दुर्गा पूजा में ट्रैफिक नियंत्रित करने को लेकर स्ट्रैटेजी बना रही है पुलिस

पूजा से पहले गार्डरेल सहित अन्य ट्रैफिक फर्नीचर खरीदेगी पुलिस
पूजा के दौरान सड़क दुर्घटना पर लगाम कसने के लिए सीपी ने दिया निर्देश
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : कोरोना काल के दो साल बाद इस साल दुर्गा पूजा के दौरान पंडालों में लोगों की भीड़ उमड़ सकती है। बड़े पूजा पंडालों में आने वाली लोगों की भीड़ के कारण उससे संलग्न सड़कों पर ट्रैफिक व्यवस्था प्रभावित न हो, इसे लेकर विशेष ट्रैफिक स्ट्रैटेजी ट्रैफिक पुलिस तैयार कर रही है। इसके साथ ही दुर्गा पूजा के दौरान शहर में कोई दुर्घटना न घटे, इसे लेकर कोलकाता पुलिस कमिश्नर विनीत गोयल ने शहर के सभी ट्रैफिक गार्ड के ओसी को सतर्क किया है। पुलिस कम‌िश्नर ने ट्रैफिक पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर उन्हें पूजा के दौरान ट्रैफिक नियंत्रण को लेकर दिशा-निर्देश दिया। ईएम बाइपास और पूर्वी कोलकाता में ट्रैफिक व्यवस्था को सुव्यवस्थित रखने के लिए कोलकाता पुलिस के अधिकारी विधाननगर पुलिस के साथ बातचीत कर रहे हैं। पिछले साल लेकटाउन की पूजा में अत्यधिक भीड़ उमड़ने के कारण उल्टाडांगा सहित आसपास के इलाकों में ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा गयी थी। इसलिए इस साल पहले ही कोलकाता ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों ने विधाननगर पुलिस को जानकारी दी है। सूत्रों के अनुसार कोलकाता ट्रैफिक पुलिस दो साल पहले महानगर में पूजा के दौरान उमड़ी लोगों की भीड़ के रिकॉर्ड को खंगाल कर इस साल की तैयारी में जुट गयी है। उस आंकड़े के अनुसार ही क्राउड सर्कुलेशन को लेकर प्लान तैयार किया जा रहा है। महानगर के बड़े पूजा पंडालों के आसपास की सड़कों पर पुलिस विशेष जोर दे रही है। इसके अलावा उत्तर कोलकाता के श्यामपुकुर, मध्य कोलकाता के कॉलेज स्क्वायर, मो. अली पार्क से संलग्न सेंट्रल एवेन्यू, पूर्व कोलकाता के उल्टाडांगा, साउथ के रासबिहारी क्रॉसिंग, न्यू अलीपुर, गरियाहाट, कसबा कनेक्टर, पार्क सर्कस, डायमंड हार्बर रोड, एएससी बोस रोड, जेम्स लांग सरणी, सहित अन्य सड़कों पर लोगों और वाहनों की कितनी भीड़ उमड़ सकती है, इसका आकलन किया जा रहा है। सड़कों को ट्रैफिम जाम से मुक्त रखने के लिए स्ट्रैटेजी तैयार की जा रही है। इसके साथ ही लोगों को सड़क पार करने में कोई असुविधा न हो, इसे लेकर भी प्लान बनाया जा रहा है। इस साल शहर को ट्रैफिक जाम और सुरक्षित रखने के लिए कोलकाता पुलिस गार्डरेल सहित अन्य सामान खरीदने का प्लान बना रही है। कोलकाता पुलिस की तरफ से शहर की सैकड़ों सड़कों का नाम नगरनिगम को भेजा गया है। उन सड़कों पर कहां गड्ढे हैं उसकी जानकारी निगम को दी गयी है। कोलकाता ट्रैफिक पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि ट्रैफिक फर्नीचर बढ़ाने और उनके इस्तेमाल को लेकर फैसला लिया गया है। इनमें सबसे महत्वपूर्ण गार्डरेल है। वायरलेस सेट की संख्या भी बढ़ायी जा सकती है। जो खराब हैं उनकी रिपेयरिंग की जाएगी। इसके अलावा राहगीर और वाहनों को संदेश देने के लिए साइन बोर्ड भी बनाए जा रहे हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर