गार्डनरिच के व्यवसायी के घर से नोटों का पहाड़ जब्त, अब तक 18 करोड़ मिले

मोबाइल गेमिंग ऐप धोखाधड़ी का मामला
बड़े-बड़े ट्रंक, बेड व गद्दे के नीचे से बरामद हुए करोड़ों रुपये
ईडी को प्रभावशाली लोगों के शामिल होने के लिंक मिले
गार्डनरिच, मोमिनपुर तथा पार्क स्ट्रीट तथा न्यूटाउन सहित 6 ठिकानों पर छापामारी
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : ईडी, कोलकाता की टीम को शनिवार को एक और बड़ी कामयाबी मिली है। ईडी की टीम ने फर्जी मोबाइल गेमिंग ऐप के प्रमोटरों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 18 करोड़ रुपयों से अधिक की नकदी जब्त की है। जांच एजेंसी की ओर से एक तस्वीर भी जारी की गयी, इसमें 500 और 2000 हजार तथा 200 रुपये के नोटों के बंडल एक बिस्तर पर बिछाये हुए दिखाई दिये। अब तक का कोलकाता से सबसे अधिक संख्या में बरामद होने वाला यह दूसरा कैश है। इससे पहले पार्थ चटर्जी की सहयोगी के आवास से 50 करोड़ रुपये की राशि जब्त की गयी थी। इन प्रमोटरों के 6 ठिकानों पर ईडी की टीम ने गेमिंग ऐप ‘ई-नॉगेट्स’ और इसके प्रोमोटर निसार अली खान व उसके बेटे आमिर खान के आवास पर शनिवार की सुबह रेड मारी जो देर रात तक जारी रही। ईडी ने ये कार्रवाई धन शोधन निवारण अधिनियम यानी पीएमएलए के तहत की है।
इन स्थानों पर मारी गयी रेड
पहली टीम गार्डनरिच में शाही अस्तबल लेन के व्यवसायी निसार अली के घर गयी। यहां जब टीम पहुंची तो उनके परिजन अधिकारियों को देखकर भौंचक्के रह गये। इसके बाद तलाशी अभियान शुरू किया गया। उनके बेड के नीचे से रुपयों का पहाड़ मिला। इसके बाद बैंक से अधिकारियों और नोट गिनने वाली मशीन को लाना पड़ा। इसके बाद देखा गया कि घर में बड़े – बड़े ट्रंक हैं। पूछने पर परिजनों ने बताया कि इसमें अनाज है लेकिन जब इसे खोला गया तो यहां से ये नोट निकाले गये। वहीं एक अन्य टीम ने पार्क स्ट्रीट थाना क्षेत्र के 34 मैकलॉड स्ट्रीट में एक वकील के आवास पर छापामारी की। वहीं खिदिरपुर के मयूरभंज इलाके तथा न्यूटाउन स्थित इनके ठिकानों पर भी टीम ने छापेमारी की।
पार्क स्ट्रीट पुलिस थाने में दर्ज की गई थी शिकायत
केंद्रीय एजेंसी ने बयान जारी कर बताया कि गेमिंग ऐप ‘ई-नॉगेट्स’ और इसके प्रोमोटर आमिर खान के आधा दर्जन से ठिकानों पर ईडी ने छापेमारी की। बरामद की गयी नकदी की गिनती देर रात तक जारी थी। कोलकाता पुलिस ने फरवरी 2021 में कंपनी और उसके प्रमोटरों के खिलाफ एक प्राथमिकी दर्ज की थी, और इसी से धन शोधन का मामला सामने आया है। ईडी ने कहा कि यह प्राथमिकी कोलकाता की एक अदालत में फेडरल बैंक के अधिकारियों की ओर से दायर एक शिकायत के आधार पर पार्क स्ट्रीट पुलिस थाने में दर्ज की गई थी। जांच एजेंसी ने आरोप लगाया कि निसार खान के बेटे आमिर खान ने गेमिंग एप ई-नॉगेट्स की शुरुआत की है, यह गेम लोगों के साथ धोखाधड़ी करने के इरादे से डिजाइन किया गया है। एजेंसी ने कहा कि शुरुआती दौर में इस्तेमालकर्ताओं को एक कमीशन दिया जाता था और वॉलेट में मौजूद राशि को बिना किसी दिक्कत के निकाला जा सकता था।
ऐसे धोखा खा जाते थे लोग
इससे यूजर्स का भरोसा इसमें जम गया और उन्होंने अधिक कमीशन बनाने तथा बड़ी तादाद में खरीदारी के लिये और अधिक निवेश करना शुरू किया। ईडी ने कहा कि जनता से ठीक ठाक राशि एकत्र कर लेने के बाद इस ऐप से इसकी निकासी को सिस्टम अपग्रेडेशन अथवा कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा जांच का बहाना बना कर अचानक इसे रोक दिया जाता था। बाद में, प्रोफाइल जानकारी सहित सभी डेटा को ऐप सर्वर से मिटा दिया जाता था। ईडी ने कहा कि तब उपयोगकर्ताओं को इसकी चाल समझ में आई। एजेंसी इस बात की जांच कर रही है कि इस ऐप और इसके प्रोमोटरों का संपर्क कहीं चीन के नियंत्रण वाले ऐप से तो नहीं है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आज जिलों में पूजा कार्निवल, कल कोलकाता में

जलपाईगुड़ी में नहीं होगा कार्निवल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : आज शुक्रवार को विभिन्न जिलों में पूजा कार्निवल होगा। कल शनिवार 8 अक्टूबर काे कोलकाता रेड रोड पर आगे पढ़ें »

नम आंखों से मां को दी गयी विदायी, घाटों पर उमड़ी भीड़

विसर्जन की व्यवस्था देखने बाबूघाट पहुंचे मेयर अगरे साल से कुली कराएंगे प्रतिमाओं का विसर्जन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : चार दिनों की रौनक के बाद दशमी से मां आगे पढ़ें »

ऊपर