लगातार ताकत बढ़ा रहा है ‘सितरांग’, काली पूजा के दिन ही डाल सकता है रंग में भंग

आ​ज गहरे निम्न दबाव में बदलने के बाद कल आ सकता है चक्रवात
हवा की अधिकतम स्पीड हो सकती है 110 कि.मी. प्रति घण्टे तक
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : प्रति घण्टे 40 कि.मी. की रफ्तार से ​‘सितरांग’ अपनी ताकत लगातार बढ़ा रहा है। जल्द ही यह चक्रवात में बदल जायेगा जिस कारण काली पूजा के दिन यानी 24 अक्टूबर से ही दक्षिण बंगाल में भारी से अति भारी बारिश की सतर्कता मौसम विभाग की ओर से जारी की गयी है। चक्रवात ‘सितरांग’ की गतिविधियों पर पूरी नजर रखी जा रही है। मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि दक्षिण-पूर्व बंगोपसागर से निम्न दबाव क्रमशः उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ रहा है। फिलहाल इसकी स्पीड घण्टे में 40 कि.मी. है। उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ते हुए यह निम्न दबाव आज यानी रविवार की सुबह तक गहरे निम्न दबाव में बदल जायेगा। इसके बाद यह गहरा निम्न दबाव सागर की ओर बढ़ सकता है। बताया गया कि आगे और उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ते हुए सोमवार की सुबह गहरा निम्न दबाव गंभीर चक्रवात में बदल जायेगा। इस दौरान हवा की स्पीड 90-100 और अधिकतम स्पीड 110 कि.मी. प्रति घण्टे तक पहुंच सकती है। इसके बाद मंगलवार की सुबह यह चक्रवात उत्तर-उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ते हुए तिनकोना आईलैंड और संद्वीप के बीच बांग्लादेश तट को पार करेगा। उत्तर अंडमान सागर में निम्न दबाव गहरे चक्रवात में बदल जायेगा। बंगाल में कब, कहां व क्या प्रभाव होगा ? मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि चक्रवात सितरांग क्रमशः उत्तर व उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ेगा। मंगलवार की सुबह यह तिनकोना द्वीप व सन द्वीप के पास बांग्लादेश उपकूल में टकरायेगा। चक्रवात की स्पीड घण्टे में 60 से 70 कि.मी. तक हो सकती है। सितरांग के प्रभाव से बांग्लादेश उपकूल में सर्वोच्च 80 कि.मी. की स्पीड से हवाएं बह सकती हैं।
इस दिन हो सकती है भारी बारिश
24 व 25 तारीख को चक्रवात के कारण भारी से अति भारी बारिश उत्तर व दक्षिण 24 परगना के कुछ इलाकों में हो सकती है। वहीं काली पूजा के दिन पूर्व व पश्चिम मिदनापुर में भारी बारिश की संभावना मौसम विभाग ने जतायी है। मंगलवार को दोनों 24 परगना व पूर्व मिदनापुर में भारी बारिश हो सकती है। वहीं सोमवार व मंगलवार को कोलकाता व आस-पास के इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। इस दौरान दक्षिण बंगाल के बाकी जिलों में भी बारिश की संभावना है। बताया गया कि सोमवार से हवा की स्पीड बढ़ेगी। इस दिन हवा की स्पीड प्रति घण्टे 70 से 80 कि.मी. व सर्वोच्च स्पीड प्रति घण्टे 90 कि. मी. तक हो सकती है।
अमावस्या ने और बढ़ायी चिंता
सितरांग के कारण समुद्र की लहरें उफान पर होने की आशंका है। अमावस्या व सूर्य ग्रहण रहने के कारण इस चक्रवात के बीच समुद्र की लहरें और उफान पर आ सकती हैं। इस कारण बंगाल के सुंदरवन अंचल को सबसे अधिक क्षति पहुंचने की आशंका है।
प्रशासन ने की तैयारी
चक्रवात ‘सितरांग’ से निपटने के लिए प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है। 28 मोबाइल ट्रीटमेंट यूनिट तैयार किये गये हैं। इसके अलावा 10 आईएएस अधिकारियों द्वारा कंट्रोल रूम से नजर रखी जायेगी। इसके साथ ही संबंधित विभागों के कर्मचारियों की छुट्टियां रद्द कर दी गयी हैं।
मछुआरों को दी गयी चेतावनी
पश्चिम मध्य व संलग्न ईस्ट सेंट्रल बंगाल की खाड़ी पर चक्रवात को देखते हुए आज यानी रविवार से ही मछुआरों को समुद्र में न जाने की सलाह दी गयी है। गहरे समुद्र में जो मछुआरे गये हैं, उन्हें शनिवार की रात तक वापस लौटने की सलाह दी गयी। 25 तारीख तक सामुद्रिक गतिविधियां स्थ​गित कर दी गयी हैं।
यह भी दी गयी सलाह
* सुंदरवन इलाके में 25 तारीख तक फेरी सेवाओं पर पाबंदी की जाये।
* दीघा, मंदारमणि, शंकरपुर, बक्खाली व सागर आदि जैसे समुद्री इलाकों में पर्यटन गतिविधियां 25 तारीख तक बंद रखी जायें

शेयर करें

मुख्य समाचार

लालू यादव का सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट सफल, बेटी रोहणी ने की डोनेट

सिंगापुर : पूर्व रेल मंत्री, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव सिंगापुर में किडनी ट्रांसप्लांट कराने के आगे पढ़ें »

संसद में अचानक महिला एमपी को पीटने लगा विपक्षी दल का सांसद

नई दिल्ली : किसी भी देश की संसद में नेताओं को एक दूसरे से बहसबाजी करते हुए अक्सर देखा जाता है। लेकिन सदन में एक आगे पढ़ें »

ऊपर