अनुब्रत लॉटरी मामले में हुआ नया खुलासा

अनुब्रत लॉटरी मामले में हुआ नया खुलासा
– नूर ने जीती थी लॉटरी, उससे छीनी गई थी टिकट
बीरभूम : पशु तस्करी के आरोप में जेल में बंद अनुब्रत मंडल की एक करोड़ की लॉटरी को लेकर लगातार कई नए खुलासे हो रहे हैं। सीबीआई के जांचकर्ताओं ने लॉटरी मामले में एक नए रहस्य से पर्दा उठाया है। जानकारी के अनुसार नानूर के बड़शिमुलिया गांव निवासी शेख नूर अली नाम के युवक को 1 करोड़ रुपये की लॉटरी की टिकट मिली थी जो बाद में अनुब्रत मंडल के नाम चढ़ गयी। यह खुलासा लॉटरी विजेता नूर अली के पिता कटाई शेख ने की। उन्होंने आरोप लगाया कि नूर अली से वह लॉटरी की टिकट जबरन छीन ली गई थी। साथ ही अनुब्रत के अनुयायियों ने उसे डरा-धमकाकर करीब सात दिनों तक गांव में प्रवेश नहीं करने दिया था। वहीं सीबीआई के अधिकारी इन आरोपों की बारीकी से जांच कर रहे हैं। इसके बाद भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी ने सबसे पहले ट्वीट कर एक बार फिर सत्ताधारी दल पर तंज कसा है। उन्होंने कहा कि डियर लॉटरी काले धन को सफेद करने का एक तरीका है। क्या अनुब्रत ने लॉटरी की टिकट खुद खरीदी थी या किसी दूसरे से छीनी गई थी। गौरतलब है कि सीबीआई के अधिकारी सभी जानकारियों की तलाश में बुधवार रात रतनपल्ली पहुंचे। गुरुवार को सुबह पहले सीबीआई बड़शिमुलिया निवासी नूर अली के घर गये। उल्लेखनीय है कि सीबीआई के अधिकारियों ने उसके घर से लॉटरी टिकट समेत कई दस्तावेज बरामद किये। नूर अली और उसके भाई को इस दिन करीब 11:00 बजे रतनपल्ली में अस्थायी सीबीआई शिविर में बुलाया गया था। सीबीआई अधिकारियों ने बैंक के सभी दस्तावेज अपने साथ ले जाने को कहा था। वे समय पर सीबीआई अधिकारियों के पास पहुंच गए। वहीं दूसरी तरफ नूर अली के पिता कटाई शेख ने कहा कि उनके बेटे ने एक करोड़ रुपये की लॉटरी जीती थी। स्थानीय तृणमूल के नेता ने उससे लॉटरी की टिकट छीन ली थी। लॉटरी टिकट के बदले उसे 5 से 6 लाख रुपये दिए गये थे। वहीं बाकी के रुपये बाद में देने को कहा गया। नूर अली और उसके पिता के बयान की सीबीआई जांच कर रही है। बता दें कि लॉटरी टिकट विक्रता बाप्पी गांगुली ने बताया कि अनुब्रत ने वह टिकट 83 लाख रुपये में खरीदी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

इस दिन हनुमान जी की आराधना करने से पाए सफलता, शांति, सुख, शक्ति और साहस

कोलकाता: केसरी और अंजना के पुत्र, हनुमान का जन्म मंगलवार को चैत्र के हिंदू महीने के दौरान पूर्णिमा के दिन हुआ था। भगवान हनुमान को आगे पढ़ें »

सर्दी के एहसास के लिए कुछ दिनों का और करना होगा इंतजार

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : नवम्बर महीना समाप्त होने वाला है, लेकिन कोलकाता में अब भी गर्मी परेशान कर रही है। अमूमन दिसम्बर महीने से ही कोलकाता आगे पढ़ें »

ऊपर