अवैध थी पार्थ के जमाने में बनी सलाहकार समिति

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : जस्टिस बाग कमेटी ने राज्य सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा नियुक्त सलाहकार समिति को अवैध करार दिया है। जस्टिस सुब्रत तालुकदार के डिविजन बेंच में कमेटी द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में यह बात कही गई है।
कमेटी के एडवोकेट अरुणाभ बनर्जी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि एसएससी रूल्स के उलट जा कर यह कमेटी बनायी गई थी। उन्होंने कहा कि एसएससी रूल्स में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं है। यहां गौरतलब है कि सक्षम अधिकारी की सहमति से इस कमेटी का गठन 2011में एक नवंबर को किया गया था। राज्य सरकार के संयुक्त सचिव की तरफ से जारी आदेश में यह कहा गया है। इस कमेटी का गठन लंबित नियुक्ति प्रक्रिया की मॉनिटरिंग और निरीक्षण के लिए किया गया था। डॉ. शांति प्रसाद सिन्हा को इस कमेटी का सलाहकार बनाया गया था। तत्कालीन प्रभारी मंत्री के निजी सचिव एस आचार्या, ओएसडी पीके बंद्योपाध्याय, डिप्टी डायरेक्टर ए के सरकार और विधि अधिकारी टी पांजा इसके सदस्य बनाए गए थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘एजेंसी की गिरफ्तारी पर असम्मानित महसूस किया था सुब्रत दा ने’

एकडालिया के उद्घाटन पर ममता ने किया सुब्रत दा को याद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : एकडालिया पूजा पंडाल का उद्घाटन करने पहुंची मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने स्वर्गीय आगे पढ़ें »

आरपीएफ की तत्परता से बचे यात्री की जान

सन्मार्ग संवाददाता हावड़ा : हावड़ा स्टेशन के प्लैटफॉर्म नंबर 18 में एक चलती ट्रेन से लड़खड़ाने पर यात्री नीचे गिर गया । इस दौरान प्लैटफॉर्म पर आगे पढ़ें »

ऊपर