अनहोनी रोकने के लिए अब बिजली कनेक्शन दुरुस्त करेगी सरकार

  • कोलकाता की बस्ती और मार्केट में मीटर बॉक्स से मेनस्विच तक कनेक्शन किया जाएगा ठीक
  • कैसे किया जाएगा कनेक्शन को ठीक 7 दिन में गाइडलाइन तैयार करने का निर्देश
  • एक हफ्ते में रोशन होंगी कोलकाता की सभी स्ट्रीट लाइटें
  • पोल में अर्थिंग की स्थिति कैसी, मांगी गयी रिपोर्ट
  • महानगर में बिजली व्यवस्था को लेकर सख्त हुई सरकार

सोनू ओझा
कोलकाता : पिछले 7 दिनों में कोलकाता में बिजली के नंगे तारों को छूने की वजह से तीन जानें गयीं जिममें दो मासूम और एक युवक था। तीसरी मौत मंगलवार की सुबह टेंगरा में हुई जिसकी वजह बिजली के खुले तारों को बताया जा रहा है। हालांकि बिजली का पोल डब्ल्यूबीएसईडीसीएल का नहीं था मगर हर एक जान की जिम्मेदारी सरकार की बनती है। अमूमन देखा गया है कि मॉनसून के दौरान कोलकाता में जल-जमाव में पोल पर लटकते तारों ने किसी न किसी की जान ली ही है। आने वाले समय में इन अनहोनियों को रोकने के लिए अब सरकार बिजली के डिस्ट्रिब्यूशन नेटवर्क को ठीक करेगी। इस बाबत मंगलवार को नवान्न में मुख्य सचिव एच के द्विवेदी के नेतृत्व में वरिष्ठ अधिकारियों ने बैठक की जिसमें कोलकाता में बिजली व्यवस्था को कैसे ठीक करना है उस पर दिशा-निर्देश दिये गये।
मंत्री ने 7 दिन में गाइडलाइन तैयार करने का निर्देश दिया
बिजली विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि बैठक में कोलकाता की बस्ती और मार्केट कॉम्प्लेक्स में मीटर बॉक्स से मेनस्विच तक कनेक्शन को ठीक करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिये अगले एक हफ्ते में गाइडलाइन तैयार करनी होगी जिसमें उल्लेख हो कि आखिर कैसे इन लाइनों को ठीक करना है, अगर वह खुले हैं तो उन्हें एबी केबल में बदलना आवश्यक है कि नहीं।
कौन करेगा बॉक्स से मेनस्विच तक कनेक्शन ठीक? बड़ा सवाल
इस बैठक में बड़ा सवाल उठा कि आखिर इन कनेक्शन को ठीक कौन करेगा। सूत्रों की माने तो सीईएससी, डब्ल्यूबीएसईडीसीएल अगर सहयोग करता है तो शहरी विकास विभाग संभवत: कोलकाता की बस्ती और मार्केट के मीटर बॉक्स से मेनस्विच तक कनेक्शन ठीक करेगा। हालांकि इस पर अब तक निर्णय तय नहीं किया गया है। सात दिन के बाद इस पर निर्णय लिया जाएगा। अधिकारियों की माने तो बस्ती और मार्केट में कई जगह ये कनेक्शन खतरनाक अवस्था में हैं।
पोल में अर्थिंग है कि नहीं चेक करने का निर्देश
कोलकाता नगर निगम को निर्देश दिया गया है कि 144 वार्डों में जितने भी इलेक्ट्रिक पोल हैं उनमें अर्थिंग है कि नहीं यह चेक करे। देखा जाता है कि जल-जमाव के कारण पोल में अर्थिग करंट लगने का एक कारण बनता है, इसलिए इसकी स्थि​ति ठीक करने का अल्टीमेटम दिया गया है।
7 दिन में जलेगी कोलकाता की हर स्ट्रीट लाइट
बैठक में कोलकाता नगर निगम को निर्देश दिया गया है कि अगले 7 दिन में महानगर की जितनी स्ट्रीट लाइटें हैं उसे जलायी जाएं। बैठक में बताया गया है कि कई वार्डों में ये लाइट खराब बतायी गयी है जिसकी वजह से इलाके में अंधेरा रहता है तथा जल-जमाव के समय घटना-दुर्घटना होने की संभावना बढ़ जाती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

माल हादसे के मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति, दिए जाएंगे…..

मालबाजार: माल नदी का जल स्तर बढ़ने से आयी बाढ़ की चपेट में मृतकों के परिजनों को क्षतिपूर्ति की घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कार्यालय की आगे पढ़ें »

मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक मौत

कोलकाता : महा दशमी की सुबह मो. अली पार्क के निकट पूजा ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मी की अस्वाभाविक परिस्थितियों में मौत हो गई। घटना जोड़ासांको आगे पढ़ें »

ऊपर