कोलकाता के एस्प्लेनेड में आईएसएफ के प्रदर्शन में हुई हिंसा की जांच कर रही है पुलिस

कोलकाता : कोलकाता पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि शनिवार को एस्प्लेनेड इलाके में इंडियन सेक्युलर फ्रंट (आईएसएफ) के विरोध प्रदर्शन में हुई हिंसा पूर्व नियोजित थी या नहीं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। मध्य कोलकाता के एस्प्लेनेड इलाके में विपक्षी आईएसएफ का विरोध प्रदर्शन शनिवार दोपहर बाद हिंसक हो गया और पुलिस के साथ हुई झड़प में कई पुलिसकर्मी और आईएसएफ के कार्यकर्ता घायल हो गए। पुलिस ने आईएसएफ के कार्यकर्ताओं को तितर-बितर करने के लिए उन पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले दागे। इसके बाद लगभग 500 की संख्या में मौजूद प्रदर्शनकारी पीछे हट गए, लेकिन पास की गलियों से पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया, जिससे कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘ऐसा प्रतीत होता है कि आईएसएफ कार्यकर्ताओं की दंगा करने की योजना थी और यही कारण है कि वे डोरिना क्रॉसिंग पर तैनात पुलिसकर्मियों पर हमला करने के लिए पत्थर, ईंट और लाठियां ले जा रहे थे। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि क्या हिंसा पूर्व नियोजित थी। ’’ पुलिस अधिकारी ने कहा कि सीसीटीवी फुटेज की जांच की जा रही है और शनिवार को डोरिना क्रॉसिंग पर डूटी पर मौजूद अधिकारियों से पूछताछ की गई। उन्होंने कहा, ‘‘ हम गिरफ्तार किए गए आईएसएफ कार्यकर्ताओं से भी बात कर रहे हैं।’’ इस सिलसिले में प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे आईएसएफ के इकलौते विधायक नौशाद सिद्दीकी और पार्टी के करीब 80 समर्थकों को शनिवार को गिरफ्तार कर लिया गया। दक्षिण 24 परगना जिले के भांगर में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) द्वारा पार्टी कार्यकर्ताओं पर कथित हमलों के खिलाफ आईएसएफ डोरिना क्रॉसिंग पर विरोध प्रदर्शन कर रहा था।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

ईसीएल की ओर से अवैध निर्माण पर चला बुलडोजर 

जामुड़िया : ईसीएल के सातग्राम एरिया अंतर्गत बेनाली कोलियरी वीटी सेंटर के निकट ईसीएल के जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर बनाए जा रहे आगे पढ़ें »

एग्‍जाम सेंटर पर 500 लड़कियों के बीच खुद को अकेला देख बेहोश हुआ लड़का

नालंदाः परीक्षा के दौरान छात्रों का नर्वस होना स्वाभाविक है। कई छात्रों को तो परीक्षा की चिंता की वजह से चक्कर आने लगते हैं। बिहार आगे पढ़ें »

ऊपर