राज्यपाल बदल से जेयू के दीक्षांत समारोह में पड़ेगा असर !

जादवपुर विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह 24 दिसंबर को
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : परंपरा के अनुसार जादवपुर विश्वविद्यालय का दीक्षांत समारोह 24 दिसंबर को आयोजित किया जाता है। कोविड के कारण पिछले दो वर्षों में यह आयोजन नहीं हुआ था। इस बार दीक्षांत समारोह होगा। इसकी तैयारी इस बार राज्यपाल ला गणेशन की सहमति से शुरू हो गई थी। इसबीच नये स्थायी राज्यपाल के लिए डॉ. सी. वी. आनंद बोस के नाम की घोषणा हुई है। लेकिन अगर वे दीक्षांत समारोह के बारे में कुछ बदलना चाहे ऐसे में विश्वविद्यालय सूत्र के अनुसार इसमें समय का अभाव देखा जा सकता है। सूत्रों के मुताबिक पहले यह निर्णय लिया गया था कि पहले यह निर्णय लिया गया था कि हालांकि एक वार्षिक दीक्षांत समारोह होगा, कोई विशेष दीक्षांत समारोह नहीं होगा। ला गणेशन ने यह भी कहा कि वह दीक्षांत समारोह में 45 मिनट तक रहेंगे। हालांकि बदली हुई स्थिति में अब यह निर्णय लिया गया है कि नये राज्यपाल के कार्यभार संभालने के बाद विश्वविद्यालय के अधिकारी दीक्षांत समारोह के बारे में उन्हें सूचित करेंगे, लेकिन अगर वह कोई राय देते हैं तो उस अनुसार आगे बढ़ने के लिए समय का अभाव देखा जायेगा। हालांकि, विश्वविद्यालय के एक अधिकारी के मुताबिक पहले के राज्यपाल ने जो अपनी सहमति दी है, आशा करते हैं कि नये राज्यपाल से कि वे भी उस दिशा में अपनी राय देंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जरूरत को समझते हुए सभी वर्ग के लोगों के लिए परियोजना शुरू की गयी – शशि

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य की नारी कल्याण व बाल विकास मामलों की मंत्री डॉ. शशि पांजा ने सोमवार को विधानसभा में विपक्षी विधायक अशोक लाहिड़ी आगे पढ़ें »

कुणाल घोष ने नेता मिथुन चक्रवर्ती को बताया बंगाल का कलंक

महिषादल : जिस प्रकार शुभेन्दु अधिकारी बंगाल में सत्ताधारी टीएमसी नेताओं पर लगातार आरोपों की बौछार कर रहे हैं। ठीक उसी प्रकार टीएमसी के नेता आगे पढ़ें »

ऊपर