दुर्गा पूजा में प्रेसिडेंसी जेल में पार्थ के मेन्यू में पोलाव और मटन शामिल

पूजा में पार्थ का मन हुआ खराब
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बड़वारी पूजा और घरों की पूजा की तरह ही राज्य के विभिन्न जेलों में भी दुर्गा पूजा मनाया जाता है। इस बार सभी की नजरों मेंप्रेसीडेंसी जेल की पूजा है। क्योंकि इस जेल में पार्थ चटर्जी समेत कई दिग्गज कैद हैं, इसलिए सभी की निगाहें इस जेल की पूजा पर टिकी हैं। पूजा समारोह के अलावा इस बार जेल में बंद कैदियों के लिए खाने की अलग व्यवस्था है। चिकन, मटन से लेकर तरह-तरह की मिठाइयों तक। प्रेसीडेंसी जेल में पूजा के पांच दिनों के लिए सभी उपलब्ध रहेंगे। हालांकि, जेल विभाग के सूत्रों के अनुसार, न केवल हैवीवेट के लिए, बल्कि प्रेसीडेंसी जेल के बाकी कैदियों के लिए भी भोजन की सूची सामान्य है। जेल अधिकारियों के मुताबिक प्रेसीडेंसी जेल में 2500 कैदी हैं। दुर्गा पूजा का आनंद लेने का अधिकार सभी को है। प्रेसीडेंसी जेल में सभी धर्मों के बावजूद दुर्गा पूजा मनाई जा रही है। सूत्रों के मुताबिक, पार्थ प्रेसीडेंसी जेल की सुविधाओं में ठीक नहीं हैं। वह बार-बार कोर्ट में कह चुके हैं। हालांकि जेल प्रशासन ने पूजा के कुछ दिनों में कैदियों के लिए विशेष मेन्यू की व्यवस्था की है। सप्तमी की मेन्यू में चावल, फिश हेड वाली मूंग बीन्स, तली हुई सब्जियां, कतला फिश शोरबा, अंडे का तड़का और खीर शामिल है। अष्टमी मेन्यू में नाश्ते में लुची और आलू दम परोसा जाएगा। दोपहर के समय बंदियों को खिचड़ी, नवरत्न, पनीर, काबली चना करी और मिठाई दी जाएगी। नवमी मेन्यू की शुरुआत चूड़ा के पोलाव से होगी। फिर दोपहर में मटन बिरयानी, मटन करी के साथ अंडा करी, पोटल प्रॉन, लड्डू और गाजा रहेगा। दशमी की मेन्यू में रुई कालिया, शाकाहारी दाल, आलूर दम, पानपर और चटनी के साथ तले हुए चावल रहेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

एंट्री टिकट के लिए अब नहीं लगानी पड़ेगी लाइन, एक क्लिक में मिलेगा पास

कोलकाता घूमने के लिए अब जारी होगा क्यूआर सिटी पास कीमत होगी 495 रुपये, 7 दिनों तक कर सकेंगे इस्तेमाल 21 पर्यटन स्थलों पर वैलिड होगा यह आगे पढ़ें »

अन्नपूर्णा जयंती आज, इस विधि से पूजा करने पर मिलेगा धन-धान्य का आशीर्वाद

कोलकाता : 8 दिसंबर 2022 यानी आज मार्गशीर्ष महीने का आखिरी दिन है। इसके बाद से पौष माह शुरू हो जाएगा। मार्गशीर्ष की पूर्णिमा 8 आगे पढ़ें »

ऊपर