Burrabazar में सक्रिय है ‘स्पेशल 26’ की टीम

शेयर करे

कभी पुलिस तो कभी कस्टम्स अधिकारी बनकर लोगों को लूट रहे हैं जालसाज
बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी इस गिरोह से है परेशान, प्रशासन से लगा रहे हैं गुहार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बड़ाबाजार में एक बार फिर स्पेशल 26 की टीम सक्रिय हो गयी है। यह लोग खुद को पुलिस और कस्टम अधिकारी बनकर पहले लोगों को रोकते हैं। इसके बाद उन्हें सुनसान गली या मकान के अंदर ले जाकर तलाशी के नाम पर उनका कपड़ा उतरवा देते हैं। इस दौरान लोगों के पास मौजूद आभूषण और रुपये लेकर फरार हो जाते हैं। इस गिरोह में महिलाएं भी शामिल हैं जो खुद को वरिष्ठ अधिकारी के रूप में परिचय देती है। इस गिरोह में शामिल महिलाएं ही पुरुष व्यक्ति को कपड़े उतरवा देती हैं और कार्रवाई का धौंस जमाकर उनके पास से सोने की चेन व अन्य सामान लूटकर फरार हो जाती है। बीते दिनों एक ऐसी ही घटना बड़ाबाजार के रवीन्द्र सरणी इलाके में घटी है। इस घटना के बाद से बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी सहित अन्य व्यवसासियों के वर्ग में आतंक का मौहल व्याप्त है। व्यवसासियों के एक वर्ग का कहना है कि यह पहली बार है जब महिलाओं को कस्टम्स अधिकारी बनाकर इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। सरेआम एक महिला के सामने कपड़े उतारे जाने से एक व्यवसायी काफी क्षुब्ध हैं।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार भवानीपुर के रहने वाले एक स्वर्ण व्यवसायी एस. वर्मा का बड़ाबाजार के कानू लाल लेन में आभूषण की दुकान है। गुरुवार की शाम वह अपनी बाइक पर भवानीपुर से बड़ाबाजार की तरफ आ रहा था। आरोप है कि जैसे ही वह बाइक से रवीन्द्र सरणी व बड़तल्ला स्ट्रीट क्रॉसिंग पर पहुंचा तभी एक महिला और दो पुरुष ने उसका रास्ता रोका। उन लोगों ने खुद को कस्टम्स अधिकारी बताया और व्यक्ति को बाइक से उतार लिया। तीनों लोग उक्त व्यवसायी को पास की गली में चलने के लिए कहने लगे। व्यवसायी ने मना किया तो आरोप है कि एक अधिकारी ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद उसे जबरन अपने साथ एक मकान के अंदर ले गए। आरोप है कि वहां पर उक्त गिरोह में शामिल एक महिला ने उसे पैंट खोलने के लिए कहा। अभियुक्तों के मारपीट से बचने के लिए व्यवसायी ने पैंट खोल लिया। व्यवसायी के पास से कुछ नहीं मिलने पर उन लोगों ने दोबारा उसके साथ मारपीट की और फिर वहां से चले गए। घटना के बाद पीड़ित व्यवसायी ने स्थानीय स्वर्ण व्यवसायी संगठन को घटना की जानकारी दी। हालांकि घटना को लेकर व्यवसायी की तरफ से अभी तक थाने में किसी प्रकार की शिकायत नहीं दर्ज करायी गयी है। बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी संगठन के एक सदस्य ने बताया कि बीते कुछ दिनों में कस्टम्स व पुलिस अधिकारी बनकर बड़ाबाजार में सोना लूटने की घटनाएं बढ़ रही है। यह लोग पहले व्यवसायियों के कर्मचारी को पकड़कर उनकी तलाशी लेते हैं । तलाशी लेने पर सोना मिलते ही व्यक्ति को गिरफ्तार करने की धमकी देते हैं और बाद में कुछ हिस्सा लेने के बाद चले जाते हैं। यही नहीं जालसाज कई बार व्यवसायियों को धमकी देते हैं कि अगर किसी को जानकारी दी गयी तो उनके खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जाएगी। स्वर्ण व्यवसायियों ने मांग की है कि बड़ाबाजार में अगर कस्ट्म्स या पुलिस अधिकारी कोई कार्रवाई करते हैं तो वह पारदर्शिता के साथ कार्रवाई करे। किसी भी मासूम व्यक्ति के साथ मारपीट या लूटपाट न की जाए। स्वर्ण व्यवसायी संगठन का कहना है कि इस तरह की घटना से व्यवसायियों में भय का माहौल व्याप्त है। इसका असर व्यवसाय पर भी पड़ रहा है।

Visited 175 times, 1 visit(s) today
0
0

मुख्य समाचार

कोलकाता : बुधवार का दिन गणेश भगवान को समर्पित है। इस दिन पूरे विधि विधान से गणपति की पूजा की
हावड़ा : तीन युवकों पर शनिवार को 12 साल की बच्ची से सामूहिक दुष्कर्म कर उसे दफनाने का आरोप लगा
कल मुहर्रम पर महानगर में सुरक्षा चाक-चौबंद, ट्रैफिक होगी प्रभावित करीब 4 हजार पुलिस कर्मी रहेंगे तैनात कल शहर में
कोलकाता : 6 दोस्त मंदारमणि की यात्रा पर गए थे। सभी लोग समुद्र में स्नान करने गये। तभी 2 लोगों
रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया हुई शुरू कोलकाता : माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कक्षा 9 की रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है। इसे
एक नजर प्याज : 50 रु. प्रति किलो टमाटर : 100 रु. प्रति किलो कोलकाता : पश्चिम बंगाल टास्क फोर्स
संजय मुखर्जी को बनाया गया डीजी दमकल कोलकाता : लोकसभा चुनाव और विधानसभा के उपचुनाव खत्म होते ही एक बार
कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश के बाद ईबी व टास्क फोर्स द्वारा मिलकर महानगर के विभिन्न बाजारों में
कोलकाता : कोलकाता में सोमवार को भगवान जगन्नाथ के 53वां उल्टा रथयात्रा का आयोजन किया गया। इस्कॉन कोलकाता के सौजन्य
कोलकाता : महानगर व आसपास क्षेत्रों के 19 अहम ब्रिज और फ्लाईओवर की मरम्मत की जायेगी। केएमडीए ने इसकी तालिका
कोलकाता : राज्य के मोटर ट्रेनिंग स्कूलों पर परिवहन विभाग द्वारा नकेल कसी जाने के लिये कई अहम कदम उठाये
कोलकाता : महानगर में पिछले पांच सालों में 30 से ज्यादा फायरिंग की घटनाएं घट चुकी हैं। यह जानकारी हाल
ऊपर