राज्यभर में डेंगू से मरने वालों की संख्या 11

विधानसभा में ममता ने कहा, ठंड बढ़ेगी डेंगू कम होगा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पिछले कई दिनों से राज्यभर में डेंगू के मामलों ने सरकार की नींद हराम कर दी है। डेंगू पर रोकथाम के लिए रोजाना बैठके होती है, दिशा-निर्देश दिये जाते है। कोलकाता नगर निगम से लेकर विधानसभा तक में डेंगू की स्थिति पर विपक्ष ने जमकर हो-हल्ला मचाया। इस बीच बुधवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने डेंगू की स्थिति पर अपनी प्रतिक्रिया दी। विधानसभा के भीतर मुख्यमंत्री ने बताया कि इस साल डेंगू से मरने वालों की संख्या 11 हैं जिसमें सरकारी अस्पताल में 6 तथा गैर सरकारी अस्पताल में 5 लोगों की मौत हुई हैं। डेंगू से मरने वालों के ये आकंड़े बताने के साथ ही ममता ने कहा कि प्राकृतिक कारणों से डेंगू बढ़ता है। ठंड बढ़ते ही मामले कम होंगे। सरकार स्थिति पर नियंत्रण कर रही है। मौजूदा समय में काफी हद तक स्थिति नियंत्रित भी है।
ममता ने कहा कि एक समय था ​जब डेंगू के मामले 11 हजार तक पहुंच जाते थे। आज यह संख्या सिमट कर 500 पर आ गयी है। कोलकाता, हावड़ा, उत्तर 24 परगना, हुगली तथा सिलीगुड़ी में डेंगू के अधिक मामले देखे गये है। सरकारी आंकड़ों को लेकर मुख्यमंत्री ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों को मानते हुए ही डेंगू के तथ्यों को पोर्टल में नहीं दिया जा रहा है। मालूम हो कि हाल में मुख्यमंत्री ने डेंगू पर प्रशासनिक बैठक भी थी जिसमें समस्त अस्पतालों को दिशा-निर्देश दिया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जरूरत को समझते हुए सभी वर्ग के लोगों के लिए परियोजना शुरू की गयी – शशि

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य की नारी कल्याण व बाल विकास मामलों की मंत्री डॉ. शशि पांजा ने सोमवार को विधानसभा में विपक्षी विधायक अशोक लाहिड़ी आगे पढ़ें »

कुणाल घोष ने नेता मिथुन चक्रवर्ती को बताया बंगाल का कलंक

महिषादल : जिस प्रकार शुभेन्दु अधिकारी बंगाल में सत्ताधारी टीएमसी नेताओं पर लगातार आरोपों की बौछार कर रहे हैं। ठीक उसी प्रकार टीएमसी के नेता आगे पढ़ें »

ऊपर