धर्मतल्ला में मामले में गिरफ्तार आईएसएफ विधायक व समर्थकों को 1 फरवरी तक पुलिस हिरासत

धर्मतल्ला मामले में 19 और केएलसी थाने की पुलिस ने 43 लोगों को किया गिरफ्तार
आम लोगों के लिए लड़ाई करूंगा-नौशाद
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : शनिवार को धर्मतल्ला में पुलिस और आईएसएफ समर्थकों के बीच हुई झड़प के मामले में पुलिस ने आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी सह‌ित 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 13 लोगों को हेयर स्ट्रीट थाना और 6 लोगों न्यू मार्केट थाने की पुलिस ने गिरफ्तार किया था। उन लोगों के खिलाफ पुलिस कर्मियों से मारपीट, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, तोड़फोड़, दंगा फैलाने सहित अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। रविवार को इन सभी लोगों को बैंकशाल कोर्ट में पेश किया गया। अदालत में पक्षों की दलीलें सुनने के बाद अदालत ने विधायक नौशाद सिद्दीकी और एक महिला सहित 18 लोगों को 1 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। वहीं एक नाबालिग को होम में भेजा गया। उसे 24 जनवरी को जुवेनाइनल जस्ट‌िस बोर्ड के समक्ष पेश किया जाएगा। इधर, अदालत में सुनवाई के दौरान आईएसएफ समर्थकों के वकील यासिन रहमान और शमीम अहमद ने उनकी जमानत की अपील करते हुए कहा कि शनिवार को आईएसएफ समर्थक अपना स्थापना दिवस मना रहे थे। अचानक वहां पर अशांति फैलायी गयी। धर्मतल्ला में आईएसएफ समर्थकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। पुलिस ने ‌विधायक नौशाद सिद्दीकी की भी पिटायी की है। पुलिस ने एक महिला और एक नाबालिग सहित 19 लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्होंने किसी भी शर्त पर उन्हें जमानत देने की मांग की। वहीं सरकारी वकील अरूप चक्रवर्ती ने अदालत को बताया कि अभियुक्तों ने ईंठ और लाठी से पुलिस कर्मियों पर जमकर हमला किया। उन्होंने अवैध तरीके से धर्मतल्ला इलाके में जमायत की थी। ओसी बहूबाजार और एडिशनल ओसी बहूबाजार गंभीर रूप से घायल हुए हैं। दोनों का इलाज अस्पताल में चल रहा है। सरकारी संपत्ति में भी तोड़फोड़ की गयी। सरकारी वकील ने विधायक सहित सभी अभियुक्तों को पुलिस‌ हिरासत में भेजे जाने की अपील की। अदालत ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी सहित 18 कों को 1 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। वहीं एक नाबालिग को 24 जनवरी को दोबारा जेजेबी पेश करने के लिए कहा है।
मुझे चोट लगी पर इलाज नहीं किया गया -नौशाद
अदालत में सुनवाई के दौरान विधायक नौशाद सिद्दीकी ने कहा कि मुझे गिरफ्तार करने के बाद किसी प्रकार का इलाज नहीं किया गया। हाथ में चोट लगी है। मेरे अलावा अन्य समर्थकों का भी इलाज नहीं किया गया।
केएलसी में 43 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार
वहीं दूसरी ओर केएलसी थाने की पुलिस ने शनिवार की सुबह हाटशिला इलाके में तृणमूल और आईएसएफ समर्थकों के बीच हुई झड़प के मामले में 43 लोगों को गिरफ्तार किया है। इन 43 लोगों को रविवार को बारुईपुर कोर्ट में पेश किया गया। इधर, रविवार को बैंकशाल कोर्ट में आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी और उसके समर्थकों की पेशी के मद्देनजर पूरे अदालत परिसर को सुरक्षा के चादर में घेर दिया गया था। अदालत परिसर को गार्डरेल से घेरकर रखा गया था। अदालत के मुख्य दरवाजे को बंद रखा गया था । रविवार को अदालत परिसर में पुलिस की गाड़ी से उतरने के बाद नौशाद सिद्दीकी ने कहा आम लोगों के लिए लड़ाई जारी रहेगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

स्वान के 4 बच्चों को कुचलनेवाला ऐप कैब ड्राइवर गिरफ्तार

पोस्ता के काली कृष्ण टैगौर स्ट्रीट की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चारों भाई-बहन एक साथ दिन भर खेलते रहते थे। गुरुवार की शाम चारों का सड़क आगे पढ़ें »

बैरकपुर फ्लाईओवर पर मांझा से कटी बाइक सवार की नाक

बैरकपुर : शुक्रवार की दोपहर बैरकपुर फ्लाईओवर पर बाइक से जा रहा अनुपम गांगुली मांझे के कारण एक हादसे का शिकार हो गया। अचानक ही आगे पढ़ें »

ऊपर