वंदे भारत एक्सप्रेस के रखरखाव के लिए हावड़ा में बना त्रिस्तरीय प्लेटफॉर्म

हावड़ा पहुंची वंदे भारत एक्सप्रेस
10 मोटरमैन गाजियाबाद से ले चुके हैं प्रशिक्षण
सन्मार्ग संवाददाता
हावड़ा : बस कुछ दिन और इंतजार करना है। वंदे भारत एक्सप्रेस के माध्यम से यात्री अब कम समय में हावड़ा से न्यू जलपाईगुड़ी पहुंच सकते हैं। 180 किलोमीटर की रफ्तार से चलनेवाली स्वदेशी तकनीक का इस्तेमाल करने वाली विश्व स्तरीय यह एक्सप्रेस पहले से ही 6 रूटों पर चल रही है। इसके लिए पूर्व रेलवे के विभिन्न डिविजन में तैयारियां भी शुरू हो गई हैं। क्रिसमस पर वंदे भारत को हावड़ा स्टेशन ले आया गया है। स्पेशलिस्ट लोको स्टाफ वंदे भारत ट्रेन को लेकर स्टेशन पहुंचे। पूर्व रेलवे ने इन सेमी-हाई स्पीड ट्रेनों के रखरखाव के लिए एक अलग शेड भी बनाया है। पूरी तरह से बंद अत्याधुनिक सुविधा सहित हावड़ा झील साइडिंग में ट्रेन के रखरखाव के लिए बनाया जाने वाला यह पहला डिपो है। हावड़ा के डीआरएम मनीष जैन ने कहा कि अन्य सभी ट्रेनें जो कारशेड में चलती हैं, आंशिक रूप से शेड से ढकी होती हैं और आंशिक रूप से खुले आसमान के नीचे होती हैं, लेकिन वंदे भारत मेंटेनेंस डिपो पूरी तरह से शेड में है। यह प्रणाली सभी मौसमों में समान रखरखाव के लिए है। रखरखाव की सुविधा के लिए डिपो में तीन स्तर के प्लेटफॉर्म हैं। ट्रेन का निचला हिस्सा, कोच के बीच का हिस्सा जहां यात्री होते हैं और छत ताकि तीन जगहों पर मेंटेनेंस का काम हो सके। इसलिए यह तीन स्तरीय प्लेटफॉर्म बनाया गया है। सामान्य ट्रेनों में अलग कोच और इंजन होते हैं। इसलिए उन ट्रेनों का अलग से रखरखाव किया जाता है, लेकिन यह लोकोमोटिव कोच के साथ है, बिल्कुल लोकल ट्रेन की तरह। इसलिए लोकोमोटिव और कोच का रखरखाव एक साथ किया जाएगा।
ट्रेन का समय : वंदे भारत एक्सप्रेस सप्ताह में 6 दिन हावड़ा से रवाना होगी, जो सुबह 5.50 बजे रवाना होगी और दोपहर 1.50 पर न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन पहुंचेगी। इसके बाद वहां से 2.50 बजे छूटकर रात के 10.50 बजे हावड़ा पहुंच जायेगी।
स्पेशल ट्रैनिंग लेकर पहुंचे हैं मोटर मैन : हावड़ा डिविजन में एक अलग ग्रुप बनाया गया है, जिन्हें हाल ही में चेन्नई के आईसीएफ में ट्रेनिंग लेनी पड़ी थी। हावड़ा से 10 मोटरमैन पहले ही प्रशिक्षण के लिए गाजियाबाद से ले चुके हैं। मालूम हो कि हावड़ा से 25 ट्रेन परीक्षक रखरखाव की ट्रेनिंग के लिए इंटीग्रल कोच फैक्ट्री गए थे।
अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस : यहां हावड़ा यार्ड में रैक के मेंटनेंस से लेकर फाइनल इंस्पेक्शन का काम होगा, जिसके बाद रैक को इनोग्रेशन के लिए रखा जाएगा। वंदे भारत ट्रेन को खास तौर पर डिजाइन किया गया है। ट्रेन कई अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस है। खास तौर पर सुरक्षित और आरामदायक यात्रा का ट्रेन में विशेष ख्याल रखा गया है। सिटिंग चेयर अरेंजमेंट से लेकर सीसीटीवी, फायर सेफ्टी डिवाइस, फर्स्टेड बॉक्स, स्मार्ट टॉयलेट, ग्लास विंडो, ऑटोमेटिक डोर, डिस्प्ले बोर्ड, एयर कंडीशनर, डीप फ्रीजर जैसी कई अत्याधुनिक सुविधाएं वंदे भारत में मौजूद हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

46वें अंतरराष्ट्रीय में अमेरिकी पैवेलियन कोलकाता पुस्तक मेले का उद्घाटन

कोलकाता : अमेरिकी महावाणिज्यदूत मेलिंडा पावेक ने 46वें अंतरराष्ट्रीय कोलकाता पुस्तक मेले में अमेरिकी पैवेलियन का उद्घाटन किया। इस वर्ष मंडप की थीम डीईआईए (विविधता, आगे पढ़ें »

गांजा तस्करी के आरोप में अभियुक्त को 3 साल कैद की सजा

कोलकाता : गांजा तस्करी के आरोप में अदालत ने एक तस्कर को दोषीठहराते हुए 3 साल कैद की सजा सुनायी है। अलीपुर कोर्ट के अतिरिक्त आगे पढ़ें »

ऊपर