प्रति घंटा 10 रुपये खर्च कर हावड़ा स्टेशन पर एसी रूम में रहता था सत्येन्द्र !

हावड़ा स्टेशन के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई तस्वीर
हाफ पैंट, शर्ट और कंधे पर बैग लिए स्टेशन कॉरिडोर में घूमता दिखा अभियुक्त
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बागुईआटी डबल मर्डर केस में फरार मुख्य अभियुक्त सत्येन्द्र चौधरी को शुक्रवार की सुबह हावड़ा स्टेशन के निकट से विधाननगर पुलिस के डीडी की टीम ने गिरफ्तार किया। शुक्रवार को ही उसे अदालत में पेश किया गया जहां से उसे 14 दिनों के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। सीएम ने मामले की जांच सीआईडी को करने के लिए कहा था, इसलिए अब अभियुक्त सीआईडी की हिरासत में है। सीआईडी अधिकारी ही अभियुक्त से पूछताछ कर हत्या के कारण का पता लगाने की कोशिश करेंगे। सत्येन्द्र की गिरफ्तारी के बाद हावड़ा स्टेशन पर उसके घूमने के सीसीटीवी फुटेज सामने आये हैं। सीसीटीवी फुटेज में देखा जा रहा है कि वह कंधे पर बैग और हाफ पैंट पहनकर कॉरिडोर में धीरे-धीरे चल रहा है। उसने चेहरे को मास्क से ढक रखा था। पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए वह भागते फिर रहा है ऐसा कोई भी प्रमाण सीसीटीवी कैमरे में कैद फुटेज से साफ नहीं हो रहा है। सूत्रों के अनुसार सत्येन्द्र को पकड़ने के लिए कई जगहों पर पुलिस ने जाल ब‌िछाया था। उसके फोन के टॉवर लोकेशन को ट्रैक किया जा रहा था। पुलिस का अनुमान था कि सत्येन्द्र भले जहां भी भाग जाए लेकिन रुपये खत्म होने पर वह अपने किसी रिश्तेदार को जरूर फोन करेगा। पुलिस के अनुसार शुक्रवार की सुबह हावड़ा स्टेशन पर ऐसी ही घटना घटी। पुलिस सूत्रों के अनुसार विभिन्न जगह भागने के बाद भी प्रति घंटा 10 रुपये खर्च कर सत्येन्द्र हावड़ा स्टेशन पर बने एयर कंडीशन यात्री प्रतिक्षालय में रात बिताता था। शुक्रवार की सुबह नींद टूटने पर वह मुंबई भागने का प्लान बनाने लगा। इसकी तस्वीर भी स्टेशन के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है। फुटेज में देखा जा रहा है कि सत्येन्द्र यात्री प्रतिक्षालय से बाहर निकल रहा है। प्रतिक्षालय के सीसीटीवी फुटेज में देखा गया कि सत्येन्द्र पैदल ही कहीं गया और थोड़ी देर बाद वापस लौटा। इस दौरान उसके चेहरे पर मास्क, कंधे पर बैग और हाथ में भी कोई सामान था। पुलिस के अनुसार उस समय सत्येन्द्र भागने के लिए यात्री प्रतिक्षालय से बाहर निकलकर गंगा किनारे स्थित एक प्राइवेट बुकिंग काउंटर पर गया था। वहां पर मौजूद कर्मी से उसने पूछा कि मुंबई जाने के लिए कौन-कौन सी ट्रेन है।
मोबाइल फोन ऑन करते ही पुलिस पहुंची अभियुक्त तक
पुलिस सूत्रों के अनुसार सत्येन्द्र ने इस दौरान काउंटर के कर्मी का मोबाइल फोन इस्तेमाल करने के लिए मांगा। सत्येन्द्र ने उसे कहा कि उसका मोबाइल फोन चार्ज नहीं है। हालांकि टिकट काउंटर के कर्मी ने उसे फोन नहीं दिया। बाद में उसी काउंटर पर खड़ा होकर सत्येन्द्र ने अपना मोबाइल फोन चार्ज करना शुरू किया। सत्येन्द्र द्वारा मोबाइल फोन ऑन करते ही विधाननगर डीडी के अधिकारियों के पास सिग्नल पहुंच गया। इसके कुछ देर बाद ही पुलिस वहां पहुंच गयी। दुकान के बाहर खड़ा होकर पुलिस ने सत्येन्द्र के मोबाइल पर फोन किया। दुकान के अंदर मोबाइल फोन बजने लगा। ऐसे में पुलिस सु‍निश्च‌ित हो गयी कि जिस व्यक्ति के हाथ में मोबाइल है वह सत्येन्द्र ही है। पुलिस ने उसे तुरंत गिरफ्तार कर लिया। पुलिस सूत्रों के अनुसार किसी को उस पर संदेह न हो इसलिए सत्येन्द्र ने अपना हुलिया बदल लिया था। इसका प्रमाण सीसीसटीवी कैमरे से भी मिला है। वह भोजपुरी मिश्र‌ित हिन्दी भाषा में लोगों से बातचीत करता था। 18 दिन तक एक शातिर अपराधी की तरह छिपने के बाद भी वह भागने में सफल नहीं रहा। फिलहाल सीआईडी अधिकारी अभियुक्त से पूछताछ कर मामले की जांच कर रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

…राशन दुकानों में बिकेगी शराब, डीलरों ने लिखा पत्र

कोलकाता : राशन डीलरों के संघ ने केंद्र को पत्र लिखकर राशन की दुकानों में शराब बेचने की अनुमति मांगी है। यह पत्र खाद्य एवं आगे पढ़ें »

पूर्व मंत्री के कहने पर ही होती थीं नियुक्तियां, सीबीआई को सुबिरेश का विस्फोटक बयान

कुछ और लोगों के बारे में सीबीआई को सुराग मिला सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पूर्व मंत्री के कहने पर ही नियुक्तियां होती थीं। इसके लिए उनके करीबी आगे पढ़ें »

ऊपर