भारत और बांग्लादेश के बीच और कलात्मक आदान प्रदान होना चाहिए : ‘हवा’ अभिनेता

कोलकाता : लोकप्रिय बांग्लादेशी अभिनेता चंचल चौधरी ने अपनी फिल्म ‘हवा’ के बांग्लादेश की ओर से ऑस्कर के लिए आधिकारिक प्रविष्टि बनने के बीच शुक्रवार को भारत और बांग्लादेश के बीच मुक्त कलात्मक आदान प्रदान की पैरवी की। चौधरी ने कहा कि उन्हें खुशी है कि ‘विजय दिवस’ पर शुक्रवार से पश्चिम बंगाल के सिनेमाघरों में ‘हवा’ दिखायी जायेगी। 1971 में पाकिस्तान पर भारत की जीत के तौर पर विजय दिवस मनाया जाता है। इस युद्ध के फलस्वरूप बांग्लादेश अस्तित्व में आया था जो पूर्वी पाकिस्तान के तौर पर पाकिस्तान का हिस्सा था। चौधरी ने कहा, ‘‘ हमारी फिल्में कोलकाता के सिनेमाघरों में नहीं दिखायी जा सकती हैं, आपकी फिल्में ढाका के सिनेमाघरों में नहीं दिखायी जा सकती हैं। जब जिंसों का व्यापारिक विनिमय आसान बनाया गया है और साहित्यिक विनिमय बढ़ गया है, तब बांग्लादेश और भारत में बनने वाली फीचर फिल्मों के साथ ऐसा क्यों नहीं हो सकता है?’’ चौधरी को अतीत में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का बांग्लादेश का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिल चुका है। उनकी हाल की फिल्म ‘हवा’ मछुआरों के एक समूह की कहानी है जिसके जाल में गहरे समुद्र में एक सुंदर महिला आ जाती है। चौधरी 28 वें कोलकाता अंतरराष्ट्रीय फिल्मोत्सव में हिस्सा लेने के लिए यहां आये हुए हैं। बृहस्पतिवार को इस महोत्सव का उद्घाटन हुआ।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

कल ही उनकी सरकार गिर गयी थी, किसी प्रकार बची

- बंगाल का बकाया रुपया नहीं दिया तो होगा आंदोलन - ममता बर्दवान : कल उनकी सरकार गिर गई थी। कुछ लोगों को फोन कर उनसे आगे पढ़ें »

राज्यपाल को लेकर भाजपा ने दी गृह मंत्रालय को रिपोर्ट

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : गत नवम्बर महीने में पश्चिम बंगाल के स्थायी राज्यपाल बने डॉ. सी. वी. आनंदा बोस के बारे में भा​जपा नेताओं ने सोचा आगे पढ़ें »

ऊपर