कोलकाता में नवंबर 2022 में तकरीबन 3,000 अपार्टमेंट का हुआ पंजीकरण

मधु सिंह
स्टांप शुल्क छूट की शुरुआत से पहले के 17 महीनों में केवल 44,736 इकाईयों का पंजीकरण देखा गया।

कोलकाता : रियल इस्टेट कंसल्टेंसी नाइट फ्रैंक ने नवंबर 2022 में कोलकाता मेट्रोपॉलिटन एरिया (केएमए) में 3,047 आवासीय बिक्री दस्तावेजों के पंजीकरण का उल्लेख किया, जो नवंबर 2021 की तुलना में 167% की सालाना वृद्धि है। यह उच्च वार्षिक वृद्धि पिछले साल नवंबर में सीमित संपत्ति पंजीकरण के कारण है क्योंकि एक साल पहले 31 अक्टूबर 2021 से आगे स्टैंप ड्यूटी छूट के बारे में जागरूकता की कमी थी। हालांकि, महीने-दर-महीने आधार पर, नवंबर 2022 के आंकड़े अक्टूबर 2022 की तुलना में 55% की गिरावट दर्शाते हैं, क्योंकि पंजीकरण की प्रतीक्षा कर रही अधिकांश संपत्तियों को 2022 के दौरान पहले ही कैप्चर कर लिया गया था और स्टांप शुल्क छूट फिर से अपनी समाप्ति के करीब है, जब तक कि 2023 में एक और विस्तार की घोषणा न हो।2022 में, कोलकाता के आवासीय बाजार को 2% स्टैंप ड्यूटी छूट का लाभ मिलता रहा, जिसे इस कैलेंडर वर्ष के दौरान तीन बार बढ़ाया गया था। जुलाई 2021 में प्रारंभिक स्टांप शुल्क कटौती की घोषणा के बाद से, इन 17 महीनों में शहर में 72,790 आवासीय संपत्तियां पंजीकृत की गई हैं। स्टांप शुल्क छूट की शुरुआत से पहले के 17 महीनों में केवल 44,736 इकाईयों का पंजीकरण देखा गया। नाइट फ्रैंक इंडिया के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक शिशिर बैजल ने कहा, ‘कोलकाता उन कुछ भारतीय शहरों में से एक है जहां घर खरीदारों को अभी भी स्टैंप ड्यूटी छूट का लाभ मिलता है। हालांकि इस साल के अंत तक विशेषाधिकार समाप्त होगा, हमें उम्मीद है कि राज्य सरकार एक और विस्तार पर विचार कर सकती है क्योंकि अब 2022 में कई रेपो दर संशोधनों के कारण घर खरीदारों की अफोर्डेबिलिटी प्रभावित हुई है।’ वहीं नाइट फ्रैंक इंडिया के सीनियर डायरेक्टर (ईस्ट) अभिजीत दास ने कहा,‘बंगाल में रियल इस्टेट की खपत को लगातार बढ़ाने के लिए सभी हितधारकों को ऐसी गतिविधियों को जारी रखने की जरूरत है जो बंगाल में विनिर्माण और सेवाओं में नए प्रत्यक्ष निवेश को आकर्षित करें, जो बदले में अतिरिक्त रोजगार और रियल इस्टेट की मांग पैदा कर सकें।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

वंदे भारत एक्सप्रेस पर हमला को लेकर पीआईएल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस पर हुए हमले को लेकर एक पीआईएल दायर की गई है। एडवोकेट रमाप्रसाद सरकार ने यह पीआईएल दायर की आगे पढ़ें »

प्लेटफॉर्म छोड़ 500 मीटर दूर जाकर रुकी लोकल ट्रेन

विधाननगर रेलवे स्टेशन की घटना सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : सोमवार की सुबह विधाननगर रेलवे स्टेशन पर लोकल ट्रेन प्लेटफॉर्म से 500 मीटर दूर जाकर रुकी। अचानक इस आगे पढ़ें »

ऊपर