कोलकाता व हावड़ा में ड्रोन डिलीवरी से पहुंचायी जाएगी दवा व लैब सैंपल्स

Fallback Image

अब समय पर पहुंचेगा सामान, नहीं रहेगी ट्रैफिक की चिंता
सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : विदेशों में डिलीवरी के लिए ड्रोन परिसेवाओं की शुरुआत हो चुकी है। यह अब कोलकाता व हावड़ा में भी हो रही है। इसके लिए एक सप्ताह पहले ट्रायल भी किया गया था। दिल्ली की एक एजेंसी ने हावड़ा के कदमतला से साल्टलेक के सेक्टर 5 के लिए एक ड्रोन भेजा था। कार्गो ड्रोन का बॉक्स पैथोलॉजिकल लैब द्वारा एकत्र किए गए नमूनों से भरा हुआ था। कार्गो ड्रोन ने महज 15 मिनट में उस रास्ते को पार कर लिया। अब कोलकाता की ट्रैफिक जाम के बीच ड्रोन सेवा से जरूरी समानों को पहुंचाया जा सकेगा। इस कदम ने डिलीवरी के क्षेत्र में क्रांति लाने का मार्ग प्रशस्त किया है।ई-कॉमर्स साइटों पर उपलब्ध सामान और कूरियर कंपनियों द्वारा संभाले जाने वाले पैकेज से लेकर रेस्तरां से ऑर्डर किए गए व्यंजन और यहां तक ​​कि डायग्नोस्टिक प्रयोगशालाओं द्वारा विश्लेषण किए गए पैथोलॉजिकल सैंपल तक अब समय पर पहुंच पाएगा। मंगलवार से हावड़ा के कदमतला के बीच साल्ट लेक सेक्टर V में एक डायग्नोस्टिक लैब के लिए प्रतिदिन दो ड्रोन उड़ानें उड़ रही हैं, जो ब्लड और यूरीन के नमूनों को पहुंचा रही हैं। आमतौर पर कदमतला से सेक्टर 5 तक की 25 किमी की यात्रा करने में लगभग डेढ़ घंटे का समय लगता है, ड्रोन 12 किमी की हवाई दूरी 15 मिनट के अंदर कर लेता है। इससे अब रिपोर्ट भी 10 घंटे के बजाय 6 घंटे में मिलने लगा है। इसके लिए कोलकाता एयर ट्रैफिक कंट्रोलर की ओर से एक ड्रोन सेवा प्रदाता कंपनी को अनुमति मिल गयी है। इसे 390 फीट उड़ाने की अनुमति मिली है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Loksabha Elections : 21 राज्यों की 102 सीटों पर 63% वोटिंग

नई दिल्ली : लोकसभा के फर्स्ट फेज में 21 राज्यों-केंद्र शासित प्रदेशों की 102 सीटों पर वोटिंग पूरी हुई है। सुबह 7 बजे से शाम आगे पढ़ें »

चीन की उड़ी नींद! भारत ने फिलीपींस को भेजा ब्रह्मोस क्रूज मिसाइल

नई दिल्ली: भारत ने फिलीपींस को शक्तिशाली ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल की पहली खेप भेज दी है। डिफेंस एक्सपोर्ट में भारत ने ये बड़ा कदम आगे पढ़ें »

ऊपर