अनुव्रत मंडल व इनामुल के बीच मिडिल मैन थे सहगल, नया खुलासा

मुख्य बातें
निजाम पैलेस में अनुव्रत से और आसनसोल जेल में सहगल से सीबीआई ने की पूछताछ
सीबीआई कर रही है पूछताछ
सीबीआई की चार्जशीट में अनुव्रत का नाम
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : सीबीआई की कार्रवाई लगातार जारी है। नये-नये राज अब खुल रहे हैं। निजाम पैलेस स्थित सीबीआई कार्यालय में सीबीआई की टीम अनुव्रत मंडल से मैराथन पूछताछ कर रही है। वहीं दूसरी ओर सीबीआई की एक और टीम आसनसोल स्थित जेल में बंद मंडल के बाॅडीगार्ड से पूछताछ की। सूत्रों के मुताबिक मवेशी तस्करी में अनुव्रत और इनामुल के बीच सहगल हुसैन मिडिल मैन की भूमिका निभा रहे थे। यही नहीं कैसे रुपये अनुव्रत तक पहुंचाये गये, इस बारे में भी अनुव्रत के बॉडीगार्ड से सीबीआई की टीम ने पूछताछ की। दोनों से सीबीआई की अलग-अलग टीम दिन भर पूछताछ करती रही। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई को कई सवाल के जवाब चाहिए जिसमें सहगल और इनामुल ने वर्ष 2017 के अगस्त में सबसे अधिक बार बात की थी। सितंबर में दोनों ने एक-दूसरे को 8 बार फोन किया। सहगल और इनामुल ने कई बार फोन पर बात की। उस दौरान ही सबसे अधिक मवेशी तस्करी के संबंध में दोनों के बीच बातचीत हुई थी।
कुछ रिकाॅर्डिंग भी सीबीआई के हाथ लगी है
छापामारी के दौरान कुछ दस्तावेजों की जांच व कुछ कॉल डिटेल्स खंगालने पर नया खुलासा किया जा रहा है। सीबीआई की टीम ने मोबाइल सेवा प्रदाता कंपनियों से भी कुछ रिकॉर्डिंग मंगवायी है। सहगल हुसैन मवेशी तस्करी मामले के अभियुक्त इनामुल हक से नियमित रूप से बात करते थे। जांचकर्ताओं के सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई को फोन कॉल रिकॉर्ड के जरिए इस बात का पता चला है कि सहगल के जरिए तृणमूल के बीरभूम जिलाध्यक्ष उसके संपर्क में थे। उन्होंने दावा किया है कि संभवत: सहगल के जरिए मवेशी तस्करों से संपर्क रखा गया था। सहगल ने कई बार बात करवाया भी है। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई को इस बात के भी सबूत मिले हैं कि सहगल इनामुल के संपर्क में था। सीबीआई सूत्रों के मुताबिक जून से सितंबर 2017 के बीच सहगल और इनामुल के बीच 16 बार फोन पर बातचीत हुई थी। सीबीआई का दावा है कि सहगल और उसके परिवार के नाम पर 59 संपत्तियों की जानकारी मिली है। वर्ष 2015 से 2020 के बीच मंडल ने बोलपुर, बिधाननगर, राजारहाट, सिउरी, डोमकल में खरीदा गया था। इसे अतिरिक्त जिला उप पंजीयक (एडीएसआर) कार्यालय में भी पंजीकृत किया गया है। उस संपत्ति की अनुमानित कीमत 4 करोड़ रुपये से ज्यादा है। सहगल का एक पेट्रोल पंप भी है जिसका नाम परिवार के एक सदस्य के नाम पर रखा गया है। लाखों रुपये की कारें भी हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

कांथी में जवाबी सभा कर सकते हैं शुभेंदु

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कांथी में अ​भिषेक बनर्जी के जवाब में विपक्ष के नेता शुभेंदु ​अधिकारी जवाबी सभा करना चाहते हैं। प्रदेश भाजपा सूत्रों ने बताया आगे पढ़ें »

एसएससी : 21 हजार पदों पर नियुक्ति में घपले का खुलासा

सीबीआई की नयी सिट के प्रमुख ने कहा कोर्ट में सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : स्कूलों में ग्रुप डी के पदों पर नियुक्ति घोटाले के एक मामले की आगे पढ़ें »

ऊपर