तो क्या कोविड पैंडेमिक एब एंडेमिक की ओर!

हेल्थ एक्सपर्ट में बना चर्चा का विषय
संदीप त्रिपाठी
कोलकाताः यूरोप सहित कई देश जैसे स्पेन में कोविड-19 महामारी को अब एक एंडेमिक यानी स्थानिक बीमारी के तौर पर लिए जाने पर विचार चल रहा है। हालांकि विश्व स्वास्थ्य संगठन और अन्य अधिकारियों ने इसे लेकर चेतावनी दी है। डब्ल्यूएचओ का कहना है कि दुनिया को कोविड महामारी के खत्म होने की घोषणा करने में जल्दबाजी नहीं दिखानी चाहिए। इसके लिए अभी और समय है। एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सर्विस डॉक्टर्स फोरम (एएचएसडी) पश्चिम बंगाल के डॉ. ए.के सिंह ने कहा कि यह सही है ‌कि कोविड महामारी बड़ी चुनौती के रूप में आई। ऐसे में हमें और जिम्मेवार बनना होगा। एसोसिएशन ऑफ हेल्थ सर्विस डॉक्टर्स (एएचएसडी), वेस्ट बंगाल के महासचिव डॉ. मानस गुमटा ने कहा कि संगठन की ओर से कोविड काल के पहले से ही अनेक जागरूकता कार्यक्रम जनहित में किए जा रहे हैं। अब भी यह कहना जल्दबाजी होगी कि कोविड एंडेमिक की ओर है। हालांकि इसका प्रभाव कम हुआ है। एक सत्र में परंजय गुहा ठाकुरता, प्रो. अनूप राय, डॉ. संजय राय, जयती घोष, पार्थ मजुमदार व अन्य ने भी विचार रखा व कोविड को लेकर अब भी जागरूक रहने की अपील की।
वरिष्ठ फीजिशियन डॉ.एस.के.अग्रवाल ने कहा कि कोविड का असर धीरे-धीरे कम होगा। हालांकि हमें कम से कम एक साल तक विशेष सतर्कता बरतनी होगी।
डॉ.सुष्मिता रॉय चौधरी, पल्मोनोलॉजी, फोर्टिस अस्पताल ने कहा कि “स्थानिक बनाम महामारी महामारी विज्ञानियों द्वारा उपयोग और परिभाषित किए जाने वाले शब्द हैं। हमें क्या याद रखना चाहिए कि वायरस स्नेह में थोड़ा हल्का होने के बावजूद अत्यधिक संचरित रहता है, जिससे जीवन के लिए जोखिम वाले व्यक्तियों को गंभीर नुकसान हो सकता है। इसलिए हमें कम से कम अगले 6 महीनों के लिए और अधिक सतर्क रहना चाहिए और उचित रूप से मास्क लगाना जारी रखना चाहिए। टीकाकरण करना चाहिए।”
मरीजों की भर्ती में कमी, आईसीयू अब भी फुल
अरिंदम बनर्जी, अस्पताल निदेशक, मणिपाल अस्पताल, साल्टलेक ने कहा कि आईसीयू बेड भरे हुए हैं। वार्ड बेड अस्पताल में उपलब्ध हैं। हालांकि 10 दिनों पहले की स्थिति में अब मरीजों की भर्ती की संख्या घटकर 2-3 प्रति दिन हो गई है। इससे साफ है कि कोविड के मामले काफी हद तक नियंत्रण में आ रहे हैं। हाल के दिनों में कोविड के मामले (जनवरी 2022)
तिथि-एक दिन में मामले
15-19,064
18-10,430
20-10,959
21-9,154
22-9,191
23-6,980
(नोट-आंकड़े स्वास्थ्य व परिवार कल्याण विभाग, पश्चिम बंगाल सरकार)

शेयर करें

मुख्य समाचार

महापंचमी से लेकर विजय दशमी तक मेट्रो में 39.2 लाख यात्री हुए सवार

कोलकाता : दुर्गापूजा पर इस बार यानी कोविड के दो सालों के बाद 39,20,789 यात्रियों ने सफर किया। यह फुटफाल महापंचमी से लेकर विजयदशमी तक आगे पढ़ें »

दुर्गापुर में झूला से गिरकर किशोरी हुई घायल

दुर्गापुर: दुर्गापुर थाना क्षेत्र अंतर्गत भिरंगी मोड़ स्थित नबारुण द्वारा आयोजित दुर्गापूजा मेला में झूला से गिरकर एक किशोरी बुरी तरह जख्मी हो गई।वहीं जख्मी आगे पढ़ें »

ऊपर