इस दुर्गा पूजा होटल, रेस्टोरेंट और टूरिज्म कोविड काल से पहले की स्थिति में लौटने की उम्मीद

यूनेस्को से मिले सम्मान के कारण बढ़ी विदेशी पर्यटकों की संख्या
होटलों की बुकिंग लगभग फुल
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दुर्गा पूजा आ गयी है और इस बार दो वर्षों के कोविड काल को पीछे छोड़ते हुए लोगों में दुर्गा पूजा मनाने को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा है। इस बार दुर्गा पूजा में उम्मीद जतायी जा रही है कि होटल, रेस्टोरेंट और टूरिज्म का व्यवसाय कोविड काल के पहले वाली स्थिति में लौट सकता है। गत 2 वर्षों में कोविड के कारण टूरिज्म व होटल इण्डस्ट्री को काफी नुकसान झेलना पड़ा था, लेकिन इस बार वर्ष 2019 के पहले वाली स्थिति में बिजनेस के लौटने की संभावना है।
होटलों की बुकिंग हो चुकी है फुल
होटल एण्ड रेस्टोरेंट एसोसिएशन ऑफ ईस्टर्न इंडिया (एचआरएईआई) के प्रेसिडेंट सुदेश पोद्दार ने सन्मार्ग से कहा, ‘स्टेकेशन की मांग इस बार बढ़ी है यानी आस-पास के ​जिलों से लोग कोलकाता में आकर 2 दिन रुक कर दुर्गा पूजा देखना चाह रहे हैं। इसके लिए यहां भी होटलों की बुकिंग बढ़ी है। दार्जिलिंग, गंगटोक जैसे पहाड़ी क्षेत्रों में होटलों ने रेट्स बढ़ा दिये हैं, लेकिन लोगों कोे कमरे नहीं मिल रहे हैं। 4,000 का किराया 20,000 तक हो गया है, दार्जिलिंग, कालिम्पोंग, लालेगांव आदि स्थानों पर भी एक ही स्थिति है।’ यहां उल्लेखनीय है कि हिल्स व डुआर्स के साथ – साथ सिक्किम व पहाड़ी ​इलाकों में बुकिंग काफी अधिक है। इसके अलावा लोग होमस्टे भी लेना काफी पसंद कर रहे हैं।
रेस्टोरेंट, एफएण्डबी इण्डस्ट्री में भी उछाल की उम्मीद
टूरिज्म के साथ – साथ होटल व एफएण्डबी इण्डस्ट्री में भी उछाल की उम्मीद है। सुदेश पोद्दार ने कहा कि पिछले ढाई वर्षों से लॉकडाउन के बाद इस बार जहां लोग कोविड के डर से निकले हैं तो वहीं यूनेस्को से दुर्गा पूजा को सम्मान मिलने के कारण भी लोगों में काफी उत्साह है। सभी रेस्टोरेंट्स अपने ग्राहकों का स्वागत करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं और दुर्गा पूजा में स्पेशल मेन्यू भी तैयार किये जा रहे हैं। वर्ष 2020 के अक्टूबर में 60% कम व्यवसाय हुआ था जबकि 2021 के अक्टूबर में व्यवसाय में 30% घाटा हुआ था। उम्मीद है कि इस बार दोगुनी बिक्री होने पर गत 2 वर्षों के नुकसान की भरपाई होगी।
भारी मांग की ये है व​जह
2 वर्षों तक घरों में रहने के बाद इस बार लोग छुट्टियों का भरपूर लाभ उठाना चाहते हैं। इस कारण राज्य में रिवेंज ट्रैवल बढ़ा है। मांग में तेजी के साथ ही होटलों ने अपनी कीमतें दोगुनी या तीन गुनी तक बढ़ा दी है, लेकिन इसके बावजूद बुकिंग तेजी से हो रही है। ना केवल निजी ब​ल्कि सरकारी एकोमोडेशन भी 1 से 10 अक्टूबर तक लगभग फुल हो गये हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टेट 2014 : 824 की अवैध नियुक्ति, हाई कोर्ट में रिट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : हाई कोर्ट में दायर एक रिट में आरोप लगाया गया है कि 2014 के टेट में अवैध नियुक्तियां दी गई हैं। इसकी आगे पढ़ें »

हथियारों की तस्करी के आराेप में दो अभियुक्त गिरफ्तार

दक्षिण 24 परगना : बारुईपुर थानांतर्गत बेगमपुर दूसो कॉलोनी इलाके में सोमवार की रात हथियारों की तस्करी के आरोप में पुलिस ने दो अ‌भियुक्तों को आगे पढ़ें »

ऊपर