लालन शेख की खुदकुशी को लेकर हाई कोर्ट में पीआईएल

हाई कोर्ट के सिटिंग जज की मॉनिटरिंग में हो जांच
पीआईएल की तेजी के साथ सुनवायी की अपील
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : बोगतुई कांड के मुख्य अभियुक्त लालन शेख की खुदकुशी को लेकर हाई कोर्ट में पीआईएल दायर की गई है। चीफ जस्टिस प्रकाश श्रीवास्तव और जस्टिस राजर्षि भारद्वाज के डिविजन बेंच मेें मंगलवार को सुबह इसे मेंशन किया गया। इसके बाद ही चीफ जस्टिस ने पीआईएल दायर करने की मंजूरी दे दी। कलकत्ता हाई कोर्ट के किसी सिटिंग जज की मॉनिटरिंग में इसकी जांच कराये जाने का आदेश देने की अपील की गई है। इसके साथ ही तेजी से सुनवायी करने की अपील की गई है।
एडवोकेट सब्यसाची चटर्जी ने यह पीआईएल दायर की है। उन्होंने कहा कि सीबीआई बोगतुई हत्याकांड की जांच हाई कोर्ट की मॉनिटरिंग में कर रही है। लालन शेख इस नरसंहार का मुख्य अभियुक्त है। एडवोकेट चटर्जी ने कहा कि लालन शेख की खुदकुशी की वजह से कई सवाल उठ खड़े हुए हैं। यहां गौरतलब है कि 21 मार्च को भादू शेख की हत्या के बाद वहां लालन शेख की अगुआई में ही नरसंहार किया गया था, जिसमें दस लोग मारे गए थे। एडवोकेट चटर्जी ने सवाल उठाया है कि जब लालन शेख सीबीआई की हिरासत में था और उससे पूछताछ की जा रही थी तो ऐसी परिस्थिति में उसे खुदकुशी करने का मौका कैसे मिल गया। दूसरी तरफ लालन शेख के परिवार के लोगों ने उसकी हत्या की जाने का आरोप लगाया है। अगर हत्या का मामला है तो किसने की और कैसे की। अगर खुदकुशी का मामला है तो इतने बड़े नरसंहार के मामले के अभियुक्त को यह मौका कैसे मिल गया। क्या उसकी सुरक्षा के लिए सीबीआई के जिम्मेदार अफसर इस बाबत चौंकस नहीं थे। यह सवाल भी उठ रहा है कि यह खुदकुशी या हत्या, जो भी हो, नरसंहार के मामले की जांच को पटरी से उतारने की कोशिश तो नहीं है। क्या इसके पीछे कोई वृहत्तर षडयंत्र तो काम नहीं काम कर रहा है। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि कलकत्ता हाई कोर्ट के अलावा दूसरे राज्य के हाई कोर्ट के जज को भी इसकी जांच की मॉनिटरिंग सौंपी जा सकती है। रामपुरहाट में सीबीआई के स्थानीय कैंप ऑफिस के शौचालय में उसकी फंदे से झूलती हुई लाश मिली थी। अगले सप्ताह ही इस पीआईएल की सुनवायी होने की उम्मीद है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

धन प्राप्ति के लिए आज करें ये अचूक उपाय, चमकेगी किस्मत

कोलकाता : शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की पूजा विधिवत करने से मां लक्ष्मी अपकी हर इच्छा को पूर्ण करती हैं। शुक्रवार के दिन माता आगे पढ़ें »

कल ही उनकी सरकार गिर गयी थी, किसी प्रकार बची

- बंगाल का बकाया रुपया नहीं दिया तो होगा आंदोलन - ममता बर्दवान : कल उनकी सरकार गिर गई थी। कुछ लोगों को फोन कर उनसे आगे पढ़ें »

ऊपर