मध्यमग्राम के अस्पताल में ‘रोबोट नर्स’ का मंत्री ने किया उद्घाटन

मध्यमग्राम: मध्यमग्राम स्थित एक​ निजी अस्पताल में राज्य के खाद्य मंत्री रथिन घोष ने एक नयी तकनीक यानी रोबोट नर्स का उद्घाटन किया। बीना मरीज के काफी करीब गये ही यह नर्स कोरोना अन्य संक्रमित मरीजों को इंजेक्शन व दवाएं देगी। देखा गया था कि कोरोना वायरस के अचानक हमले के कारण अस्पताल में अफरा-तफरी की ​स्थिति उत्पन्न हो गयी थी और संक्रमित मरीजों को बिना संक्रमित हुए ही सेवा पहुंचाने की भी बड़ी समस्याएं सामने आयी, इस काम के लिए नर्सों को पीपीई किट पहननी पड़ती है अतः एक तरीके से 5 फीट लंबा यह रोबोट इस परेशानी का हल बन सकता है। बताया गया है कि यह रोबोट संक्रमित मरीज के पास जाए बिना उसे इंजेक्शन समेत तमाम सेवाएं मुहैया करा सकता है। यह रोबोटिक नर्स शरीर से रक्त एकत्र कर खुद प्रयोगशाला में भी भेजेगी। अस्पताल के अधिकारियों का दावा है कि अगले एक साल के भीतर यह रोबोट पूरी तरह काम करने लगेगा। मरीज का बुखार नापने से लेकर समय पर दवा देने तक यह रोबोट सबकुछ करेगा। मंत्री रथिन घोष ने कहा, फिलहाल इस रोबोट का इस्तेमाल कुछ सेवाओं में किया जा रहा है, लेकिन बाद में इस अस्पताल में रोबोटिक सर्जरी शुरू करने की योजना है। मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी निजी अस्पतालों को अभिनव सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित किया है लेकिन अगर रोबोट लॉन्च हो गया तो क्या लोगों की नौकरियां चली जाएंगी? इस पर मंत्री ने दावा किया कि कुछ क्षेत्र ऐसे हैं जहां इंसानों का काम करना संभव नहीं है, वहां रोबोट का इस्तेमाल किया जाएगा। अस्पताल के अधिकारियों का दावा है कि उनकी इस रोबोट को कई सेवाओं में जोड़ने की योजना है हालांकि, अस्पताल के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें रोबोट बनाने वाली कंपनी से बात करके आगे बढ़ना चाहिए।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रेडियो के जरिए लोगों को साइबर क्राइम के प्रति जागरूक कर रही है कोलकाता पुलिस

अगले दो महीने तक रेडियो पर चलेगा विज्ञापन सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता पुलिस के साइबर सेल की ओर से महानगर में विभिन्न तरह के साइबर क्राइम आगे पढ़ें »

इन 5 मौकों पर घर में कभी नहीं बनानी चाहिए रोटी, टूट पड़ता है दुखों का पहाड़

कोलकाता : आपने एकादशी पर अक्षत यानी चावल न बनाने के शास्त्रीय नियमों के बारे में तो सुना ही होगा। लेकिन क्या आपको पता है आगे पढ़ें »

ऊपर