प्रतिमा विसर्जन के लिए महानगर के गंगा घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

शोभायात्रा में डीजे बजाने पर कोलकाता पुलिस ने लगायी है रोक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : महानगर में प्रतिमा विसर्जन की शोभायात्रा में डीजे बजाने पर पुलिस द्वारा रोक लगा दी गयी है। कोई भी पूजा कमेटी डीजे न बजाए, यह सुनिश्च‌ित करने के लिए कोलकाता की 238 महत्वपूर्ण जगहों पर पुलिस पिकेट बैठायी गयी है। इन जगहों पर कोलकाता पुलिस के कर्मी और अधिकारी मौजूद रहेंगे। दशमी के दिन से महानगर में प्रतिमाओं का विसर्जन चालू हो गया है। महानगर की कई बारोवारी पूजा अभी भी दशमी के दिन प्रतिमा विसर्जन करती हैं। इसके अलावा मकान और आवासन के पूजा पंडाल की प्रतिमा भी दशमी के दिन ही विसर्जित होती है। इसके अलावा बड़े पूजा पंडालों में दर्शनार्थ‌ियों की भीड़ के कारण पूजा पंडाल में पुलिस कर्मियों की तैनाती रहेगी। लालबाजार के सूत्रों ने बताया कि दशमी की दोपहर से ही कोलकाता के 35 घाटों पर पुलिस का कड़ा पहरा है।शेष 34 घाटों पर मूर्तियों का विसर्जन किया जाएगा। इसके लिए नगर निगम के अधिकारी पुलिस के साथ घाटों का दौरा कर चुके हैं। सभी घाटों को साफ रखा गया है। घाटों पर पर्याप्त रोशनी की व्यवस्था की गई है। कोलकाता र‌िवर ट्रैफिक पुलिस के चार लॉन्च सुरक्षा के लिए कोलकाता और हावड़ा की ओर घाटों के आसपास गश्त करेंगे। ग्वालियर घाट, आउट्राम घाट और निमतल्ला घाट पर तीन पुलिस कैंप हैं। 15 महत्वपूर्ण घाटों पर अतिरिक्त संख्या में सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जहां से अधिकांश मूर्तियों का निस्तारण किया जाता है। रिवर ट्रैफिक पुलिस कार्यालय में रेस्क्यू टीम तैयार की जा रही है। इनमें पांच गोताखोर हैं। बाजे कदमतल्ला घाट पर एक विशेष टीम के तहत 6 गोताखोर मौजूद हैं। साथ ही बागबाजार घाट, बाजे कदमतल्ला घाट, ग्वालियर घाट और निमतल्ला घाट पर डीएमजी के विशेष बल तैनात हैं। निगरानी के लिए सात घाटों पर वॉच टावर हैं। प्रत्येक घाट पर एक निरीक्षक के अधीन एक पुलिस दल तैनात है, जिसकी निगरानी सहायक आयुक्त और उपायुक्त करेंगे। 238 सड़कों और महत्वपूर्ण जंक्शनों पर पुलिस पिकेट हैं। उत्तरी कोलकाता में निमतल्ला घाट स्ट्रीट, विवेकानंद रोड और रवींद्र सरणी, दक्षिण कोलकाता में रासबिहारी एवेन्यू, गरियाहाट मोड़ जैसी जगहों पर एसी पिकेट ड्यूटी पर रहेंगे। इसके अलावा कुछ पिकेट के प्रभारी निरीक्षक हैं और बाकी के प्रभारी उप निरीक्षक स्तर के अधिकारी हैं। पिकेट पर बैठे पुलिस अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि विसर्जन जुलूस के दौरान कोई डीजे नहीं बजाया जाए। अगर कोई डीजे बजाता है या पुलिस के पास ऐसी कोई शिकायत आती है तो पुलिस तुरंत उस पूजा कमेटी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेगी। आयोजकों को गिरफ्तार भी किया जा सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रानाघाट में पड़ोसी महिला ने युवक को मारा चाकू

नदिया : रानाघाट थाने की पुलिस ने तारापुर निवासी गृहवधू मामन विश्वास को पड़ोसी युवक सुबोध विश्वास को चाकू मारकर घायल कर देने के आरोप आगे पढ़ें »

बीएसएफ ने 97 लाख से अधिक के सोने के बिस्किट समेत महिला तस्कर को पकड़ा

उत्तर 24 परगना : सोमवार को 10 बजे दक्षिण बंगाल सीमांत के अंतर्गत सीमा चौकी जयंतीपुर, 158 वीं वाहिनी के जवानों ने एक महिला तस्कर आगे पढ़ें »

ऊपर