आज महाषष्ठी : दोपहर से ही निकले लोग, रोशनी से नहाया कोलकाता

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : आज यानी शनिवार को महाषष्ठी है। वहीं शुक्रवार को पंचमी के दिन दोपहर से ही लोग घरों से बाहर निकल पड़े। इधर, मौसम विभाग द्वारा सप्तमी के दिन से बारिश की संभावना देखते हुए पंचमी से ही लोगों की भीड़ पूजा पण्डालों में उमड़ पड़ी। पूरा कोलकाता दुधिया रोशनी में नहा गया है। गत 2 वर्षों से कोविड महामारी के कारण दुर्गा पूजा में वह जानी-मानी भीड़ व उत्साह नहीं देखा जा सका था। हालांकि इस बार कोविड का भय पीछे छोड़ते हुए कोलकाता पुराने लय में लौट गया है। उत्तर से द​क्षिण, शहर के सभी स्थानों पर छोटे – बड़े पूजा पण्डालों में सुबह से ही कतार में लगकर लोगों ने प्रतिमा दर्शन किये। निर्धारित समय से काफी पहले ही पूजा शुरू होने की बात मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कही थी। महालया से पहले गत 22 तारीख से ही सीएम ने दुर्गा पूजा का उद्घाटन भी चालू कर दिया था। कोलकाता के लगभग सभी बड़े पूजा पण्डालों का उद्घाटन हो जाने के कारण अन्य वर्षों की तुलना में इस बार महालया के दिन से ही पूजा पण्डालों में दर्शना​र्थियों की भीड़ होने लगी।
इन पूजा पण्डालों में उमड़ रही भीड़
पंचमी की सुबह से ही उत्तर व दक्षिण कोलकाता के बड़े पूजा पण्डालों में भीड़ देखी गयी। उत्तर के संतोष मित्रा स्क्वायर, हाथीबागान सार्वजनिन, कांकुड़गाछी युवक वृंद पूजा पण्डालों में काफी भीड़ देखी गयी। इसी तरह दक्षिण कोलकाता के देशप्रिय पार्क, एकडालिया, मुदियाली, त्रिधारा जैसे पूजा पण्डालों में भी काफी भीड़ उमड़ी। दर्शनार्थियों के एक वर्ग का मत है कि दक्षिण कोलकाता में खाली पंडालों में प्रतिमा के दर्शन के बाद उत्तर कोलकाता की प्रतिमाएं लोग देखना चाहते हैं। कुछ दर्शनार्थियों का कहना है कि मौसम खराब होने की आशंका को देखते हुए पहले से ही वे प्रतिमा दर्शन कर ले रहे हैं।
पूजा आयोजकों को भी नहीं था ऐसी भीड़ का अंदेशा
पंचमी की सुबह से ही ऐसी भीड़ पूजा पण्डालों में होगी, इसका अंदेशा पूजा आयोजकों को भी नहीं था। दक्षिण कोलकाता के एक पूजा आयोजक ने कहा, ‘आम तौर पर षष्ठी से पहले और विशेषकर वीक डे में जब छुट्टी नहीं हो, उस समय इतनी भीड़ पूजा में नहीं होती थी। हालांकि सुबह से ही जो भीड़ हमने देखी, वह अभूतपूर्व है। काफी अच्छा लग रहा है।’
बखूबी ट्रैफिक संभाल रही पुलिस
कोलकाता पुलिस द्वारा ट्रैफिक को बखूबी संभाला जा रहा है। ऐसे में महानगर में अब तक लोग भारी ट्रैफिक जाम की समस्या से रु-ब-रु नहीं हुए हैं। हालांकि श्रीभूमि पूजा पण्डाल के कारण वीआईपी रोड पर वाहनों की भीड़ बढ़ती जा रही है। कुछ स्थानों पर वाहनों की गति धीमी रही। वहीं आज यानी महाषष्ठी के साथ शनिवार का दिन होने के कारण दर्शनार्थियों की भीड़ और बढ़ने की संभावना जतायी जा रही है।

Visited 105 times, 1 visit(s) today
शेयर करें

मुख्य समाचार

Wednesday Mantra : हर संकट से बचाता है बुधवार का यह उपाय, दूर होता है गृह कलेश

कोलकाता : सनातन धर्म में बुधवार का दिन भगवान गणेश को समर्पित है और इस दिन विधि-विधान के साथ गणेश जी की अराधना की जाए आगे पढ़ें »

Sankashti Chaturthi 2024 Date: द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी कब है, जानें महत्‍व, पूजाविधि और …

कोलकाता : द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी फाल्‍गुन मास के कृष्‍ण पक्ष की चतुर्थी को कहते हैं। द्विजप्रिय संकष्टी चतुर्थी 28 फरवरी को यानी आज है। इस आगे पढ़ें »

ऊपर