गंगा के लिए वरदान है नमामि गंगे ! फिर भी कटाव है जटिल समस्या

गांवों का नदी में समा जाना बंगाल के 3 जिलों की बड़ी परेशानी
पत्र दे चुकी हैं सीएम, अब आमने-सामने पीएम को बताएंगी यह समस्या !
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : गंगा को स्वच्छ रखने से लेकर गंगा से संबंधित समस्याओं का निदान निकालने के लिए केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित नमामि गंगे योजना को गंगा के लिए वरदान माना जा रहा है। इसी याेजना के तहत कल कोलकाता में पीएम नरेंद्र मोदी राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक करेंगे। बैठक में राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शिरकत करेंगी, जहां राज्य में गंगा समेत बाकी की नदियों को लेकर जो समस्याएं हैं उन पर भी बात हो सकती है। सूत्रों की माने तो संबंधित विभाग को इसे लेकर जो भी समस्याएं हैं उसकी विस्तृत रिपोर्ट तैयार करने को कह दिया गया है। अंदेशा लगाया जा रहा है कि सीएम ममता बनर्जी और पीएम मोदी अलग से भी मिल सकते हैं जहां सीएम गंगा कटाव समेत बाकी समस्या पर संभवत: पीएम से बात कर सकती हैं।
नदी कटाव से प्रभावित मालदह, मुर्शिदाबाद और नदिया के गांव
राज्य में गंगा और पद्मा नदी में कटाव यहां की प्रमुख समस्या है जिसकी वजह से बंगाल के 3 जिले मालदह, मुर्शिदाबाद और नदिया बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि यहां नदी का स्तर अचानक इतना बढ़ जाता है कि लोगों को अपना घर-दुआर छोड़कर जाना पड़ता है। कई जगह तो गांव के गांव नदी में समा जा रहे हैं। यह एक गंभीर समस्या है इन तीनों जिलों के स्थानीय लोगों के लिए। इस समस्या की वजह से यहां के स्थानीय लोग आतंकित रहते हैं।
समाधान के लिए सीएम पहले ही दे चुकी हैं पत्र
नदी कटाव की समस्या के समाधान के लिए सीएम ममता बनर्जी ने पिछले महीने ही पीएम मोदी को पत्र लिखा था। सीएम ने वहां अपील की थी कि केंद्रीय जलशक्ति विभाग की ओर से इस समस्या का निपटारा किया जाए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैं कोलकाता में ही हूं, ईडी कार्यालय में फोन कर कहा ​अभियुक्त गोपाल दलपति ने

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मैं कोलकाता में हूं, मैं ईडी के समक्ष पेश होना चाहता हूं। एसएससी मामले के अभियुक्त गोपाल दलपति ने ईडी कार्यालय में आगे पढ़ें »

वंदे भारत एक्सप्रेस पर हमला को लेकर पीआईएल

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : वंदे भारत एक्सप्रेस पर हुए हमले को लेकर एक पीआईएल दायर की गई है। एडवोकेट रमाप्रसाद सरकार ने यह पीआईएल दायर की आगे पढ़ें »

ऊपर