अब अनुव्रत मंडल के कई राज खोलेगा उनका दोनों मोबाइल

आसनसोल : सीबीआई की टीम पशु तस्करी मामले में गिरफ्तार अनुव्रत मंडल के दो मोबाइलों को फॉरेंसिक जांच के लिए लैब भेजेगी। इस संंबध में सीबीआई को विशेष अदालत से अनुमति मिल गयी है। अदालत से अनुमति मिलने के बाद सीबीआई उसे हैदराबाद स्थित सेंट्रल फॉरेंसिक साइंस लैब (सीएफएसएल) में भेजने की तैयारी पूरी कर ली है। हालांकि अनुव्रत मंडल के तरफ से कोर्ट को बताया गया था कि सीबीआई के अधिकारियों ने मोबाइल को जब्त कर अपने पास सात दिन रखा है और उसमें कुछ भी छेड़छाड़ कर सकते हैं। इसलिए उसका सीएफएसएल में जांच करवाना उचित नहीं है। अनुव्रत के वकील ने यह दी दलील अनुव्रत मंडल के अधिवक्ता अनिर्बान गुठाकुर ने अदालत को बताया कि सीबीआई ने बिना हैश वैल्यू एवं डिजिटल लॉक के मोबाइल को जब्त कर अपने पस रखा था और इसकी सूचना सात दिन बात अदालत को दी थी। उन्होंने संभावना व्यक्त करते हुए कहा कि हो सकता है कि उस मोबाइल से छेड़-छाड़ किया गया हो और उसका उपयोग अनुव्रत मंडल के खिलाफ किया जा सकता है। हालांकि सीबीआई के वकिल राकेश कुमार एवं इस मामले के जांच अधिकारी सुशांत भट्टाचार्य ने कहा कि जब्त दोनों मोबाइल निजाम पैलेस में सुरक्षित रखा गया है। दोनों मोबाइलों को अनुव्रत की मौजूदगी में जब्त किए गए थे। सीबीआई की विशेष अदालत ने अनुव्रत के पक्ष को नकारते हुए सीबीआई को दोनों मोबाइलों को सीएफएसएल में जांच करवाने की अनुमति दे दी है। सीबीआई का मानना है कि इन दोनों मोबाइल से कुछ महत्वपूर्ण जानकारी उन्हें हासिल हो सकता। उल्लेखनीय है कि सीबीआई आधिकारियों का मानना है कि इन दोनों मोबाइलों से काफी डेटा डिलिट किया गया है। वह डेटा जिसे डिलिट किया गया है वह क्या था। इसका खुलासा होना जरूरी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सिविक वॉलंटियर को पीटने वाले अभियुक्तों को पु​लिस की गाड़ी से उतार ले गये पार्षद !

पुलिस ने जारी किया पार्षद की गिरफ्तारी का वारंट अभियुक्त 2 टोटो ड्राइवरों को किया गया गिरफ्तार खड़दह : ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन कर अपनी मनमानी कर आगे पढ़ें »

एसएससी मामले में गिरफ्तार सुबीरेश भट्टचार्य को 10 दिनों की जेल हिरासत

अदालत ने सीबीआई के जांच अधिकारी की लगायी क्लास जज ने पूछा- क्यों चाहिए सीबीआई हिरासत वजह बताईए सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार को एसएससी मामले में गिरफ्तार आगे पढ़ें »

ऊपर