में वृद्धि को लेकर हाईकोर्ट में हुए पीआईएल पर अब तृणमूल नेताओं ने ‘पूरी सच्चाई’ का हवाला देत हुए स्पष्टीकरण दिया है। मंत्री फिरहाद हकीम ने कहा है कि केवल तृणमूल नेताओं का नाम सामने लाया गया है जो कि यह अधूरा सच है। वाममोर्चा, कांग्रेस व भाजपा तृणमूल नेताओं के खिलाफ मुहिम चला रहे हैं। उन्होंने कहा कि अवसर मिला है इसलिए सभी अपमान कर रहे हैं। यह जनस्वार्थ मामला नहीं राजनीतिक स्वार्थ में मामला है। बुधवार को विधानसभा में संवाददाता सम्मेलन किया गया जहां मंत्री फिरहाद हकीम, ब्रात्य बसु, मलय घटक, ज्योतिप्रिय मल्लिक, अरूप राय, सिउली साहा उपस्थित थे। मंत्री ब्रात्य बसु ने कहा कि अदालत का पूरा फैसला अपलोड कर दिया गया है। ब्रात्य बसु ने कहा, अधीर चौधरी, सूर्यकांत मिश्रा, अशोक भट्टाचार्य, कांति गांगुली, अबू हेना, फणीभूषण महतो सहित कई नाम भी उस सूची में हैं। उन्होंने दावा किया कोर्ट ऑर्डर में कांग्रेस, माकपा नेताओं के भी नाम हैं लेकिन तृणमूल नेताओं तथा मंत्रियों के खिलाफ जानबुझ बदनाम किया जा रहा है।
व्यवसाय से घर चलता है – फिरहाद
फिरहाद ने कहा, काफी कम उम्र से ही व्यवसाय करता आया हूं जिससे घर चलता है। एक मंत्री के रूप में वेतन और भत्ते भी मिलते हैं। संपत्ति आय को लेकर कुछ भी नहीं छिपाया है। हमें बदनाम करने के लिए जानबूझकर एक भ्रामक अभियान चलाया गया है। हमने आयकर रिटर्न दाखिल करते समय अपनी आय के स्रोत की पूरी घोषणा की है। अगर आपकी आय में वृद्धि होती है तो इसमें कुछ भी गलत नहीं है। बता दें कि जनहित याचिका फरवरी 2017 में दायर की गई थी, जिसमें 2011 और 2016 के बीच मंत्रियों और नेताओं की संपत्तियों में वृद्धि की जांच का अनुरोध किया गया है। फिरहाद ने कहा, हमें अदालत के आदेश के बारे में कुछ नहीं कहना है और हमें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।
संपत्ति बढ़ना गैर कानूनी नहीं – मलय
कानून मंत्री मलय घटक ने कहा कि संपत्ति वृद्धि में कुछ भी गैर कानूनी नहीं है। मंत्री ने उदहारण देते हुए कहा कि मान लीजिए कि एक घर है, स्वाभाविक रूप से पांच साल बाद उसकी कीमत बढ़ेगी। इसी तरह से अगर एफडी है तो स्वाभाविक रूप से ब्याज के साथ इसमें भी बढ़ोत्तरी होगी। हमलोगों ने इनकम टैक्स विभाग हर कुछ डिक्लेयर किया है, अगर कुछ गैरकानूनी है तो इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बताएं।
पार्थ चटर्जी के क्रियाकलाप से लज्जित हैं
फिरहाद ने कहा कि पार्थ चटर्जी ने जो क्रियाकलाप किया उससे लज्जित हैं, इसका मतलब यह नहीं कि तृणमूल का मतलब चोर है। संपत्ति खरीदना कोई अपराध नहीं हैं। रोजगार वृद्धि करना भी कोई अपराध नहीं है। लोगों के स्वार्थ के लिए हमलोग घर परिवार का सुख छोड़कर रास्ते पर उतरकर राजनीति करते हैं, लोगों के स्वार्थ के लिए ही ममता बनर्जी के साथ मिलकर लड़ाई लड़ रहे हैं। लेकिन राजनीति से ओतप्रेत होकर हमलोगों का अपमान किया जा रहा है। फिरहाद ने पूर्व मुख्यमंत्री ज्योति बसु के बेटे चंदन बसु, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह की संपत्ति को लेकर भी कटाक्ष किया। पीएम की भी संपत्ति वृद्धि हुई है। फिरहाद ने कहा कि, सुजन चक्रवर्ती से कहता चाहता हूं कि आपलोगों के लड़कों से कभी भी चेतला या फिर खिदिरपुर इलाका में कोई अन्याय करते हुए देखा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर