‘तृणमूल कंपनी अच्छी, प्रोडक्ट अच्छा, बस सेल्समैन हैं खराब’

जलपाईगुड़ी : ‘कंपनी अच्छी है, उत्पाद अच्छा है, हमारा माल अच्छा है, लेकिन फेरीवाले (सेल्समैन) ही खराब हैं।’ फिर एक बार तृणमूल कांग्रेस के नेता अपने बयान को लेकर विवाद में आ गए हैं। जलपाईगुड़ी तृणमूल (टीएमसी) एससीएसटी ओबीसी सेल जिला अध्यक्ष कृष्ण दास ने यह टिप्पणी की है। जलपाईगुड़ी तृणमूल नेता कृष्णा दास ने कहा, तृणमूल कांग्रेस कंपनी अच्छी है, लेकिन फेरीवाले खराब हैं। उन्होंने पार्टी नेताओं पर लगे रिश्वतखोरी और चोरी के आरोपों पर भी सफाई दी। दास ने कहा कि हमारे नेताओं के चरित्र के कारण आज पार्टी की यह स्थिति है। कृष्ण दास ने कहा कि ममता बनर्जी ने आम जनता के बारे में बात की है। कमी बाकी तृणमूल नेताओं में है जो भ्रष्टाचार कर रहे हैं। कृष्ण दास ने कहा कि तृणमूल में सब थोड़े ही खराब है। तृणमूल की कंपनी अच्छी है, प्रोडक्ट अच्छा है, लेकिन फेरीवाले (सेल्समैन) खराब हैं।
कृष्ण दास ने कहा कि कुछ लोगों के कारण तृणमूल कांग्रेस का नाम बदनाम हो रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इतना कुछ किया है, जो इससे पहले किसी पार्टी ने नहीं किया। लेकिन कुछ लेकिन कुछ नेताओं के लिए पूरी पार्टी की बदनामी हो रही है। उनके कुछ दोस्तों ने निजी संस्थाओं या सरकारी संस्थाओं से कर्ज लेकर घर बनाए हैं इसलिए तृणमूल दोबारा सर्वे की मांग कर रही है। उन्होंने यह भी कहा कि हम यहां किसी नेता को मकान दिलाने के लिए पैसे नहीं देंगे। जो पैसा देता है वह भी उतना ही दोषी है। कृष्ण दास ने कहा कि लोग रिश्वतखोरी पर हंगामा कर रहे हैं। पर आप बताएं कब नहीं थी रिश्वतखोरी ? तृणमूल नेताओं को विभिन्न सरकारी परियोजनाओं में फंसाया जा रहा है और भर्ती भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के आरोप लगाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि माकपा या कांग्रेस शासन की नहीं, युग की बात कर रही है। लोगों में अच्छाई और बुराई दोनों होती है। लेकिन यह जरूर देखें कि कितना अच्छा और कितना बुरा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

तृणमूल सांसद शिशिर ने बेटे शुभेंदु की तारीफ की, कहा – बंगाल को राह दिखा रहा है

पुलिस पर लगाया आरोप, तृणमूल की भौंहें तनीं सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : तृणमूल सांसद शिशिर अधिकारी ने कांथी में राज्य पुलिस की भूमिका की आलोचना की। वहीं आगे पढ़ें »

स्वान के 4 बच्चों को कुचलनेवाला ऐप कैब ड्राइवर गिरफ्तार

पोस्ता के काली कृष्ण टैगौर स्ट्रीट की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चारों भाई-बहन एक साथ दिन भर खेलते रहते थे। गुरुवार की शाम चारों का सड़क आगे पढ़ें »

ऊपर