स्कूलों के प्रधान शिक्षक भी जांच के दायरे में, दस्तावेजों के सत्यापन का निर्देश

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : प्राइमरी टीचरों के बाद अब स्कूलों के हेडमास्टर व हेडमिस्ट्रेस भी जांच के दायरे में आ गये हैं। यहां उल्लेखनीय है कि कई स्कूलों के हेडमास्टरों व हेडमिस्ट्रेस पर भी रुपये के एवज में नौकरी मिलने के आरोपों के बाद हाल ही में कलकत्ता हाई कोर्ट ने निर्देश दिया था कि वर्ष 2018 में नियुक्त किये गये हेडमास्टरों व हेडमिस्ट्रेस की सूची प्रकाशित की जाये। ऐसे में अब सभी स्कूलों के डीआई (डिस्ट्रिक्ट इंस्पेक्टराें) की ओर से स्कूलों को सर्कुलर जारी कर अपने स्कूलों के हेडमास्टरों/हेडमिस्ट्रेस के दस्तावेजों का सत्यापन कराने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए स्कूल सर्विस कमीशन का संस्तुति पत्र, संबंधित प्राधिकारी का नियुक्ति पत्र, नियुक्ति पत्र का अनुमोदन, पहला ज्वाइनिंग लेटर, शैक्षणिक योग्यता, जाति प्रमाणपत्र, पीएच सर्टिफिकेट, ट्रांसफर्ड ऑर्डर, संबंधित शिक्षक का मोबाइल नंबर जमा करना होगा। 31 जनवरी तक सभी हेडमास्टरों/हेडमिस्ट्रेस को उक्त दस्तावेजों का सत्यापन करा लेना होगा। इसे लेकर बंगीय ​शिक्षक व शिक्षा कर्मी समिति के महासचिव स्वपन मण्डल ने कहा कि प्रधान शिक्षकों की नियुक्ति में भी कई तरह के आरोप सामने आये हैं। सत्ताधारी पार्टी का करीबी होने के साथ ही रुपये के बदले में काफी नौकरियां दी गयी थीं। अब ये बातें प्रमाणित होती जा रही हैं और इसमें सटीक जांच होने पर सच्चाई सामने आयेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मवेशी तस्करी मामला : शांतिनिकेतन पहुंचा सीबीआई का प्रतिनिधिमंडल

कोलकाताः गौ तस्करी मामले में शांतिनिकेतन पहुंचा सीबीआई का प्रतिनिधिमंडल। गौ तस्करी मामले में सीबीआई के जांच अधिकारी सुशांत भट्टाचार्य पहुंचे शांतिनिकेतन के रतनकुथी गेस्ट आगे पढ़ें »

विधवा मां के थे अवैध संबंध, बेटी ने किया विरोध तो उसको उतारा मौत के घाट

नदियाः पिता की मौत के बाद मां इलाके के ही एक युवक के साथ प्रेम संबंध बनाने लगी। महिला की 18 वर्षीय बेटी इस बात आगे पढ़ें »

ऊपर