रवींद्र भारती विवि के हेरिटेज ढांचे में तोड़फोड़ का आरोप

चीफ जस्टिस के डिविजन बेंच ने तलब की रिपोर्ट
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : रवींद्र भारती विश्व विद्यालय के जोड़ासांको कैंपस की हेरिटेज इमारत में तोड़फोड़ किये जाने का आरोप लगाते हुए हाई कोर्ट में एक पीआईएल दायर की गई है। चीफ जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस राजर्षि भारद्वाज के डिविजन बेंच ने सोमवार को इसे सुनने के बाद राज्य सरकार को आदेश दिया कि वह यह सुनिश्चित करे कि इस तरह की घटना दोबारा नहीं घटे। इसके साथ ही राज्य और विश्वविद्यालय को इस बाबत विस्तृत रिपोर्ट देने का आदेश दिया है।
एडवोकेट श्रीजीव चक्रवर्ती ने इस पीआईएल की तरफ से बहस करते हुए कहा कि इस हेरिटेज इमारत के जिस कमरे में रवींद्रनाथ टैगोर की बंकिम चंद्र चट्टोपाध्याय से पहली बार मुलाकात हुई थी उसमें तोड़फोड़ कर के तृणमूल कांग्रेस से जुड़े शिक्षा बंधु समिति का कार्यालय बना दिया गया है। यहां दीवारों पर नेताओं की तस्वीरें लगा दी गई हैं, लेकिन रवींद्रनाथ टैगोर की तस्वीर गायब है। एडवोकेट चक्रवर्ती ने बहस करते हुए कहा कि हेरिटेज एक्ट के तहत इस इमारत को हेरिटेज के लिहाज से संरक्षित कर दिया गया है। राज्य सरकार की तरफ से बहस करते हुए कहा गया कि हेरिटेज ‌इमारतों की देखरेख की जिम्मेदारी केएमसी की है। हेरिटेज एक्ट के तहत संरक्षित इमारत के ढांचे में किसी तरह का बदलाव नहीं किया जा सकता है। जोड़ासांको थाने में इस बाबत शिकायत भी की गई थी पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। डिविजन बेंच ने इस मामले में केएमसी को भी पार्टी बनाये जाने का आदेश दिया। इसके अलावा अंफान के समय रवींद्रभारती विश्वविद्यालय में 75 पेड़ गिर गए थे। इस बाबत दायर पीआईएल में आरोप लगाया गया है कि ये पेड़ विश्वविद्यालय से लापता हो गए थे। डिविजन बेंच ने इस बाबत भी विश्वविद्यालय से जवाब तलब किया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

13.63 करोड़ की ठगी का आरोप, उद्योगपति गिरफ्तार  

- झारखंड के चास थाना की पुलिस ने अभियुक्त को बांकुड़ा से किया गिरफ्तार - पुरुलिया जिला में अभियुक्त का है इस्पात कारखाना - फोटो बांकुड़ा : झारखंड आगे पढ़ें »

बारानगर में नाले से व्यक्ति का शव बरामद

बारानगर : बारानगर थाना अंतर्गत लेबू बागान स्थित एक नाले से रविवार की सुबह व्यक्ति का शव बरामद किया गया। सुबह मॉर्निंग वॉक करने निकले आगे पढ़ें »

ऊपर