Burrabazar में सक्रिय है ‘स्पेशल 26’ की टीम

कभी पुलिस तो कभी कस्टम्स अधिकारी बनकर लोगों को लूट रहे हैं जालसाज
बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी इस गिरोह से है परेशान, प्रशासन से लगा रहे हैं गुहार
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बड़ाबाजार में एक बार फिर स्पेशल 26 की टीम सक्रिय हो गयी है। यह लोग खुद को पुलिस और कस्टम अधिकारी बनकर पहले लोगों को रोकते हैं। इसके बाद उन्हें सुनसान गली या मकान के अंदर ले जाकर तलाशी के नाम पर उनका कपड़ा उतरवा देते हैं। इस दौरान लोगों के पास मौजूद आभूषण और रुपये लेकर फरार हो जाते हैं। इस गिरोह में महिलाएं भी शामिल हैं जो खुद को वरिष्ठ अधिकारी के रूप में परिचय देती है। इस गिरोह में शामिल महिलाएं ही पुरुष व्यक्ति को कपड़े उतरवा देती हैं और कार्रवाई का धौंस जमाकर उनके पास से सोने की चेन व अन्य सामान लूटकर फरार हो जाती है। बीते दिनों एक ऐसी ही घटना बड़ाबाजार के रवीन्द्र सरणी इलाके में घटी है। इस घटना के बाद से बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी सहित अन्य व्यवसासियों के वर्ग में आतंक का मौहल व्याप्त है। व्यवसासियों के एक वर्ग का कहना है कि यह पहली बार है जब महिलाओं को कस्टम्स अधिकारी बनाकर इस तरह की घटना को अंजाम दिया जा रहा है। सरेआम एक महिला के सामने कपड़े उतारे जाने से एक व्यवसायी काफी क्षुब्ध हैं।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार भवानीपुर के रहने वाले एक स्वर्ण व्यवसायी एस. वर्मा का बड़ाबाजार के कानू लाल लेन में आभूषण की दुकान है। गुरुवार की शाम वह अपनी बाइक पर भवानीपुर से बड़ाबाजार की तरफ आ रहा था। आरोप है कि जैसे ही वह बाइक से रवीन्द्र सरणी व बड़तल्ला स्ट्रीट क्रॉसिंग पर पहुंचा तभी एक महिला और दो पुरुष ने उसका रास्ता रोका। उन लोगों ने खुद को कस्टम्स अधिकारी बताया और व्यक्ति को बाइक से उतार लिया। तीनों लोग उक्त व्यवसायी को पास की गली में चलने के लिए कहने लगे। व्यवसायी ने मना किया तो आरोप है कि एक अधिकारी ने उसे थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद उसे जबरन अपने साथ एक मकान के अंदर ले गए। आरोप है कि वहां पर उक्त गिरोह में शामिल एक महिला ने उसे पैंट खोलने के लिए कहा। अभियुक्तों के मारपीट से बचने के लिए व्यवसायी ने पैंट खोल लिया। व्यवसायी के पास से कुछ नहीं मिलने पर उन लोगों ने दोबारा उसके साथ मारपीट की और फिर वहां से चले गए। घटना के बाद पीड़ित व्यवसायी ने स्थानीय स्वर्ण व्यवसायी संगठन को घटना की जानकारी दी। हालांकि घटना को लेकर व्यवसायी की तरफ से अभी तक थाने में किसी प्रकार की शिकायत नहीं दर्ज करायी गयी है। बड़ाबाजार के स्वर्ण व्यवसायी संगठन के एक सदस्य ने बताया कि बीते कुछ दिनों में कस्टम्स व पुलिस अधिकारी बनकर बड़ाबाजार में सोना लूटने की घटनाएं बढ़ रही है। यह लोग पहले व्यवसायियों के कर्मचारी को पकड़कर उनकी तलाशी लेते हैं । तलाशी लेने पर सोना मिलते ही व्यक्ति को गिरफ्तार करने की धमकी देते हैं और बाद में कुछ हिस्सा लेने के बाद चले जाते हैं। यही नहीं जालसाज कई बार व्यवसायियों को धमकी देते हैं कि अगर किसी को जानकारी दी गयी तो उनके खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जाएगी। स्वर्ण व्यवसायियों ने मांग की है कि बड़ाबाजार में अगर कस्ट्म्स या पुलिस अधिकारी कोई कार्रवाई करते हैं तो वह पारदर्शिता के साथ कार्रवाई करे। किसी भी मासूम व्यक्ति के साथ मारपीट या लूटपाट न की जाए। स्वर्ण व्यवसायी संगठन का कहना है कि इस तरह की घटना से व्यवसायियों में भय का माहौल व्याप्त है। इसका असर व्यवसाय पर भी पड़ रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Kolkata on Dengue & Viral Fever Alert : डेंगू और वायरल फीवर की दोहरी मार झेल रहे हैं कोलकाता के लोग

30 से 40% बढ़ी पैरासिटामाॅल की बिक्री कोविड जैसे लक्षण भी दिख रहे मरीजों में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : बारिश के मौसम में कई तरह की बीमारियां घर आगे पढ़ें »

शनिदेव की पूजा करने के 5 नियम, भूलकर भी शनिवार को ना करें ये …

कोलकाता : सप्ताह के सातों दिन सनातन धर्म के किसी ने किसी देवी-देवता को समर्पित किए गए हैं। उन्हीं में से एक शनिवार का दिन आगे पढ़ें »

ऊपर