आज महालया, या देवी सर्वभूतेषु से गुंजेगा बंगाल

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : आज महालया है और इसके साथ ही देवी पक्ष की शुरूआत हो जायेगी। बंगाल में आज से ही गुंजेगा या देवी सर्वभूतेषु। महालया का विशेष महत्व है। महालया के साथ ही देवी पक्ष की शुरूआत हो जायेगी। वहीं हर साल की तरह इस बार भी आकाशवाणी पर महालया के दिन चंडी पाठ का प्रसारण किया जाएगा। मान्यता है कि महालया के साथ जहां श्राद्ध पक्ष खत्म होते हैं, वहीं इसी दिन मां दुर्गा कैलाश पर्वत से धरती पर आगमन कर अगले 10 दिनों के लिए वास करती हैं। महालया अमावस्या के अगले दिन से शारदीय नवरात्रि शुरू होती है। महालया के दिन ही मूर्तिकार मां दुर्गा की आंखों को तैयार करते हैं। इसे चक्षु दान भी कहते हैं। इस दिन ही मां दुर्गा की मूर्तियों को अंतिम रूप दिया जाता है जिसके बाद मूर्तिया पंडालों में जाती हैं।
महालया के दिन होता है तर्पण
महालाया के दिन ही तर्पण होता है। गंगा व नदियों के किनारे लोग तर्पण करते हैं और पितरों की अंतिम विदाई दी जाती है। पितरों को दूध, तील, कुशा, पुष्प और गंध मिश्रित जल से तृप्त किया जाता है। वहीं लोग अपने अपने पितरों की पसंद का भोजन को प्रसाद के रूप में अर्पित करते हैं। मान्यता है कि प्रसाद का पहला हिस्सा गाय को, दूसरा देवताओं को, तीसरा हिस्सा कौवे को, चौथा हिस्सा कुत्ते को और पांचवा हिस्सा चीटियों को दिया जाता है। तर्पण करने से पितरों की प्यास बुझती है। उन्हें श्रद्धा अर्पित की जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

खुशखबरी : अब हावड़ा से पुरी के लिए चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस

कोलकाता: हावड़ा से एनजेपी तेज गति से चल रही है वंदे भारत एक्सप्रेस। इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है।  रेलवे सूत्रों ने आगे पढ़ें »

ईडी के सामने कुंतल का विस्फोटक बयान, कहा पार्थ चटर्जी ने भी लिये थे 15 करोड़ रुपये

कोलकाताः शिक्षक भर्ती भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार पार्थ चटर्जी इसी मामले में फंसे कुंतल घोष के भी संपर्क में थे। ईडी की पूछताछ में तृणमूल आगे पढ़ें »

ऊपर