रामपुरहाट हिंसाः दास्तां सुनाते हुए सीबीआई के सामने राे पड़ीं घायल महिलाएं

डीआईजी ने खुद सम्भाली कमान, अनारुल से समेत 4 अभियुक्तों से घंटों पूछताछ
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता / रामपुरहाट : बहुचर्चित रामपुरहाट हिंसा की छानबीन में रविवार काफी महत्वपूर्ण रहा। इस दिन गवाहों का बयान रिकॉर्ड करना शुरू हो गया। इसके साथ ही जिस पर सभी की निगाहें हैं उस अनारुल हुसैन से शुरू कर 3 अन्य अभियुक्तों से भी घंटों पूछताछ हुई। इसके साथ ही सीबीआई ने घटनास्थल के निकट से धारदार हथियार भी जब्त किया है, सम्भवत: इसका उपयोग इस नरसंहार में किया गया था।
रविवार को सीबीआई की पहली टीम अस्पताल पहुंची और गवाहों का बयान लेने के लिए सुपर से मुलाक़ात की। आरोप है कि सुपर द्वारा आनाकानी करने पर डीआईजी, सीबीआई, अखिलेश कुमार सिंह को खुद रामपुरहाट अस्पताल पहुँचना पड़ा। यहां पर भर्ती तीन पीड़ित महिलाओं सहित एक बच्चे का इलाज चल रहा है। सर्वप्रथम डॉक्टरों से उनकी सेहत के बारे में जानने के बाद उन तीनों महिलाओं का बयान रिकॉर्ड किया गया। वहीं दूसरी टीम घटना स्थल पर गयी और नमूने संग्रह किए तथा तीसरी टीम अनारूल हुसैन से दिन भर पूछताछ करती रही।
सीबीआई अधिकारियों के सामने इन पीड़ित महिलाओं ने बताया उस रात का सच
सीबीआई सूत्रों की माने तो ये तीनों चश्मदीद गवाह है जो कि उस रात हुई घटना के भुक्तभोगी भी हैं। इनके ज़ख़्म अभी भी हरे हैं, जहां अब इनकी सिर्फ़ और सिर्फ़ इंसाफ़ की मांग है। अधिकारियों में डीआईजी के अलावा 3 महिला अधिकारी भी साथ थी। इस दौरान उनसे उस रात क्या हुआ था, इस बारे में जानकारी ली गई। घटना की भयावहता बताते – बताते वे महिलाएं फफक – फ़फक कर रोने लगी। सीबीआई अधिकारी इसके बाद उन्हें न्याय मिलेगा कह कर फिर से सवाल करने शुरू किए।
पीड़ितों से पूछा कौन हो सकता है इसका साज़िशकर्ता
उनसे इस मामले में और कई सवाल किए गए। इन सवालों में घटना कितने बजे घटी, उस दौरान वहां पर इन लोगों ने किन – किन लोगों को देखा ? उन्हें अस्पताल पहुंचाने वाले कौन थे तथा इसके बाद जब उन्हें पूरी घटना की जानकारी अगले दिन मिली कि इसमें 8 लोगों की मौत हो गयी है, इसके बाद इनलोग़ों ने क्या किया? उनसे वहां कौन – कौन लोग मिलने आए थे । इस बारे में भी पूछताछ की गयी। सीबीआई सूत्रों ने बताया कि काफ़ी जानकारी मिली है, फ़िलहाल इनका इलाज चल रहा है, इसलिए थोड़ी देर इनका बयान लिया गया। फिर से इनसे और अधिक जानकारी ली जाएगी।
आज अन्य पीड़ित परिवारों का बयान लिया जाएगा
सीबीआई के एक अधिकारी ने बताया कि हम हिंसा में घायल होने के बाद अस्पताल में इलाज करा रही महिलाओं से उनका बयान लेने गए थे। हम बोगतुई गांव में स्थानीय लोगों से भी बातचीत करेंगे। केंद्रीय फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के कर्मी अपनी जांच जारी रखेंगे। अधिकारी ने कहा कि ग्रामीणों की एक सूची तैयार कर ली गई है, ताकि हमारे अधिकारी उनसे बात कर सकें। हमने प्रशासन से उन लोगों का पता लगाने का अनुरोध किया है, जो गांव से भाग गए हैं।
दमकल अधिकारियों से भी होगी पूछताछ
उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसी के अधिकारी दमकल अधिकारियों से भी बातचीत करेंगे, ताकि यह पता लगाया जा सके कि उस रात क्या हुआ था। दमकल पर आरोप क्यू लगाया गया है कि 10 घंटे बाद अधिकारी दोबारा आए थे। उल्लेखनीय है कि 22 अभियुक्तों के साथ 70/80 लोगों ने गत 21 मार्च को रामपुरहाट के पास बोगतुई गांव में 10 घरों में आग लगा दी थी, जिसमें महिलाओं और बच्चों समेत आठ लोगों की जान चली गई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सप्तमी से राज्य में हो सकती है भारी बारिश

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : दुर्गा पूजा में बुरी खबर है क्योंकि बारिश दुर्गा पूजा के रंग में भंग डालने का काम कर सकती है। मौसम विभाग आगे पढ़ें »

ईडी दिल्ली कार्यालय पहुंचे कोलकाता के एसपी रैंक के अधिकारी, हुई पूछताछ

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोयला तस्करी मामले में कोलकाता के एसपी रैंक के एक आईपीएस अधिकारी से ईडी की टीम ने दिल्ली स्थित कार्यालय में पूछताछ आगे पढ़ें »

ऊपर