अब डेढ़ मिनट के अंतराल पर छूटेगी कोलकाता मेट्रो

मेट्रो स्टेशनों पर मिलेगी वाईफाई की सुविधा
नार्थ-साउथ मेट्रो में बदले जा रहे हैं सिग्नलिंग सिस्टम
इसके लिए पहले ही बुलाए जा चुके हैं टेंडर
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : भविष्य में मेट्रो 5 मिनट के बजाये डेढ़ मिनट पर ही छूटेगी, क्योंकि नार्थ-साउथ मेट्रो में बदलने जा रहा है सिग्नलिंग सिस्टम। इससे कुछ ही समय के अंतराल में मेट्रो को चलाया जाना संभव हो पायेगा। इस बार सभी मेट्रो स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई सेवा भी मिलेगी। इस मेट्रो में ईस्ट-वेस्ट मेट्रो की तर्ज पर कम्युनिकेशन बेस्ड ट्रेन कंट्रोल सिस्टम (सीबीटीसी) लॉन्च किया जाएगा। नतीजतन, दो मेट्रो के बीच एक निश्चित दूरी हमेशा बनी रहेगी। 90 सेकंड के अंतराल पर एक मेट्रो ट्रेन एक के पीछे एक समान दूरी बनाए रखते हुए चलेगी। इससे कोई दुर्घटना नहीं होगी। इसके लिए पहले ही टेंडर बुलाए जा चुके हैं। विशेषज्ञ की राय ली जा रही है। इच्छुक कंपनी से अनुबंध हो जाने के बाद सिग्नल बदलने का काम शुरू हो जाएगा। इसके अलावा, इस लाइन पर चलने वाले नए मेधा रेक भी सीबीटीसी सिग्नलिंग के अनुकूल हैं। नतीजतन, नई सिग्नल प्रणाली शुरू होने पर इस रेक को चलाने में कोई कठिनाई नहीं होगी। मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि ईस्ट-वेस्ट, जोका-धर्मतल्ला, न्यू गरिया-एयरपोर्ट रूट के पूरी तरह चालू हो जाने के बाद मेट्रो में यात्रियों की संख्या एक बार में बढ़ जाएगी, इसलिए प्रक्रिया पहले ही शुरू कर दी गई है। हालांकि ऐसा नहीं है कि इस लाइन पर हर डेढ़ मिनट में मेट्रो दौड़ेगी। तकनीक इसलिए लगाई जा रही है ताकि जरूरत पड़ने पर इसे छोटा किया जा सके। इस नई तकनीक में दुर्घटना की संभावना नहीं रहेगी। कम अंतराल पर ट्रेनें चलाने के लिए ईस्ट-वेस्ट मेट्रो में कम्युनिकेशन बेस्ड ट्रेन कंट्रोल सिस्टम लगाया गया है। सियालदह के सेक्टर 5 में वह तकनीक है। बाकी सेक्शन में ट्रेन चलने पर भी यही प्रक्रिया अपनाई जाएगी। प्लेटफॉर्म पर भीड़ होने पर ट्रेनों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। वर्तमान में पीक आवर्स के दौरान हर 5 मिनट में मेट्रो चलती है, बाकी 6, 7 और 10 मिनट के अंतराल पर हैं। वर्तमान सिग्नलिंग प्रणाली स्वचालित है लेकिन इसमें परिष्कृत सॉफ्टवेयर नहीं है। और इसे इंस्टाल नहीं किया जा सकता है। नतीजतन, पूरे सिग्नलिंग सिस्टम को बदलना होगा। मेट्रो रेल के एक अधिकारी ने कहा, यह काफी समय लगने वाला काम है लेकिन प्रक्रिया शुरू हो गई है। भविष्य में मेट्रो नयी सिस्टम से चलेगी। अगर दोनों मेट्रो के बीच की दूरी कम हो जाए तो यात्रियों को भी काफी फायदा होगा। मेट्रो के लिए ज्यादा देर खड़े होने की जरूरत नहीं पड़ेगी। उस समय मेट्रो को रद्द करना संभव नहीं होगा। मेट्रो रेल के महाप्रबंधक अरुण अरोड़ा ने कहा कि अब सभी मेट्रो स्टेशनों पर मुफ्त वाई-फाई सेवा मिलेगी। नतीजतन, यात्री मेट्रो क्षेत्र में मुफ्त में इंटरनेट का उपयोग कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके अलावा, उनके लिए कई मनोरंजन और सूचनात्मक व्यवस्थाएं भी होंगी। यात्रियों को अब से नए ब्रांडेड टोकन मिलेंगे। हाल ही में 2 लाख नए टोकन जारी किए गए हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

जम्मू-कश्मीर में राहुल की सुरक्षा घेरे में कई लोग घुसे

जम्मूः जम्मू-कश्मीर के बनिहाल में शुक्रवार को भारत जोड़ो यात्रा शुरू हुई थी। लेकिन काजीगुंड में एंट्री के सिर्फ 1 किमी बाद ही यात्रा रोक आगे पढ़ें »

खुशखबरी : अब हावड़ा से पुरी के लिए चलेगी वंदे भारत एक्सप्रेस

कोलकाता: हावड़ा से एनजेपी तेज गति से चल रही है वंदे भारत एक्सप्रेस। इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है।  रेलवे सूत्रों ने आगे पढ़ें »

ऊपर