रामपुरहाट हिंसा पर विधानसभा में जमकर हुआ हंगामा

भाजपा ने किया वॉकआउट
शुभेन्दु ने कहा, मुख्यमंत्री जवाब दें या इस्तीफा दें
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बीरभूम के रामपुरहाट में तृणमूल के पंचायत उपप्रधान भादू शेख की हत्या के बाद बाकतुई गांव में जिस तरह आगजनी कर लोगों को जिंदा जलाया गया उसकी आंच विधानसभा में भी देखी गयी। घटना सोमवार रात की है, जबकि मंगलवार को विधानसभा में भाजपा के विधायकों ने स्पीकर विमान बनर्जी से इस पूरी घटना पर चर्चा करने की मांग की जिसे अस्वीकार कर दिया गया। दरअसल इस हृदय विदारक घटना के लिए भाजपा के विधायक शंकर घोष ने इस पर चर्चा की मांग की थी जिस पर चर्चा नहीं होने के बाद भाजपा के सभी विधायक सदन के भीतर ही नारेबाजी करने लगे।
भाजपा ने किया हंगामा, कहा : हटें ममता या दें जवाब
भाजपा के विधायकों ने पहले तो सदन के भीतर ही ​विरोध में नारे लगाये। कुछ देर के बाद सभी सदस्य वॉकआउट कर विधानसभा परिसर में धरने पर बैठ गये और विरोध-प्रदर्शन करने लगे। सत्र के पूरे दिन भाजपा का कोई विधायक सत्र में शामिल नहीं हुआ। विधायक मनोज टिग्गा ने कहा कि राज्य में कानून-व्यवस्था की हालत ऐसी है कि यहां एक पंचायत से लेकर लोकसभा का सांसद तक सुरक्षित नहीं है। आम जनता भी डरी हुई है। मुख्यमंत्री खुद राज्य की गृह मंत्री हैं, उन्हें इन घटनाओं पर जवाब देना चाहिए मगर वह सदन में आ ही नहीं रही हैं।
शुभेन्दु ने कहा, एक हफ्ते में 26 हत्याएं
विधानसभा में विरोधी दल के नेता व भाजपा विधायक शुभेन्दु अधिकारी ने राज्यभर में कानून-व्यवस्था पर सवाल उठाया। शुभेन्दु ने कहा कि पूरे राज्य के अलग-अलग हिस्सों में पिछले एक हफ्ते में 26 हत्याएं हुई हैं। राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति गंभीर है। केंद्र सरकार को यहां हस्तक्षेप करने की जरूरत है क्योंकि आज की तारीख में यहां कोई भी सुरक्षित नहीं है।
बीरभूम के मिनी सीएम हैं अणुव्रत !
शुभेन्दु ने रामपुरहाट घटना की कड़े शब्दों में निंदा की और कहा ​कि बीरभूम जिला ऐसा जिला है जहां अणुव्रत मंडल मिनी मुख्यमंत्री के तौर पर काम करते हैं। उनके इशारे पर ही वहां हर कांड होते हैं। लोगों को घरों में बंद करके आग के हवाले कर दिया गया। इन जानों की कीमत कौन चुकाएगा। यह सरकार हत्यारी सरकार है जिसे तुरंत भंग कर देना चाहिए। शुभेन्दु ने कहा कि ममता बनर्जी को इस घटना के बाद मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़ देनी चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के बाद महानगर के विसर्जन घाटों में बढ़ी सुरक्षा

पूजा आयोजकों को नहीं है नदी में जाने की अनुमति सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विजयादशमी के शाम जलपाईगुड़ी के माल नदी में हरपा बान में आठ लोगों आगे पढ़ें »

महापंचमी से लेकर विजय दशमी तक मेट्रो में 39.2 लाख यात्री हुए सवार

कोलकाता : दुर्गापूजा पर इस बार यानी कोविड के दो सालों के बाद 39,20,789 यात्रियों ने सफर किया। यह फुटफाल महापंचमी से लेकर विजयदशमी तक आगे पढ़ें »

ऊपर