विधानसभा में हंगामा : भाजपा को टक्कर देने के लिए सत्ता पक्ष ने की नारेबाजी

‘तृणमूल सोबाय चोर’ चिल्लाते हुए विपक्ष ने किया वॉकआउट
सत्ताधारी विधायकों ने शुभेन्दु को घेरा, डॉन्ट टच माई बॉडी के पोस्टर लेकर लगाया विधानसभा का चक्कर
नियुक्ति प्रक्रिया और भ्रष्टाचार पर चर्चा नहीं होने पर बिगड़ा मामला
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विधानसभा के दूसरे दिन सदन में जमकर हंगामा किया गया। भाजपा के विधायकों ने सदन के भीतर ‘तृणमूल सोबाय चोर’ की जबरदस्त नारेबाजी की तो सत्तापक्ष के विधायक भी पीछे नहीं रहे। तृणमूल के विधायक भी डॉन्ट टच माई बॉडी के पोस्टर के साथ शुभेन्दु के खिलाफ जमकर नारा दिया। विधानसभा के स्पीकर विमान बनर्जी के बार-बार कहने के बावजूद दोनों पक्ष शांत नहीं हुए और आखिरकार स्पीकर कुर्सी छोड़कर चले गये और ‘चोर-चोर तृणमूल चोर’ का नारा देते हुए भाजपा ने सदन से वॉकआउट किया। मामला यहीं शांत नहीं हुआ, भाजपा के विधायकों ने विरोधी दल के नेता शुभेन्दु अधिकारी के नेतृत्व में विधानसभा के परिसर में नारेबाजी करते हुए तृणमूल सरकार को निशाने पर लिया। इसी दौरान तृणमूल के विधायकों ने भी डॉन्ट टच माई बॉडी के पोस्टर लेकर विधानसभा परिसर में गोल चक्कर लगाते हुए नारेबाजी कर प्रदर्शन किया।
पोस्टर वॉर में तब्दील हुआ विधानसभा
विधानसभा के इतिहास में पहली बार पोस्टर वॉर जैसा माहौल दिखाई दिया। विपक्ष और सत्ता दोनों ही पार्टी की तरफ से सदन के भीतर और बाहर पोस्टर लेकर नारेबाजी की गयी। दोनों पार्टियां एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाती रहीं, जबकि स्पीकर दोनों दलों को ही सदन के भीतर बैठने का निर्देश दे रहे थे मगर किसी ने उनकी एक न सुनी।
भ्रष्ट और चोर है तृणमूल : शुभेन्दु
विरोधी दल के नेता व भाजपा विधायक शुभेन्दु अधिकारी ने कहा कि तृणमूल में हर कोई चोर है। ममता बनर्जी से लेकर अभिषेक बनर्जी तक चोर हैं। पार्थ चट​र्जी और अनुव्रत मंडल भ्रष्टाचार के उदाहरण हैं जिन्हें सलाखों के पीछे डाला गया है। शुभेन्दु ने आरोप लगाया कि पार्टी के ज्यादातर नेता चोर हैं जो जनता का पैसा लेकर अपनी जेब गरम किये हैं। वहीं विधायक अग्निमित्रा पॉल ने कहा कि जब पार्टी के मुखिया ही चोर हैं तो पूरी पार्टी के बाकी नेता भी चोरी क्यों न करें। राज्य में शासन के नाम पर सिर्फ भ्रष्टाचार का जाल फैला रखा है तृणमूल सरकार ने।
मामला कोर्ट में है तो चर्चा क्यों, शुभेन्दु को महिला ने छुआ तो आपत्ति क्यों : तृणमूल
बंगाल प्रदेश भाजपा में शुभेन्दु अधिकारी और केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए तृणमूल के विधायकों ने नारेबाजी की। राज्य की मंत्री डॉ. श​शि पांजा ने कहा कि भाजपा द्वारा स्पीकर विमान बनर्जी के सम्मुख नियुक्ति प्रणाली पर चर्चा की मांग ही फिजूल थी जबकि उन्हें भी पता है कि पूरा मामला कोर्ट में विधाराधीन है। ऐसी स्थिति में स्पीकर ने अगर उनके इस प्रस्ताव को खारिज किया तो गलत नहीं किया। वहीं भाजपा के नवान्न अभियान के दिन जिस तरीके से शुभेन्दु ने महिला पुलिस को लेकर कहा कि डॉन्ट टच माई बॉडी वह उचित नहीं था। पुलिस अपना काम कर रही थी जबकि शुभेन्दु को तो राज्य की महिलाओं को मां दुर्गा के रूप में देखना चाहिए। उनका यह रवैया बताता है कि महिलाओं को लेकर उनकी सोच कितनी छोटी है।
नियुक्ति और भ्रष्टाचार पर भाजपा के मुल्तवी प्रस्ताव को स्पीकर ने नकारा
गुरुवार को विधानसभा के अंदर-बाहर जो हंगामा बरपा उसके पीछे भाजपा का मुल्तवी प्रस्ताव था जिसे अध्यक्ष ने खारिज कर दिया। दरअसल विपक्ष ने एसएससी नियुक्ति प्रक्रिया समेत बाकी नियुक्ति पर चर्चा करने के लिए प्रस्ताव दिया जिसे अध्यक्ष ने यह कह कर खारिज कर दिया कि मामला कोर्ट में विचाराधीन है इसलिए इस मुद्दे पर चर्चा नहीं कर सकते हैं। इतना सुनने के बाद ही भाजपा ने हंगामा शुरू कर दिया जिसे देख सत्ता पक्ष भी पीछे न रहा और नारेबाजी शुरू कर दी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सप्तमी पर महानगर में ट्रैफिक व्यवस्था हुई प्रभावित

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महासप्तमी के अवसर पर रविवार को महानगर की सड़कों पर लोगों की भारी भीड़ उमड़ी। पूजा पंडाल घूमने के लिए लोगों की आगे पढ़ें »

पार्थ के खिलाफ दाखिल चार्जशीट का तकनीकी रोड़ा

अभी इंतजार है राज्य सरकार की अनुमति का सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : टीचर नियुक्ति घोटाले में सीबीआई की तरफ से पहली चार्जशीट अलीपुर के सीबीआई कोर्ट में आगे पढ़ें »

ऊपर