राज्य के 2109 ब्रिजों का हेल्थ चेकअप करेगा पीडब्ल्यूडी विभाग

सोनू ओझा

करीब 12 ब्रिजों की हालत जर्जर बतायी गयी
इसी महीने करवानी होगी मरम्मत
 
कोलकाता : गुजरात के मोरबी पुल हादसे के बाद सकते में आयी पश्चिम बंगाल सरकार ने राज्य के ब्रिजों को लेकर मंगलवार को नवान्न में अहम बैठक की। बैठक में पीडब्ल्यूडी विभाग के मंत्री पुलक रॉय ने विभागीय अधिकारियों को लेकर समस्त ​ब्रिजों पर चर्चा करने के साथ ही दिशा-निर्देश दिया कि कैसे उनकी मरम्मत व देखरेख करनी है। पुलक रॉय ने बताया कि राज्यभर में पीडब्ल्यूडी विभाग के अंतर्गत कुल 2109 ब्रिज हैं जिनका हेल्थ चेकअप करने को कहा गया है। साथ ही ऑडिट रिपोर्ट तैयार करने को भी कहा गया है ताकि ब्रिजों की मौजूदा स्थिति को लेकर सरकार अपडेट रहे।
दिये गये कुछ मुख्य दिशा-निर्देश
* महीने में कम से कम एक बार प्रति ब्रिज का हेल्थ चेकअप करना होगा
* ब्रिज की ऑडिट रिपोर्ट तैयार करनी होगी
* ब्रिज का लोड टेस्ट करना होगा
* अगर ब्रिज की हालत खराब है तो तुरंत मरम्मत करनी होगी
* जिला प्रशासन को बराबर ब्रिज की रिपोर्ट मंत्री के पास भेजनी होगी
12 ब्रिजों की हालत खराब बतायी गयी
विभागीय अधिकारियों की माने तो राज्य में पीडब्ल्यूडी विभाग के तहत आने वाले करीब 12 ब्रिजों की हालत खराब बतायी गयी है। उनकी जर्जर अवस्था को देखते हुए जल्द से जल्द उनकी मरम्मत करने का निर्देश दिया गया है। मालूम हो कि इसके पहले भी ​ब्रिजों का हेल्थ चेकअप किया गया था जिसमें करीब 7 ब्रिजों की हालत बेहद खराब बतायी गयी थी। उस वक्त बिजन सेतु, गौरीबाड़ी अरविंद सेतु, बेलगछिया, टॉलीगंज सर्कुलर रोड पुल, ढाकुरिया ब्रिज, टाला पुल और संतरागाछी ब्रिज तत्काल मरम्मत की तालिका में रखे गये थे जिसमें टाला को तोड़ कर नया बनाया गया जबकि संतरागाछी ब्रिज का भी मरम्मत किया जाएगा।
माझेरहाट ब्रिज हादसे के बाद शुरू हुआ था हेल्थ चेकअप
माझेरहाट ब्रिज हादसे के बाद अलर्ट होते हुए प्रशासनिक अधिकारियों ने महानगर के सभी ब्रिजों का हेल्थ चेकअप किया था। इसके पहले सीएम ममता बनर्जी द्वारा 20 ब्रिजों की तालिका तैयार की गयी थी जो लगभग वेंटिलेटर पर बताए गये थे। उस वक्त कुछ समय के लिए समस्त ब्रिजों की जांच करायी जाती रही थी। हालांकि बाद में अधिकारी भी ठंडे पड़ गये और अब जब गुजरात में मोरबी पुल गिरा तो यहां बंगाल में सरकार चौकन्नी हो गयी और ब्रिजों की बीमारी पकड़ने का फरमान जारी कर दिया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर