अगले साल पंचायत चुनाव होगा काफी व्यापक : अनुब्रत मण्डल

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : गिरफ्तार तृणमूल कांग्रेस नेता अनुब्रत मण्डल ने गुरुवार को कहा कि अगले साल होने वाला पंचायत चुनाव अत्यंत व्यापक होगा। इस दौरान उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं को पंचायत चुनाव में पार्टी की जीत आश्वस्त करने की बात भी कही। गुरुवार को वर्ष 2010 के मंगलकोट धमाके मामले में पेशी के लिए अनुब्रत मण्डल को आसनसोल से कोलकाता में विधानननगर एमपी/एमएलए कोर्ट में लाया गया था। इस मामले में चार्जशीट में अनुब्रत मण्डल का नाम आया है। कोलकाता के लिए रवाना होने के समय ही अनुब्रत ने उक्त बातें कही। वह मवेशी तस्करी मामले में आसनसोल जेल में बंद हैं। उन्होंने कहा, ‘इस बार पंचायत चुनाव व्यापक होगा। पार्टी की जीत सुनिश्चित करने के लिए तृणमूल समर्थकों को कड़ी मेहनत करनी होगी।’
इधर, आज यानी शुक्रवार को ईडी द्वारा तृणमूल के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी को बुलाये जाने के मामले में पूछने पर अनुब्रत ने सपाट जवाब देते हुए कहा, ‘नाचूं ? बुलाया गया है तो क्या नाचूंगा ?’ इसके बाद ही तृणमूल के इस दबंग नेता को कड़ी सुरक्षा में अदालत के अंदर ले जाया गया। अदालत के बाहर आकर उनके एडवोकेट शौभिक बसु ने कहा कि अनुब्रत ने अदालत में खुद को निर्दोष बताया है। इस दौरान उन्होंने यह भी दावा किया कि वह पूरी तरह स्वस्थ नहीं हैं। इस बीच, उन्हें लक्ष्य कर एक चाय विक्रेता ने गाय चोर का नारा भी दिया। सुनवाई के बाद अनुब्रत को लेकर पुलिस आसनसोल के लिए रवाना हो गये। वहीं कोआज यानी शुक्रवार को भी मामले की सुनवाई होगी। हालांकि इस दिन फिजिकली अदालत में पेश नहीं हाेना होगा, वर्चुअली सुनवाई में शामिल हो सकेंगे।
वर्ष 2010 में 5 मार्च को मंगलकोट के लाखुरिया के मल्लिकपुर गांव में विस्फोट हुआ था। इसमें केबूलाल शेख नाम का व्यक्ति घायल हुआ था। इस घटना में मंगलकाेट थाना में चार्जशीट पेश की गयी थी। इसमें ही अनुब्रत मण्डल, केतुग्राम के विधायक शेख शाहनवाज, काजल शेख समेत 15 लोगों के नाम हैं। इस मामले में ही गुरुवार को एमपी-एमएलए अदालत में पेश होने का निर्देश अनुब्रत को दिया गया था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

अब दूसरे मामले में नौशाद सिद्दीकी को 6 दिनों की पुलिस हिरासत

पंचायत चुनाव तक मुझे जेल में रखना चाहती है तृणमूल - नौशाद सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : भांगड़ से आईएसएफ विधायक नौशाद सिद्दीकी को शुक्रवार को 6 दिनों आगे पढ़ें »

शुभेंदु के बाद दिलीप और मिठुन ने भी कहा, ‘अल्पसंख्यक विरोधी नहीं है भाजपा’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत चुनाव होने वाले हैं और अगले साल लोकसभा चुनाव भी है। ऐसे में भाजपा अभी से खुद को आगे पढ़ें »

ऊपर