बिना दर्द के होगी अब घुटनों की सर्जरी

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : पूर्वी भारत में पहली बार बेले व्यू क्लिनिक, कोलकाता ने क्यूविस एक्टिव रोबोटिक नी रिप्लेसमेंट सर्जरी की शुरुआत की है। क्यूविस एक सक्रिय रोबोट है, जो कि बिना किसी गलती के सर्जरी करता है। यह दुनिया में अपनी तरह का पहला है। यह सर्जिकल पद्धति न्यूनतम इनवेसिव है और इसमें हड्डियों के कट बहुत चिकने होते हैं। क्यूविस ऊतक की चोट को कम करता है, खून की कमी और ऑपरेशन के बाद के दर्द को काफी कम कर देता है। न्यूनतम मानवीय हस्तक्षेप के कारण इस सर्जरी से संक्रमण की संभावना लगभग न के बराबर होती है।
बेले वू क्लिनिक के सीईओ प्रदीप टंडन ने यह कहा : डॉ संतोष कुमार के नेतृत्व में बेले व्यू क्लिनिक में एक्टिव ऑटोमैटिक रोबोटिक जॉइंट रिप्लेसमेंट यूनिट, कूल्हे और घुटने के गठिया रोगियों के लिए वरदान साबित होगी। वर्तमान प्रणाली मौजूदा पद्धतियों की तुलना में काफी विकसित है क्योंकि क्यूविस जॉइंट रोबोटिक सिस्टम सबसे उन्नत सर्जिकल अत्याधुनिक रोबोटिक तकनीक है, जो पर्सनलाइज्ड प्लानिंग और सटीक कटिंग के जरिये सुसंगत परिणामों के लिए सर्जनों की सहायता करती है। रोबोटिक जॉइंट रिप्लेसमेंट टीम, जिसमें डॉ संतोष कुमार के नेतृत्व में प्रतिष्ठित ऑर्थोपेडिक सर्जन, डॉ देवाशीष सारंगी, डॉ विवेक डेविड, डॉ दीप चक्रवर्ती और डॉ विवेकानंद कुमार शामिल हैं, शानदार काम कर रहे हैं।
क्या है क्यूविस जॉइंट रोबोटिक सिस्टम
दुनिया में अपनी तरह का पहला है क्योंकि यह सर्जरी के सभी चरणों को स्वचालित रूप से करता है जबकि सर्जन रोबोट को हाथ से पकड़े हुए रिमोट से नियंत्रित करता है। इसमें एक सक्रिय स्वचालित रोबोटिक भुजा है जो प्री-प्लानिंग, सिमुलेशन, आकार और ओरियेंटेशन, प्री-ऑपरेटिव डिटर्मिनेशन की अनुमति देता है और फिर क्यूविस पूरी तरह से शून्य त्रुटि के साथ योजना के अनुसार हड्डी के प्रिपरेशन को निष्पादित करता है। डॉ कुमार ने बताया कि कैसे क्यूविस एक्टिव रोबोटिक सिस्टम पैसिव रोबोटिक सर्जरी से बेहतर है। क्यूविस पूरी तरह से स्वचालित और सक्रिय रोबोट है।
इसकी खासियत
1. यह प्री-ऑपरेटिव प्लानिंग, विभिन्न स्थितियों के अनुकरण, प्री-एम्प्टिव साइज और प्रत्यारोपण की स्थिति निर्धारण द्वारा पूरी तैयारी करता है। सर्जन वास्तविक सर्जरी से पहले घुटने का संतुलन देख सकता है।
2. यह उच्चतम स्तर की सुरक्षा सुनिश्चित करता है। यह हड्डी की गति की वास्तविक समय की निगरानी की अनुमति देता है और वास्तविक समय प्रतिक्रिया उत्पन्न करता है। ये सुरक्षा उपाय अन्य घुटने के प्रतिस्थापन सर्जरी में उपलब्ध नहीं हैं, जिसमें निष्क्रिय रोबोट द्वारा सर्जरी भी शामिल है।
3. क्यूविस जॉइंट रोबोटिक सिस्टम अपने वास्तविक समय की निगरानी और प्रतिक्रिया तंत्र द्वारा शून्य मानव और मैनुअल त्रुटियों को सुनिश्चित करता है।
4. यह मिलीमीटर के 1-10वें हिस्से तक उप-मिलीमीटर सटीकता सुनिश्चित करता है। मनुष्य की आंखें एक मिलीमीटर से अधिक निकट के दो बिन्दुओं में भेद नहीं कर सकतीं।
5. सक्रिय रोबोटिक नी रिप्लेसमेंट में इम्प्लांट्स को इस तरह से संरेखित किया जाता है कि भार वहन करने वाली धुरी बहाल हो जाती है और कूल्हे, घुटने और टखने सभी एक पंक्ति में आ जाते हैं। यह उपलब्धि कहीं और हासिल नहीं की जा सकती।

शेयर करें

मुख्य समाचार

एसएससी मामले में गिरफ्तार सुबीरेश भट्टचार्य को 10 दिनों की जेल हिरासत

अदालत ने सीबीआई के जांच अधिकारी की लगायी क्लास जज ने पूछा- क्यों चाहिए सीबीआई हिरासत वजह बताईए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को एसएससी मामले में गिरफ्तार आगे पढ़ें »

विदेश में नौकरी देने के नाम पर अपहरण मामले में और 7 गिरफ्तार

अभियुक्तों में मकान मालिक और दो दिल्ली के एजेंट भी शामिल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : विदेश में नौकरी देने के नाम पर अपहरण मामले में और सात आगे पढ़ें »

ऊपर