एसएससी मामले में गिरफ्तार सुबीरेश भट्टचार्य को 10 दिनों की जेल हिरासत

अदालत ने सीबीआई के जांच अधिकारी की लगायी क्लास
जज ने पूछा- क्यों चाहिए सीबीआई हिरासत वजह बताईए
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सोमवार को एसएससी मामले में गिरफ्तार सुबीरेश भट्टाचार्य को अलीपुर कोर्ट स्थ‌ित सीबीआई की विशेष अदालत ने 10 दिनों की जेल हिरासत में भेज दिया। अदालत में सुनवाई के दौरान जज ने सीबीआई के जांच अधिकार‌ियों को बार फटकार लगायी। पहली बार अदालत में देरी से पहुंचने के कारण मजिस्ट्रेट ने सीबीआई अधिकारियों की क्लास ली और दूसरी बार मामले की जांच की गति को लेकर पूछने पर मजिस्ट्रेट ने सीबीआई की क्लास लगा दी। सोमवार को मजिस्ट्रेट शेख कमालुद्दीन की अदालत में मामले की सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई के शुरूआत में ही देरी से अदालत में पहुंचने के कारण जज ने देरी से पहुंचने का कारण पूछा? इसपर सीबीआई के वकील डीएन पांडेय ने अदालत को बताया कि रास्ते में ट्रैफिक जाम होने के कारण उन्हें आने में देरी हुई । ऐसे में जज ने सीबीआई वकील को कहा कि निजाम पैलेस से अलीपुर आने में क्या इतनी देर लगती है। इसके बाद मामले की सुनवाई शुरू हुई। सुबीरेश को अदालत में पेश किया गया। सीबीआई वकील ने सुबीरेश को 4 दिनों की सीबीआई हिरासत में भेजे जोन की मांग की। यह एक वृहत्तर षड्यंत्र का मामला है। एविडेंस का जुगाड़ करना होगा। सुबीरेश का इसमें बड़ी भूमिका है। इसे लेकर मामले में 4 लोगों को
गिरफ्तार किया गया है। इस जज ने सीबीआई के वकील से पूछा कि इस मामले में कौन-कौन व्यक्ति और किस-किस तारीख पर गफ्तिर हुआ है। इस पर सीबीआई वकील ने बताया कि शांति प्रसाद सिन्हा 9 सितंबर, प्रसन्न राय 27 अगस्त और प्रदीप सिंह को 25 अगस्त को गिरफ्तार किया गया है। सीबीआई के वतील ने कहा कि और भी दस्तावेज एकत्रित करने होंगे। इसके पीछे एक बड़ा गिरोह है। इसलिए अभियुक्त को सीबीआई हिरासत में भेजा जाए। अब जज ने सीबीआई के जांच अधिकारी से यह जानना चाहा कि 6 दिन की सीबीआई हिरासत के दौरान मामले की जांच में कितनी प्रगति हुई है। इस दौरान जज मामले की केस डायरी पढ़ रहे थे। जज ने पूछा कि हिरासत के दौरान अभियुक्तों से क्यों पूछताछ नहीं की गयी ? इसपर सीबीआई के वकील ने अदालत को बताया कि जांच अधिकारी किसी और काम में व्यस्त थे। इधर, सुबीरेश के वकील तमाल कांति मुखर्जी एवं रूपराज बनर्जी ने कहा कि सीबीआी ने हिरासत के दौरान उनके मुव्व‌किल से पूछताच नहीं की । मामले की जाचं में कोई प्रगति नहीं हुई है। इसके बाद जज ने सीबीआई के वकील से पूछा कि आप क्यों 4 दिनों की पुलिस हिरासत की मांग कर रहे हैं। कोर्ट को अप मांग को लेकर सैटीसफाईकिजिए। मुझे कुछ भी केस डायरी में नहीं दिख रहा है। बाद में दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने अभियुक्तों को 10 दिनों की जेल हिरासत में भेज दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हथियारों की तस्करी के आराेप में दो अभियुक्त गिरफ्तार

दक्षिण 24 परगना : बारुईपुर थानांतर्गत बेगमपुर दूसो कॉलोनी इलाके में सोमवार की रात हथियारों की तस्करी के आरोप में पुलिस ने दो अ‌भियुक्तों को आगे पढ़ें »

रानाघाट में पड़ोसी महिला ने युवक को मारा चाकू

नदिया : रानाघाट थाने की पुलिस ने तारापुर निवासी गृहवधू मामन विश्वास को पड़ोसी युवक सुबोध विश्वास को चाकू मारकर घायल कर देने के आरोप आगे पढ़ें »

ऊपर