कई स्कूल​ सब इंस्पेक्टर अब आये सीबीआई के स्कैनर में

अन्य जिलों के ऐसे ही शिक्षा प्रभारियों की सूची बनाई जाएगी

सन्मार्ग संवाददाता
कोलकाता : एसएससी मामले में दिन प्रतिदिन नये-नये खुलासे हो रहे हैं। सीबीआई की टीम की नजर अब राज्य के 15 ऐसे स्कूल शिक्षा इंस्पेक्टरों पर है जो इस मामले में मध्यस्थ की भूमिका निभा चुके हैं। इन सभी को आगामी 21 नवंबर को निजाम पैलेस स्थित केंद्रीय एजेंसी के भ्रष्टाचार निरोधी शाखा में तलब किया गया है। इससे पहले मुर्शिदाबाद जिले के 15 सब इंस्पेक्टरों को तलब किया गया है। प्रत्येक सब इंस्पेक्टर जिले में एक ब्लॉक का प्रभारी रहा है। नियत समय में अन्य जिलों में ब्लॉक के प्रभारी सब इंस्पेक्टर को भी केंद्रीय एजेंसी द्वारा समय-समय पर बुलाया जाएगा। उल्लेखनीय है कि हाल ही में कलकत्ता हाई कोर्ट के न्यायाधीश न्यायमूर्ति अभिजीत गांगुली की एकल पीठ ने 2006 बैच के आईपीएस)अधिकारी और वर्तमान में चंडीगढ़ में सीबीआई के उपनिरीक्षक अश्विनी सिंघवी को सीबीआई की नई एसआईटी का प्रमुख बनाया है। इसके बाद जांच की गति और तेज हो रही है। सूत्रों की माने तो राजनेताओं और राज्य शिक्षा विभाग के विभिन्न संबद्ध निकायों के अधिकारी को तलब किया जा सकता है। सीबीआई का मानना है कि निश्चित रूप से इतने बड़े पैमाने पर घोटाला कभी भी संभव नहीं हो सकता था जब तक कि सिस्टम में निचले स्तर के कर्मचारियों की कुछ भागीदारी न हो। हाल ही में निचले स्तर पर भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए अब सब इंस्पेक्टर स्तर के कर्मियों को तलब करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गयी है। इसके लिए ब्लॉक स्तर पर ऐसे लोगों की सूची बनाई गई थी जिन्हें गैरकानूनी तरीके से शिक्षक की नौकरी देकर उनसे रुपये की वसूली की जा सकती है। इसके बाद अन्य जिलों के ऐसे ही शिक्षा प्रभारियों की सूची बनाई जाएगी और उनसे भी पूछताछ होगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शाम के वक्त ये 5 काम करने वाले लोग हो जाते हैं कंगाल

नई दिल्ली : घर-परिवार के समग्र विकास के लिए वास्तु के सिद्धांतों का पालन करना बहुत जरूरी बताया गया है। घर के निर्माण या रखरखाव आगे पढ़ें »

पंचायत चुनाव : गांवों की सड़कों को किया जाएगा सपाट

राज्य सरकार ने जारी किया 714 करोड़ 50 लाख रुपया केंद्र ने हाल ही में दिया है 584 करोड़ का फंड सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : राज्य में पंचायत आगे पढ़ें »

ऊपर