राज्य में जल परियोजना में हुआ टेंडर घोटाला : शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : मवेशी, कोयला व नौकरी के बाद अब राज्य में जल परियोजना में घोटाले का आरोप लगा है। राज्य में ‘टेंडर’ घोटाले को लेकर विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी मुखर हुए हैं। केंद्र की जल परियोजना में स्वजन-पोषण का आरोप लगाते हुए शुभेंदु अधिकारी ने शुक्रवार काे तृणमूल सरकार पर निशाना साधा। निजाम पैलेस में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि ‘फेरुल’ परियोजना में कई सौ करोड़ रुपये का घाेटाला हुआ है। राज्य के मंत्री को इसमें सीधे तौर पर दोषी बताते हुए शुभेंदु अधिकारी ने कहा कि यह घोटाला टूजी, कॉमनवेल्थ की तरह बड़ा घोटाला है। उन्होंने कहा कि इसमें 1,086 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है। उन्होंने कहा कि केंद्र की जल स्वपन परियोजना का नाम बदलकर जल जीवन परियोजना किया गया है। उन्होंने राज्य सरकार पर केंद्रीय परियोजनाओं का नाम बदलने का आरोप भी लगाया। इस मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत को चिट्ठी लिखने की बात भी शुभेंदु ने कही। शुभेंदु अधिकारी ने दावा किया कि केंद्रीय जल जीवन मिशन परियोजना के तहत फेरुल खरीदने के लिए हावड़ा की 3 संस्थाओं को अनुमोदन मिला है। ये तीनों संस्थाएं टेंडर में शामिल हैं। इनमें एक को अयोग्य घोषित किया गया है और बाकी 2 संस्थाओं में टेंडर वितरित किया गया है। इसके बदले उन संस्थाओं से राज्य के मंत्री व उनके करीबियों ने काफी रुपये कटमनी लिये हैं। शुभेंदु ने आरोप लगाया कि कटमनी मिलने की सूची में सरकारी अधिकारी भी शामिल हैं। शुभेंदु ने कहा कि 213 रुपये के फेरुल के अधिक रुपये देकर उसे 570 रु. में खरीदने को बाध्य किया गया। 1 करोड़ 86 लाख घरों में यह फेरुल लगाये गये हैं। अंत में शुभेंदु ने चेतावनी दी कि फेरुल घोटाले की जांच 7 दिनों के अंदर शुरू नहीं हुई तो जनस्वार्थ याचिका करुंगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जलपाईगुड़ी में बिहार के नंबर की गाड़ी से मिले 93.83 लाख रुपये, 5 गिरफ्तार

जलपाईगुड़ी : जलपाईगुड़ी जिले में एक वाहन में कथित रूप से 93.83 लाख रुपये नकद मिलने के बाद उसमें सवार पांच लोगों को गिरफ्तार कर आगे पढ़ें »

एसएसकेएम कांड पर कार्रवाई का निर्देश

काेलकाता : एसएसकेएम कांड पर सीएम ममता बनर्जी ने कड़ी कार्रवाई की बात कही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने सुबह में ही इस मामले आगे पढ़ें »

ऊपर