1 सप्ताह में डेंगू के 40,000 से अधिक टेस्ट, 5000 मामले, 11 की मौत

डेंगू से मौत के मामलों की स्डटी करेगा स्वास्थ्य विभाग
1 जनवरी से 6 नवंबर तक कोलकाता में 6,052 मामले
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले सप्ताह में डेंगू के 40,000 से अधिक टेस्ट किये है जिनमें से 5000 के करीब मामले आये हैं। वहीं मरने वालों की संख्या करीब 11 है। हालांकि मौत के आंकड़े स्वास्थ्य विभाग की तरफ से नहीं दी गयी है। इन 11 लोगों में कोलकाता, हावड़ा, हुगली व उत्तर 24 परगना क्षेत्र से हैं।
स्वास्थ्य विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ये टेस्ट के आंकड़े पिछले सप्ताह में किये गये टेस्ट के आंकड़ों से अधिक है। अधिकारी ने दावा किया है कि एक सप्ताह में टेस्ट अधिक हुई है लेकिन पॉजिटिव मामले कम हैं। डेंगू से अब तक कितनी मौतें हुई है, इस पर स्वास्थ्य विभाग की तरफ से जानकारी नहीं मिल पायी है।
होगी स्टडी, अस्पतालों से ली जायेगी रिपोर्ट
सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य विभाग डेंगू से मौत के मामलों की स्टडी करेगा। एक अधिकारी ने बताया कि डेंगू के मामलों में कमी आने के बाद एक स्टडी किया जायेगा। इस संबंध में अस्पतालों से रिपोर्ट ली जायेगी।
1 सप्ताह में टेस्ट और पॉजिटिव मामले
टेस्ट 2371, मामले 348
टेस्ट 6114, मामले 932
टेस्ट 7281, मामले 956
टेस्ट 5362, मामले 732
टेस्ट 7444, मामले 905
टेस्ट – 7545, पॉजिटिव मामले 954
(आंकड़े 7 से 12 नवंबर तक के)
1 सप्ताह में कोलकाता व आसपास के जिलों में 11 की मौत
7 नवंबर – डेंगू से 5 लोगों की मौत
9 नवंबर – हावड़ा में डेंगू से 9 साल के बच्चे की मौत
बिधाननगर नगर निगम के 18 नंबर वार्ड अंतर्गत 8 साल की एक बच्ची की मौत
10 नवंबर – उत्तरपाड़ा में एक बुजुर्ग की मौत
कोलकाता में 14 वर्षीया किशोरी की मौत
11 नवंबर – 30 वर्षीय युवक की मौत हुई
12 नवंबर – हुगली में डेंगू से किशोरी की मौत
4 सालों में कोलकाता में सबसे ज्यादा मामले
1 जनवरी से 6 नवंबर तक कोलकाता में डेंगू के 6,052 मामले सामने आए हैं। 4 सालों की तुलना में यह डेंगू के सबसे अधिक मामले हैं। वहीं उत्तर कोलकाता की तुलना में दक्षिण कोलकाता डेंगू से सबसे ज्यादा प्रभावित है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकार पड़ी चीजों से महज 10 हजार रुपयों की लागत पर बना डाली कार

शांतिपुर के संजय की कार ने खींचा लोगों का ध्यान लॉकडाउन में भतीजे के लिए बनायी गयी कार से मिला आइडिया नदिया : बेकार पड़े सामान की आगे पढ़ें »

इस दिन हनुमान जी की आराधना करने से पाए सफलता, शांति, सुख, शक्ति और साहस

कोलकाता: केसरी और अंजना के पुत्र, हनुमान का जन्म मंगलवार को चैत्र के हिंदू महीने के दौरान पूर्णिमा के दिन हुआ था। भगवान हनुमान को आगे पढ़ें »

ऊपर