करोड़ों रुपये की ठगी के मामले में फरार पांडेय ब्रदर्स ओडिशा से गिरफ्तार

गुजरात से पकड़ा गया शैलेश का साथी प्रसेनजीत
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : दूसरे राज्य में छिपने के बाद भी पुलिस के हाथों से पांडेय ब्रदर्स बच नहीं पाए। बीते कई दिनों से लगातार छापामारी अभियान चलाकर हावड़ा के व्यवसायी शैलेश पांडेय सहित 4 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। कोलकाता पुलिस ने शैलेश पांडेय, उसके भाई अरविंद और रोहित को ओडिशा से गिरफ्तार किया है। इसके अलावा शैलेश के साथी प्रसेनजीत दास को गुजरात के अहमदाबाद से गिरफ्तार किया गया है। गत रविवार को हावड़ा के शिवपुर के व्यवसायी शैलेश पांडेय के घर पर पुलिस ने छापामारी की थी। वहां पर एक कार से दो करोड़ रुपये नकद और लाखों के स्वर्ण आभूषण बरामद किए गए थे।
पुलिस के अनुसार उस रात पुलिस के पहुंचने से पहले शैलेश के भाई अरविंद और उसकी मां वहां से बाहर निकल गये थे। फोन पर रोहित और शैलेश के साथ अरविंद ने बातचीत की थी। बीच रास्ते में दोनों कार में सवार हुए थे। इसके बाद वे लोग सीधे भुवनेश्वर चले गए। वहां पर शैलेश के साला के घर पर वे लोग रहने लगे। इधर, पुलिस तीनों भाइयों की लगातार तलाश कर रही थी। उनकी कार किस तरफ गयी इसका पता लगाने में पुलिस जुट गयी। कार का नंबर विभिन्न टोल प्लाजा पर दिया गया। इसके बाद विभिन्न राज्यों में मौजूद शैलेश के रिश्तेदारों से पुलिस ने संपर्क किया। पहले पुलिस ने यूपी में छापामारी की। वहां पर उनका पता नहीं चला। इसके बाद पुलिस को पता चला कि भुवनेश्वर में शैलेश के साला का घर है। इसके बाद उक्त इलाके की खोजर खबर पुलिस ने लेनी शुरू कर दी। जांच में पुलिस को पता चला कि तीनों भाई भुवनेश्वर में ही मौजूद हैं। व्यवसायी के साला के घर में प्रवेश करने के लिए पुलिस कर्मियों ने ऑनलाइन डिलिवरी ब्वॉय का रूप अपनाया। कोई बड़ा सामान डिलिवरी करने के बहाने पुलिस कर्मी व्यवसायी के साला के घर में घुसे और तीनों भाइयों को गिरफ्तार कर लिया। लालबाजार के अधिकारी ने बताया कि कोलकाता पुलिस की डीडी की एक और टीम ने अहमदाबाद में छापामारी की। गुप्त सूचना के आधार पर छापामारी कर पुलिस ने शैलेश के साथी प्रसेनजीत दास को गिरफ्तार किया है। पुलिस के अनुसार पांडेय ब्रदर्स की आर्थिक ठगी के मामले में प्रत्यक्ष तौर पर प्रसेनजीत जुड़ा है। पुलिस के अनुसार अभियुक्त प्रसेनजीत दास ने स्ट्रैंड रोड स्थित ऑफिस का रेंट एग्रीमेंट तैयार किया था जिसे बैंक में अकाउंट खोलने के लिए जमा किया गया था। कैनरा बैंक ने प्राथमिक तौर पर इसकी शिकायत दर्ज करायी थी। पुलिस के अनुसार प्रसेनजीत इस तरह के बैंक अकाउंट खोलने के लिए लगातार काम कर रहा था। गिरफ्तार अभियुक्तों को अदालत में पेश करने पर उन्हें 1 नवंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वोटिंग के दिन रोड शो की अनुमति नहीं : ममता

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने गुजरात में चल रही दूसरे फेज की वोटिंग को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए आगे पढ़ें »

जलपाईगुड़ी में बिहार के नंबर की गाड़ी से मिले 93.83 लाख रुपये, 5 गिरफ्तार

जलपाईगुड़ी : जलपाईगुड़ी जिले में एक वाहन में कथित रूप से 93.83 लाख रुपये नकद मिलने के बाद उसमें सवार पांच लोगों को गिरफ्तार कर आगे पढ़ें »

ऊपर