सियालदह में मकान की सीढ़ी ढही, फंसे 5 लोगों का किया गया उद्धार

दमकल कर्मियों ने लैडर के जरिए पालतू कुत्ते को भी बचाया
मंत्री डॉ. शश‌ि पांजा और पुलिस कमिश्नर ने किया घटनास्थल का दौरा
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सियालदह के पूरबी सिनेमा हॉल के निकट एक जर्जर मकान का हिस्सा ढह गया। तीन मंजिले मकान की सीढ़ी ढहने से उसके अंदर एक परिवार के 5 लोग फंस गए। लोगों के फंसे होने की खबर पाकर मौके पहुंचे दमकल और डीएमजी कर्मियों ने उनका उद्धार किया। घटना मोचीपाड़ा थानांतर्गत महात्मा गांधी रोड की है। घटना की सूचना पाकर मौके पर राज्य की उद्योग व महिला व शिशु कल्याण मंत्री डॉ. शशि पांजा, कोलकाता पुलिस कमिश्नर विनीत गोयल पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया। मकान में परिवार के सदस्यों के अलावा एक पालतू कुत्ता भी था। उसे भी दमकल के लैडर की सहायता से उद्धार किया गया।
क्या है पूरा मामला
जानकारी के अनुसार सोमवार की दोपहर महात्मा गांधी रोड पर पूरबी सिनेमा हॉल के निकट स्थित एक पुराने मकान के दूसरे तल्ले की सीढ़ी अचानक ढह गयी। सीढ़ी ढहने से मकान के तीसरे तल्ले पर रहनेवाले एक परिवार के 5 सदस्य फंस गए। परिवार के लोगों ने फोन कर पुलिस से मदद मांगी। मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल कर्मियों ने उनका उद्धार किया। दमकल कर्मियों ने मकान के पीछे लैडर लगाकर मकान के अंदर फंसे 5 लोगों को बाहर निकाला। उद्धार किए गए लोगों में एक वृद्धा भी शामिल है। मकान में रहनेवाले वाले लोगों का आरोप है कि पुराने मकान की मरम्मत नहीं होने के कारण यह दुर्घटना घटी है। मकान से उद्धार किए गए सोहम दास ने बताया कि सोमवार को उसका जन्मदिन था। वह दोपहर साढ़े 12 बजे जब नहाने के लिए तीसरे तल्ले के अपने कमरे से नीचे उतर रहा था तभी अचानक सीढ़ी ढह गयी। इसके कारण वह मकान की सीढ़ी पर फंस गया। इसके बाद मैंने मां को चिल्लाकर घटना की जानकारी दी। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल कर्मियों ने हम लोगों का उद्धार किया। वहीं सोहम की मां डालिया दास ने बताया कि बगल में नयी बिल्ड‌िंग के निर्माण का काम चल रहा है। इसके कारण ही यह हादसा हुआ है। पुराने मकान और सीढ़ी के कारण हालत जर्जर है। मेरे बेटे का जन्मदिन आज है। वह नहाने के लिए जा रहा था। मैं भोजन तैयार कर रही थी तभी सीढ़ी ढह गयी। राज्य की मंत्री डॉ. शश‌ि पांजा घटनास्थल पर पहुंचीं और स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने वर्तमान मकान मालिक से बातचीत की। मंत्री डॉ. शश‌ि पांजा ने बताया कि वर्ष 2016 में मकान को नगरनिगम की ओर से खतरनाक घोषित किया गया था। मकान में रहने वाले लोगों के लिए अस्थायी व्यवस्था की जा रही है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रेडियो के जरिए लोगों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक कर रही है कोलकाता पुलिस

अगले दो महीने तक रेडियो पर चलेगा विज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता पुलिस के साइबर सेल की ओर से महानगर में विभिन्न तरह के साइबर क्राइम आगे पढ़ें »

इन 5 मौकों पर घर में कभी नहीं बनानी चाहिए रोटी, टूट पड़ता है दुखों का पहाड़

कोलकाता : आपने एकादशी पर अक्षत यानी चावल न बनाने के शास्त्रीय नियमों के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन क्या आपको पता है आगे पढ़ें »

ऊपर